Chronic Fatigue Syndrome in Hindi: क्रोनिक थकान सिंड्रोम क्या हैं ?

Chronic Fatigue Syndrome symptoms treatment in Hindi

क्या आप लगातार थकान महसूस करते हैं, जो आराम से भी कम नहीं होती? क्या आसान काम भी करने में आपको तकलीफ हो रही हैं? अगर हां, तो हो सकता है आप क्रोनिक थकान सिंड्रोम से जूझ रहे हों। क्रोनिक थकान सिंड्रोम को मेडिकल भाषा में Chronic Fatigue Syndrome या CFS भी कहा जाता हैं।

कुछ विशेषज्ञ CFS को Myalgic Encephalomyelitis (ME) या Systemic Intolerance Exertion Disease (SIED) भी कहते हैं। यह एक जटिल रोग है जिसका निदान करना मुश्किल होता हैं।

क्या है CFS?

CFS एक ऐसा रोग है, जिसमे पीड़ित को बेहद ज्यादा थकान और कमजोरी महसूस होती है जो आराम करने से भी दूर नहीं होती हैं। वैज्ञानिक इस रोग को अभी तक ठीक से समझ नहीं पाए हैं। इस रोग का कोई ठोस कारण का अभी तक पता नहीं चला हैं।

उपयोगी जानकारी: क्यों खड़े होकर ज्यादा कैलोरी जलती हैं?

CFS के लक्षण क्या हैं ?

थकान और कमजोरी के अलावा CFS में निम्नलिखित लक्षण नजर आ सकते हैं:

  • मांसपेशियों में दर्द
  • गले में खराश
  • सिरदर्द
  • सोने में परेशानी या सोने के बाद भी थकावट महसूस करना
  • कमजोरी
  • स्मृति और एकाग्रता में समस्याएं
  • लिम्फ नोड्स में सूजन

क्या आप जानते हैं: नाभि में तेल लगाने के अद्भुत आयुर्वेदिक फायदे

CFS का कारण क्या है?

CFS का कोई ठोस कारण अभी तक पता नहीं चला हैं, लेकिन माना जाता है कि यह वायरल संक्रमण, आनुवांशिक कारक, तनाव या हार्मोनल असंतुलन से ट्रिगर होता है। यह संक्रामक नहीं है इसलिए एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति को नहीं होता हैं।

CFS का निदान कैसे किया जाता है?

CFS का निदान करने के लिए कोई विशेष जांच नहीं की जाती हैं। अक्सर इस रोग में, रोगी की सभी जांच के रिपोर्ट सामान्य ही आते हैं। डॉक्टर रोगी के लक्षण और तकलीफ के अनुसार निचे दी हुई जांच कर सकते हैं।

  1. CBC
  2. CRP
  3. SGPT
  4. URINE Routine
  5. RA FACTOR
  6. ESR
  7. VIT B12

रोगी में थकान और कमजोरी के अन्य कोई कारण नहीं होने पर और जांच सामान्य आने पर रोगी में Chronic Fatigue Syndrome का निदान किया जाता हैं।

CFS का इलाज क्या है?

CFS का कोई विशेष इलाज नहीं है। रोगी के लक्षण के अनुसार रोगी में symptomatic treatment की जाती हैं। रोगी में थकान और कमजोरी दूर करने के लिए रोगी Vitamin Supplement और Protein powder दिया जाता हैं। इसके आलावा उपचार के अन्य विकल्पों में शामिल हैं:

  • जीवनशैली में बदलाव: जैसे कि नियमित व्यायाम, तनाव प्रबंधन और स्वस्थ आहार.
  • दवाएं: जैसे दर्द और थकान के लिए दवाएं.
  • कैफीन: रोगी को कैफीन का सेवन कम करना चाहिए।
  • नींद: रोगी को समय पर और पर्याप्त नींद लेना जरुरी होता हैं।
  • योग: अनुलोम विलोम प्राणायाम, सूर्यनमस्कार, वज्रासन, भुजंगासन और ताड़ासन जैसे योग से लाभ मिलता हैं। योग का समय अभ्यास के साथ बढ़ाना चाहिए।

Chronic Fatigue Syndrome से जुड़े सवालों के जवाब

क्या CFS ठीक हो सकता है?

CFS का कोई विशेष इलाज नहीं है। विशेषज्ञों के अनुसार 5% CFS के मामलों रोग अपनेआप ठीक हो जाता है। जीवनशैली और आहार में बदलाव, दवा और व्यायाम का नियमित अभ्यास करने से काफी रोगियों में लक्षणों में कमी आती हैं।

क्या मुझे CFS है?

अगर आपको छह महीने से अधिक समय से गंभीर और लगातार थकान है जो आराम से कम नहीं होती है और आपको CFS के अन्य लक्षण भी हैं, तो आपको डॉक्टर से परामर्श लेना चाहिए।

मेरा डॉक्टर CFS का निदान कैसे करेगा?

डॉक्टर आपके लक्षणों का मूल्यांकन करेंगे और रक्त परीक्षण और इमेजिंग जांच कर थकान आने के अन्य कारणों की जांच करेंगे। अगर सभी रिपोर्ट सामान्य है और आपके लक्षणों में कमी नहीं आती है तो CFS का निदान किया जाता हैं।

क्या CFS में स्टेरॉयड दवा लेना चाहिए?

CFS में कोई भी दवा अपने डॉक्टर के सलाह से ही लेना चाहिए। CFS में स्टेरॉयड दवा लेने से कुछ समय तक तो आपको राहत मिलती है पर दवा बंद करने पर तकलीफ ज्यादा बढ़ जाती हैं। अगली बार आपको स्टेरॉयड दवा का डबल डोज लेना पड़ता हैं। स्टेरॉयड दवा के दुष्परिणाम भी ज्यादा हैं।

जरूर पढ़े: झुर्रियां दूर करने के घरेलु आयुर्वेदिक उपचार

Chronic Fatigue Syndrome यह एक जटिल रोग है और इसलिए अगर आपको इसके लक्षण नजर आते है तो तुरंत अपने डॉक्टर का परामर्श लेना चाहिए। अगर आपको Chronic Fatigue Syndrome से जुड़ा कोई सवाल है तो कृपया निचे कमेंट में जरूर लिखे।

Follow my blog with Bloglovin
5/5 - (1 vote)

Leave a comment

लिव 52 दवा के 5 गजब के फायदे हाई ब्लड प्रेशर के लिए 7 बेस्ट योग रोजाना 1 मिनिट भुजंगासन करने से क्या होता हैं ? वृक्षासन योग: आसन एक, फायदे अनेक ! योग निद्रा के फायदे