वज्रासन योग की विधि और फायदे | Vajrasana in Hindi

Vajrasana steps benefits in Hindi

वज्र का मतलब होता हैं कठोर (Solid) अथवा मजबूत । इस आसन को करने से हमारे पैर, ख़ास कर जांघ (Thigh) का हिस्सा मजबूत और शरीर स्थिर होने के कारण इस आसन को “वज्रासन” (Vajrasana) और अंग्रेजी मे Thunderbolt pose कहा जाता हैं। इस आसान को दिन में कभी भी कर सकते हैं। यह अकेला आसन है जो खाने के तुरंत बाद कर सकते हैं।

आजकल पाचन से जुडी समस्या जैसे गैस, पेट फूलना, कब्ज, पेट दर्द और पेट में सूजन का प्रमाण बढ़ गया हैं। इन सभी पाचन की समस्याओ से हम योग की मदद से आसानी छुटकारा प्राप्त कर सकते हैं। ऐसे ही एक बेहद सरल और उपयोगी योग “वज्रासन” की जानकारी आज इस लेख में दी गयी हैं।

वज्रासन योग की विधि, लाभ और सावधानी से जुडी जानकारी नीचे दी गयी हैं :

वज्रासन करने की विधि क्या हैं? (Vajrasana steps in Hindi)

वज्रासन करने की विधि इस प्रकार है :

  • भोजन करने के 5 मिनिट बाद एक समान, सपाट और स्वच्छ जगह पर कम्बल या अन्य कोई आसन बिछाए। 
  • दोनों पैर सामने की तरफ फैलाकर बैठ जाए। 
  • इसके बाद बाए (Right) पैर का घुटने को मोड़कर इस तरह बैठे के पैरो के पंजे पीछे और ऊपर की और हो जाए।
  • अब दाए (Left) पैर का घुटना भी मोड़कर  इस तरह बैठे के पैरो के पंजे पीछे और ऊपर की और हो जाए और नितम्ब (Hips) दोनों एडीओ (Ankle) के बीच आ जाए। 
  • दोनों पैर के अंगूठे (Great Toe) एक दूसरे से मिलाकर रखे। 
  • दोनों एड़ियो में अंतर बनाकर रखे। 
  • शरीर को सीधा रखे। 
  • अपने दोनों हाथो को घुटने पर रखे। 
  • धीरे-धीरे शरीर को ढीला छोड़े। 
  • आँखे बंद कर रखे। 
  • धीरे-धीरे लम्बी गहरी साँसे ले और छोड़े। 
  • इस आसन को आप जब तक आरामदायक महसूस करे तब तक कर सकते हैं।
  • शुरुआत में केवल 2 से 5 मिनिट तक ही करे। 

क्या आप जानते हैं: Yoga और Pranayama के लाभ

वज्रासन करते समय क्या सावधानी बरते ? (Vajrasana precaution in Hindi)

वज्रासन करते समय निम्नलिखित सावधानी बरते:

  1. जोड़ो में दर्द से पीड़ित व्यक्ति वज्रासन न करे। 
  2. एड़ी के रोग से पीड़ित व्यक्ति वज्रासन न करे। 
  3. अगर वज्रासन करने पर आपको कमर दर्द, कमजोरी या चक्कर आने जैसे कोई समस्या हो तो आसन बंद कर अपने डॉक्टर की सलाह जरूर ले। 
  4. वज्रासन खाली पेट या भोजन के तुरंत बाद नहीं करना चाहिए।

उपयोगी जानकारी: हड्डियां मजबूत करेंगे यह 7 योग

वज्रासन के फायदे (Vajrasana benefits in Hindi)

वज्रासन का नियमित अभ्यास करने से निम्नलिखित फायदे होते है:

  1. सुडौल शरीर : शरीर को सुडौल बनाए रखता हैं। 
  2. मोटापा : वजन कम करने में मददगार हैं। 
  3. मासिक धर्म : महिलाओ में मासिक धर्म की अनियमितता दूर होती हैं।  
  4. मेरुदंड : रीढ़ की हड्डी मजबूत होती हैं। 
  5. मानसिक : मन की चंचलता को दूर कर एकाग्रता बढ़ाता हैं। 
  6. पाचन : अपचन, गैस, कब्ज इत्यादि विकारो को दूर करता हैं। पाचन शक्ति बढ़ाता हैं। 
  7. प्रजनन : यह प्रजनन प्रणाली को सशक्त बनाता हैं। 
  8. Sciatica : Sciatica से पीड़ित व्यक्तिओ में लाभकर हैं। 
  9. गठिया : इस आसन को नियमित करने से घुटनो में दर्द, Varicose veins, गठिया होने से बचा जा सकता हैं। 
  10. मांसपेशी : पैरो के मांसपेशियों से जुडी समस्याओ में यह आसन मददगार हैं। 
  11. फेफड़े : इस आसान में धीरे-धीरे लम्बी गहरी साँसे लेने से फेफड़े मजबूत होते हैं। 
  12. चर्बी : वज्रासन से नितम्ब (Hips), कमर (Waist) और जांघ (Thigh) पर जमी हुई अनचाही चर्बी (Fats) कम हो जाती हैं। 
  13. ब्लड प्रेशर : उच्च रक्तचाप कम होता हैं।  

फेशियल योगा : चेहरे को हमेशा जवां और खूबसूरत रखे !

वज्रासन से जुड़े सवालों के जवाब (Vajrasana FAQ in Hindi)

खाना खाने के कितने देर बाद वज्रासन मे बैठे ?

आप खाना खाने के 15 से 20 मिनिट बाद वज्रासन मे बैठ सकते है । इस आसन को आप यथा शक्ति आराम दायक महसूस करे टब तक कर सकते हैं । अगर घटने मे दर्द हो रहा हो तो जबरदस्ती अधिक समय न करे ।

क्या गर्भवती महिला वज्रासन कर सकते है ?

गर्भवती महिला अपने डॉक्टर की सलाह लेकर गर्भावस्था के शुरुआती 6 से 7 महीने वज्रासन कर सकती है । गर्भवती महिलाये और मोटापे से पीड़ित व्यक्ति वज्रासन करते समय दोनों घुटनों मे थोड़ा अंतर रखे जिससे पेट और मेरुदंड पर कोई अतिरिक्त दबाव नहीं आता है ।

वज्रासन कब और क्यों किया जाता है?

वज्रासन योग किसी भी समय किया जा सकता हैं, लेकिन यह विशेष रूप से भोजन के बाद करने के लिए उपयुक्त है। वज्रासन से पाचन बेहतर होता हैं और खाना खाने के बाद वज्रासन करने से अपचन की समस्या नहीं होती हैं। वज्रसान के और भी कई फायदे है जिनकी जानकारी लेख मे ऊपर विस्तार मे दी गयी हैं।

वज्रासन कब नहीं करना चाहिए?

गर्भावस्था, घुटने मे चोट, कूल्हे की चोट, हाई ब्लड प्रेशर, हृदय रोगी या अन्य कोई स्वास्थ्य समस्या होने पर अपने डॉक्टर की राय लेकर ही वज्रासन करना चाहिए।

वज्रासन दिन में कितनी बार करना चाहिए?

वज्रासन एक सुरक्षित और आसान मुद्रा है जिसे दिन में कई बार किया जा सकता है। हालांकि, शुरुआत में इसे दिन में एक बार ही करना उचित है। जैसे-जैसे आप अधिक अभ्यास करते हैं, आप इसे दिन में दो या तीन बार कर सकते हैं। खाना खाने के तुरंत बाद आप वज्रासन मे 10 से 15 मिनिट तक यथाशक्ति बैठ सकते हैं। शुरुआत मे 1 मिनिट तक बैठने का प्रयास करे और अभ्यास के सात समय बढ़ाए।

क्या वज्रासन से पेट कम होता है?

हाँ, वज्रासन से मोटापा और पेट कम होने मे मदद मिलती हैं। वज्रासन करने से पाचन में सुधार होता है। यह पेट के दर्द और कब्ज से राहत दिला सकता है। जब पेट ठीक से काम करता है, तो यह भोजन को बेहतर तरीके से पचाता है और अतिरिक्त वसा को कम करने में मदद करता है। वज्रासन करने से शरीर में रक्त का प्रवाह भी बेहतर होता है। यह चयापचय (Metabolism) को बढ़ावा देता है, जो वजन घटाने में मदद करता है।

खाना खाने के बाद कितनी देर तक वज्रासन करना चाहिए?

शुरुआत मे खाना खाने के बाद 5 से 10 मिनट तक वज्रासन करना उचित है। जैसे-जैसे आप अधिक अभ्यास करते हैं, आप इसे 15 से 20 मिनट तक कर सकते हैं।
यदि आपके घुटने या कूल्हे दर्द करते हैं, तो आप कम समय तक वज्रासन कर सकते हैं। यदि आपको कोई असुविधा महसूस होती है, तो तुरंत इस मुद्रा से बाहर निकलें।

क्या हम वज्रासन में बैठकर खाना खा सकते हैं?

नहीं ! वज्रासन एक स्थिर आसन है जिसमें शरीर को सीधा और संतुलन में रखना होता है। इस आसन में बैठकर खाना मुश्किल और असुविधाजनक हो सकता है। खाना खाने के लिए भारतीय परंपरा के अनुसार नीचे बैठकर पालथी मारकर बैठना अधिक उचित और फायदेमंद हैं।

अवश्य पढ़े – गुनगुने पानी के साथ निम्बू और शहद लेने के फायदे

ऐसे तो वज्रासन के कुछ अन्य प्रकार भी है परन्तु मैंने यहाँ पर सिर्फ सबसे सरल और उपयोगी वज्रासन का उल्लेख किया हैं। योग जरूर रोग दूर भगाता हैं परन्तु अचानक दवा बंद कर सिर्फ योग करना भी गलत हैं। नियमित योग करे और जैसे-जैसे आपके अपचन, कब्ज इत्यादि लक्षण कम होते हैं, अपने डॉक्टर से जांच कराए। डॉक्टर आपको दवा बंद करने की सलाह दे सकते हैं। 

जरूर पढ़े – पश्चिमोत्तानासन की विधि और फायदे 

अगर आपको वज्रासन योग की विधि और फायदे (Vajrasana in Hindi) यह लेख उपयोगी लगता है तो कृपया इस लेख को निचे दिए गए बटन दबाकर Whatsapp, Facebook या Tweeter  पर share करे !

5/5 - (1 vote)

10 thoughts on “वज्रासन योग की विधि और फायदे | Vajrasana in Hindi”

Leave a comment

गर्मी में न करे यह 5 योग, हो सकता है नुकसान गर्मी से तंग हैं? इन 5 योग से पाएं राहत ब्लड डोनेशन के फायदे जिनसे आप अनजान हैं ! आँखों से चश्मा हटाने के लिए करे योग Dexona दवा लेनेवाले हो जाए सावधान