शिवलिंग मुद्रा के फायदे और विधि | Shivling Mudra in Hindi

shivling hast mudra ke fayde

अगर आप अधिक तनाव या अवसाद से परेशान रहते है और आपका मन किसी भी कार्य में नहीं लग रहा है तो आप योग हस्त मुद्रा में शिवलिंग हस्त मुद्रा (Shivling Mudra) कर अपने तनाव को दूर भगा सकते हैं और ऊर्जावान महसूस कर सकते हैं। शिवलिंग मुद्रा को ऊर्जा दायक मुद्रा भी कहा जाता है।

योग हस्त मुद्रा यह Yoga की एक विशेष पद्धति है जिसमे हाथ को खास तरह से रखकर शरीर की प्राण ऊर्जा का उपयोग कर मनचाहा लाभ लिया जाता हैं। योग हस्त मुद्रा से शरीर को स्वस्थ और निरोगी रखा जा सकता है साथ ही शारिरिक और मानसिक विकारों को दूर किया जा सकता हैं।

शिवलिंग हस्त मुद्रा क्या है, इसे कैसे किया जाता है और इसके लाभ क्या है इसकी अधिक जानकारी निचे दी गयी हैं :

शिवलिंग हस्त मुद्रा क्या हैं ? (Shivling Mudra in Hindi)

अगर आप कभी भगवान शिव के मंदिर में गए है तो अपने वहा पर शिवलिंग अवश्य देखा होंगा। शिवलिंग हस्त मुद्रा में भी आपके हाथ का आकार शिवलिंग के समान ही होता हैं। शिवलिंग हस्त मुद्रा को अंग्रेजी में Upright Mudra कहा जाता हैं। जब भी आप तनाव या किसी बात से परेशान हो तो ऐसे में आप इस मुद्रा के अभ्यास से स्वयं को बहुत ही ऊर्जान्वित महसूस करेंगे इसके अलावा इस मुद्रा के अभ्यास से आरोग्य में भी वृद्धि होती है।

शिवलिंग हस्त मुद्रा कैसे किया जाता हैं ? (Steps of Shivling Mudra in Hindi)

1. सबसे पहले पद्मासन, वज्रासन या सुखासन में बैठ जाये।
2. अपने बाएं हाथ (Left Hand) को प्याले की आकृति जैसा बनाएं और नाभी के सामने रखे। सभी उंगलिया एक दूसरे से जुडी होनी चाहिए।
3. इसके बाद दाए हाथ (Right Hand) का मुक्का (Fist) बनाकर बाए हाथ के ऊपर रखें।
4. अंगूठा ऊपर उठा होना चाहिए।
5. अपने हाथों को पेट की सीध में रखते हुए इस मुद्रा का अभ्यास करें।
6. इस मुद्रा को आप अपनी इच्छा अनुसार कितनी भी देर कर सकते हैं।
7. दिन में 2 बार 4 मिनट के लिए इस मुद्रा का अभ्यास करना फायदेमंद है।

शिव लिंग हस्त मुद्रा के फायदे क्या हैं ? (Health Benefits of Shivling Mudra in Hindi)

1. इस मुद्रा को उर्जा संवर्धक मुद्रा माना जाता है।
2. ऐसे में थकान, असंतुष्टि या सुस्ती होने पर इस मुद्रा के अभ्यास द्वारा आप स्वयं को ऊर्जान्वित कर सकते हैं।
3. अवसाद की स्थिति से निबटने के लिए यह मुद्रा काफी प्रभावशाली है।
4. किसी भी प्रकार के मानसिक तनाव और दबाव की स्थिति में यह मुद्रा आपके लिए उपयोगी है।
5. इस मुद्रा से शरीर में Heat उत्पन्न होती है इसलिए ठण्ड के दिनों में यह मुद्रा अधिक उपयोगी हैं।
6. Weight loss करने में शिव लिंग हस्त मुद्रा उपयोगी हैं।

शिवलिंग हस्त मुद्रा दिखने में आसान और साधारण लगती है पर इसके लाभ अनेक हैं। अगर आपको एसिडिटी की समस्या अधिक रहती है तो यह शिवलिंग हस्त मुद्रा नहीं करनी चाहिए। इस मुद्रा का अभ्यास सुबह या शाम के समय ही करे। दिन में अधिक तापमान  रहने पर यह मुद्रा न करे। तनाव को दूर करने के लिए और सकारात्मक सोच को बढ़ाने के लिए शिवलिंग मुद्रा का अभ्यास अवश्य करे।

अगर आपको यह लेख उपयोगी लगता है तो कृपया इस लेख को निचे दिए गए बटन दबाकर अपने  Facebook, Whatsapp या Tweeter account पर share करे !

5/5 - (1 vote)

1 thought on “शिवलिंग मुद्रा के फायदे और विधि | Shivling Mudra in Hindi”

Leave a comment

लिव 52 दवा के 5 गजब के फायदे हाई ब्लड प्रेशर के लिए 7 बेस्ट योग रोजाना 1 मिनिट भुजंगासन करने से क्या होता हैं ? वृक्षासन योग: आसन एक, फायदे अनेक ! योग निद्रा के फायदे