सीबीसी टेस्ट क्या हैं | CBC Blood test in Hindi

cbc blood test hindi

CBC Blood test का full form है Complete Blood Count, यह एक विशेष खून जांच है जो की लगभग सभी बीमारी मे की जाती हैं। आपके शरीर मे खून की कमी (Anemia) है, संक्रमण (Infection) हैं, Blood Cancer है, Platelet की कमी है या आपको Bacteria या Virus का संक्रमण हुआ है जैसे अनेक चीजों का सीबीसी खून जांच से पता लगाया जा सकता हैं।

ईस लेख मे आप को यह जानकारी मिलेंगी hide

CBC Blood test यह केवल एक जांच नहीं हैं बल्कि इसमे अनेक तरह की जांच की जाती हैं। इस जांच में लाल रक्त कण (Red Blood Cells), सफेद रक्त कण (White Blood Cells), हीमोग्लोबिन (Hemoglobin), प्लेटलेट (Platelets), Polymorphs, Lymphocytes, Eosinophils, Monocytes और Basophils जैसे अनेक रक्त कण की जांच भी की जाती हैं।

सीबीसी खून जांच कैसे की जाती हैं?

सीबीसी खून जांच की प्रक्रिया इस प्रकार हैं:

  1. अगर आपको सिर्फ सीबीसी जांच कराना है तो इसके लिए भूके पेट रहने की जरूरत नहीं हैं। यह जांच आप किसी भी समय करा सकते हैं। बेहतर होगा अगर आपक कुछ खाने के बाद यह जांच करे क्योंकि की खाली पेट कमजोरी से चक्कर आने का खतरा रहता हैं।
  2. सीबीसी टेस्ट करते समय आपके ऊपरी बाह पर कोहनी से थोड़ा ऊपर एक टाइट पट्टी या tourniquet बांधा जाता हैं जिससे हात की नसे अच्छे से फूल जाए और लैब टेक्निशन को खून का सैम्पल लेने मे आसानी होती हैं।
  3. लैब टेक्निशन सीबीसी जांच के लिए पहले स्पिरिट से जहां से खून का नमूना लेना है उस जगह को साफ करते है और Sterile Syringe का उपयोग कर 3 से 4 ml ब्लड सैम्पल निकालते है और बाद मे यह सैम्पल को EDTA bulb मे रखा जाता हैं। Laboratory मे इस खून के नमूने की मशीन मे जांच की जाती हैं।
  4. जहां से सुई से खून निकाला गया हैं वहाँ रुई रखकर थोड़ी देर दबा कर रखे और बाद मे उस जगह पर टेप चिपका दिया जाता हैं।
  5. जिस ट्यूब मे आपका सैम्पल लिया गया है उस पर आपका नाम लिखा जाता हैं।
  6. 3 से 4 घंटे मे आपके सीबीसी टेस्ट की रिपोर्ट पूरी हो जाती है और इसका परिणाम आपको प्रिन्ट निकालकर दिया जाता हैं।

सीबीसी टेस्ट मे कितना खर्च लगता हैं?

सीबीसी टेस्ट कराने मे भारत मे 150 रुपए से 200 रुपए खर्च होते हैं।

सीबीसी जांच का परिणाम और नॉर्मल रेंज कितनी होती हैं?

CBC test का परिणाम और नॉर्मल रेंज की जानकारी नीचे दी गई हैं:

जांच
(Test Name)
मानक
(Units)
सामान्य स्तर
(Normal Range)
Hemoglobingm/dlMale: 13.2 to 16.6
Female: 11.6 to 15
WBC Count/cumm4000 to 10000
Platelet Count/cumm140000 to 450000
RBC Countmill/cummMale: 4.7 to 6.1
Female: 4.2 to 5.4
Blood Indices
PCV%42 TO 52
MCVfemtolitre82 to 92
MCHpg27 to 31
MCHCg/dl32 to 36
RDW%11.5 to 14
Differential WBC Count
Polymorphs%60 to 70
Lymphocytes%20 to 40
Eosinophils%1 to 4
Monocytes%2 to 6
Basophils%0 to 1

इस table मे दिए हुए सामान्य स्तर जांच किए जानेवाले मशीन के हिसाब से थोड़े अलग हो सकते हैं। यह सामान्य स्तर SYSMEX XN550 (5 Part cell counter) मशीन के हैं।

CBC test मे हीमोग्लोबिन कितना होना चाहिए?

CBC test मे आपके शरीर मे कितना हीमोग्लोबिन होना चाहिए यह पता चलता हैं। पुरुष और महिला मे कितना हीमोग्लोबिन होना चाहिए इसकी जानकारी नीचे दी गई हैं।

  1. पुरुष मे सामान्य हीमोग्लोबिन का स्तर 13.2 से 16.6 g/dl हैं।
  2. महिला में सामान्य हीमोग्लोबिन का स्तर 11.6 से 15 g/dl हैं।

अगर इस स्तर से कम हीमोग्लोबिन है तो इसे खून की कमी या Anemia कहा जाता हैं।

उपयोगी जानकारी: खून की कमी के कारण, लक्षण और उपचार

CBC test मे सफेद रक्त कण या White Blood Cell (WBC) से क्या पता चलता हैं?

सफेद रक्त कण या White Blood Cells या हमारे शरीर के रोग प्रतिकार शक्ति (Immunity) का हिस्सा हैं।

  1. White Blood Cells का स्तर सामान्य से कम हो जाने को Leukopenia कहा जाता हैं। Viral Infection, Dengue, Typhoid, Auto Immune रोग और कुछ प्रकार की दवा से ऐसा हो सकता हैं।
  2. White Blood Cells का स्तर सामान्य से ज्यादा हो जाने को Leukocytosis कहा जाता हैं। Bacterial infection या शरीर मे कही सूजन (inflammation) से ऐसा हो सकता हैं। अगर सफेद रक्त कण की संख्या बेहद ज्यादा है तो यह Blood Cancer का संकेत हो सकता हैं।

जरूर पढे: ब्लड कैंसर का कारण, लक्षण और उपचार

CBC test मे Platelet count से क्या पता चलता हैं?

CBC test मे आपके रक्त मे प्लेटलेट का प्रमाण कितना होना चाहिए यह पता चलता हैं। शरीर मे जब भी कही कोई चोट लगती है और रक्तस्त्राव या Bleeding होता है तब वहाँ पर खून को जमाकर (clot) खून का बहाव रोकने का महत्वपूर्ण कार्य मे प्लेटलेट की विशेष भूमिका होती हैं।

  1. प्लेटलेट कम हो जाना: रक्त मे प्लेटलेट की संख्या कम हो जाने को Thrombocytopenia कहा जाता हैं। Bone Marrow मे तकलीफ होना, अधिक समय तक शराब पीने से लिवर मे खराबी, Malaria और Dengue जैसे रोग मे Platelet तेजी से कम हो जाते हैं। पढे: प्लेटलेट बढ़ाने के उपाय
  2. प्लेटलेट बढ़ जाना: रक्त मे प्लेटलेट की संख्या बढ़ जाने को Thrombocytosis कहा जाता हैं। इसमे प्लेटलेट की संख्या इतनी अधिक हो सकती है कि वे रक्त वाहिकाओं को अवरुद्ध कर सकते हैं, जिससे गंभीर जटिलताएं हो सकती हैं, जैसे कि स्ट्रोक, दिल का दौरा, और मस्तिष्क में रक्तस्राव। Steroid दवा, Auto Immune रोग, किडनी मे खराबी और कुछ संक्रमण मे यह स्तिथि निर्माण हो सकती हैं।

CBC test मे Red Blood Cell (RBC) count से क्या पता चलता हैं?

RBC Count, या रेड ब्लड सेल काउंट, एक रक्त परीक्षण है जो रक्त में लाल रक्त कोशिकाओं की संख्या की गणना करता है। लाल रक्त कोशिकाएं ऑक्सीजन और कार्बन डाइऑक्साइड ले जाने के लिए जिम्मेदार होती हैं। पुरुषों में, Normal RBC count 4.7 से 6.1 mill/cumm और महिलाओं में, 4.2 से 5.4 mil/cumm है।

  1. RBC या लाल रक्त कण का बढ़ना: लाल रक्त कण का स्तर अमान्य से अधिक बढ़ जाने को Polycythemia कहा जाता हैं। पॉलीसिथेमिया के कई कारण हो सकते हैं, जिनमें कुछ दवाएं, कुछ बीमारियां और स्थितियां, और कुछ आनुवंशिक स्थितियां शामिल हैं।
  2. RBC या लाल रक्त कण की कमी: लाल रक्त कण की कमी को Anemia कहा जाता हैं। एनीमिया के कई कारण हो सकते हैं, जिनमें आयरन की कमी, विटामिन बी12 की कमी, फोलेट की कमी, और कुछ बीमारियां और स्थितियां शामिल हैं।

CBC test मे PCV से क्या पता चलता हैं?

CBC test मे PCV से पता चलता है कि आपके खून में लाल रक्त कोशिकाओं (RBC) का प्रतिशत कितना है। PCV को Packed Cell Volume या Hematocrit नाम से भी जाना जाता हैं। RBCs ऑक्सीजन ले जाने के लिए जिम्मेदार होती हैं, इसलिए PCV आपके शरीर की ऑक्सीजन ले जाने की क्षमता को दर्शाता हैं। PCV का सीबीसी रिपोर्ट मे सामान्य स्तर 42 से 52% होता हैं।

  1. PCV सामान्य से कम होना: अगर CBC test मे PCV सामान्य से कम है, तो इसका मतलब है कि आपके शरीर में पर्याप्त RBCs नहीं हैं। यह स्थिति एनीमिया का संकेत दे सकती है, जो एक चिकित्सा स्थिति है जिसमें आपके शरीर को पर्याप्त ऑक्सीजन नहीं मिल पाती है। एनीमिया के कई कारण हो सकते हैं, जिनमें आयरन की कमी, विटामिन बी 12 की कमी, और रक्त की कमी शामिल हैं।
  2. PCV सामान्य से अधिक होना: अगर CBC test मे PCV सामान्य से अधिक हैं तो इसका मतलब है कि आपके शरीर में बहुत अधिक RBCs हैं । यह स्थिति पॉलीसिथेमिया का संकेत दे सकती है, जो एक चिकित्सा स्थिति है जिसमें आपके शरीर में रक्त की मात्रा बहुत अधिक हो जाती है। पॉलीसिथेमिया के कई कारण हो सकते हैं, जिनमें फेफड़े की बीमारी, दिल की बीमारी, और उच्च ऊंचाई पर रहना शामिल हैं।

CBC test मे MCV से क्या पता चलता हैं?

MCV का मतलब होता हैं Mean Corpuscular Volume, इससे यह पता चलता है की खून मे लाल रक्त कोशिकाओं का आकार कितना बड़ा हैं। MCV का CBC test मे सामान्य स्तर 82 से 92 femtolitre होता हैं।

  1. MCV सामान्य से कम होना: अगर CBC test मे MCV सामान्य से कम है, तो इसका मतलब है कि आपके शरीर में छोटे RBCs हैं। यह स्थिति Microcytic Anemia का संकेत दे सकती है, जो एक चिकित्सा स्थिति है जिसमें RBCs में पर्याप्त हीमोग्लोबिन नहीं होता है। माइक्रोसाइटिक एनीमिया के कई कारण हो सकते हैं, जिनमें आयरन की कमी, विटामिन बी 12 की कमी, और Thallasemia शामिल हैं।
  2. MCV सामान्य से अधिक होना: अगर CBC test मे MCV सामान्य से ज्यादा है, तो इसका मतलब है कि आपके शरीर में बड़े RBCs हैं। यह स्थिति Megaloblastic Anemia का संकेत दे सकती है, जो एक चिकित्सा स्थिति है जिसमें RBCs पूरी तरह से परिपक्व नहीं होते हैं। इस स्तिथि के कई कारण हो सकते हैं, जिनमें विटामिन बी 12 की कमी, फोलिक एसिड की कमी, और कुछ दवाओं का उपयोग शामिल हैं।

CBC test मे MCH से क्या पता चलता हैं?

MCH का मतलब होता हैं Mean Corpuscular Hemoglobin, इससे यह पता चलता है की आपके खून में लाल रक्त कोशिकाओं (RBCs) में हीमोग्लोबिन की औसत मात्रा कितनी है। हीमोग्लोबिन एक प्रोटीन है जो लाल रक्त कोशिकाओं में पाया जाता है और ऑक्सीजन को आपके शरीर के चारों ओर ले जाने के लिए जरूरी होता हैं। MCH का CBC test मे सामान्य स्तर 27 से 31pg होता हैं।

  1. MCH सामान्य से कम होना: अगर CBC test मे MCH सामान्य से कम है, तो इसका मतलब है कि आपके शरीर में RBCs में पर्याप्त हीमोग्लोबिन नहीं होता है। यह स्थिति Microcytic Anemia का संकेत दे सकती है, जिसमें RBCs छोटे होते हैं और इसलिए उनमें कम हीमोग्लोबिन होता है।
  2. MCH सामान्य से ज्यादा होना: अगर CBC test मे MCH सामान्य से ज्यादा है, तो इसका मतलब है कि आपके शरीर में RBCs में बहुत अधिक हीमोग्लोबिन है। यह स्थिति Megaloblastic Anemia का संकेत देती है, जो एक चिकित्सा स्थिति है जिसमें RBCs पूरी तरह से परिपक्व नहीं होते हैं और इसलिए उनमें अधिक हीमोग्लोबिन होता है।

उपयोगी जानकारी: CRP test क्या हैं और क्यों की जाती हैं?

CBC test मे MCHC से क्या पता चलता हैं?

MCHC का मतलब होता हैं Mean Corpuscular Hemoglobin Concentration, आपके खून में लाल रक्त कोशिकाओं (RBCs) में हीमोग्लोबिन की औसत मात्रा कितनी है। MCHC का CBC test मे सामान्य स्तर 32 से 36 gm/dl होता हैं।

  1. MCHC सामान्य से कम होना: अगर सीबीसी जांच में, एम सी एच की मात्रा सामान्य से कम है तो इसका मतलब है कि, आपके शरीर में रेड ब्लड सेल्स में पर्याप्त हीमोग्लोबिन नहीं है। यह स्थिति माइक्रोसायटिक एनीमिया (Microcytic Anemia) का संकेत दे सकती है, जिसमें रेड ब्लड सेल्स छोटे होते हैं और इसलिए उनमें कम हीमोग्लोबिन होता है। आयरन तत्व की कमी से ऐसा हो सकता है और इसलिए रोगी को हीमोग्लोबिन बढ़ाने के लिए आयरन की दवा देते हैं। थेलासेमिया, किडनी रोग और कैंसर में भी एम सी एच की मात्रा सामान्य से कम आ सकती हैं।
  2. MCHC सामान्य से ज्यादा होना: अगर सीबीसी जांच में, एम सी एच सामान्य से ज्यादा है तो इसका मतलब है कि, आपके शरीर में रेड ब्लड सेल्स में बहुत अधिक हीमोग्लोबिन है। यह स्थिति मेगालोब्लास्टिक एनीमिया (Megaloblastic Anemia) का संकेत देती है, जो एक चिकित्सा स्थिति है जिसमें रेड ब्लड सेल्स पूरी तरह से परिपक्व नहीं होते हैं और इसलिए उनमें अधिक हीमोग्लोबिन होता है। विटामिन बी 12 की कमी से ऐसा हो सकता है और इसलिए रोगी को हीमोग्लोबिन बढ़ाने के लिए विटामिन बी 12 की दवा देते हैं। लिवर रोग, बोन मारो की समस्या और एस्ट्रोजन हॉर्मोन की दवा लेने से भी एम सी एच की मात्रा सामान्य से कम आ सकती हैं।

CBC test मे RDW से क्या पता चलता हैं?

CBC टेस्ट में RDW का मतलब Red Cell Distribution Width होता हैं। इसमें लाल रक्त कोशिकाओं के आकार और आकार में असमानता के बारे में पता चलता है। लाल रक्त कोशिकाएं, जिन्हें एरिथ्रोसाइट्स भी कहा जाता है, ऑक्सीजन को शरीर के चारों ओर ले जाने का कार्य करते हैं। वे आमतौर पर लगभग समान आकार और आकार के होते हैं, लेकिन कुछ स्थितियां उन्हें अलग-अलग आकार और आकार में बदल सकती हैं।

जरूर पढे: Diabetes की HbA1c test की जानकारी

CBC test मे Polymorphs से क्या पता चलता हैं?

CBC test मे Polymorphs से पता चलता हैं कि आपके शरीर में कितनी Neutrophils हैं, जो WBC या श्वेत रक्त कोशिकाओं के पांच प्रमुख प्रकारों में से एक हैं। न्यूट्रोफिल्स संक्रमण से लड़ने के लिए जिम्मेदार होते हैं और शरीर के लगभग 60% WBCs का निर्माण करते हैं। एक सामान्य WBC काउंट में, Polymorphs (Neutrophils) का प्रतिशत 60-70% होता है।

  1. Polymorphs (Neutrophils) सामान्य से कम होना: एक कम Neutrophil count को Neutropenia भी कहा जाता है। शरीर में किसी प्रकार का Virus का संक्रमण होने पर यह कम होते हैं। यह दवाओं के दुष्प्रभाव, या कुछ प्रकार के कैंसर का भी संकेत हो सकता है।
  2. Polymorphs (Neutrophils) सामान्य से ज्यादा होना: Neutrophil count बढ़ जाने को Neutrophilia कहा जाता है। शरीर में किसी प्रकार का Bacteria का संक्रमण होने पर यह बढ़ते हैं। यह कुछ प्रकार के कैंसर का संकेत भी हो सकता है, जैसे कि Leukemia या Lymphoma आदि।

क्या आप जानते हैं: Basal Metabolic Rate क्या होता हैं?

CBC test मे Lymphocytes से क्या पता चलता हैं?

Lymphocytes हमारे रोग प्रतिरोधक शक्ति या Immune system का एक महत्वपूर्ण हिस्सा हैं और संक्रमण से लड़ने, कैंसर कोशिकाओं को मारने और शरीर के ऊतकों को नुकसान से बचाने के लिए जिम्मेदार होते हैं। एक सामान्य WBC काउंट में, लिम्फोसाइट्स का प्रतिशत 20-40% होता है।

  1. Lymphocytes सामान्य से कम होना: सीबीसी जांच में Lymphocytes की कमी को Lymphopenia कहा जाता हैं। यह स्तिथि आपके इम्यून सिस्टम की कमजोरी सूचित कर सकती है, जिससे आप संक्रमणों के खिलाफ अधिक संवेदनशील हो सकते हैं। इसकी वजह HIV/AIDS, Chemotherapy, Radiation therapy, या Auto Immune diseases जैसी स्थितियों हो सकती है।
  2. Lymphocytes सामान्य से ज्यादा होना: सीबीसी जांच में Lymphocytes ज्यादा होने को Lymphocytosis कहा जाता हैं। अक्सर यह एक संक्रमण का संकेत होता है, जैसे कि वायरल संक्रमण, जैसे कि डेंगू, फ्लू या चिकनपॉक्स। यह कुछ प्रकार के कैंसर का संकेत भी हो सकता है, जैसे कि ल्यूकेमिया या लिम्फोमा।

CBC test मे Eosinophils से क्या पता चलता हैं?

Eosinophils हमारे रोग प्रतिरोधक शक्ति या Immune system का एक महत्वपूर्ण हिस्सा हैं और एलर्जी, परजीवी (Parasite) संक्रमण और कुछ प्रकार के कैंसर से लड़ने के लिए जिम्मेदार होते हैं। एक सामान्य WBC काउंट में, Eosinophils का प्रतिशत 0 से 4% होता है।

  1. Eosinophils सामान्य से कम होना: इस स्तिथि को Eosinophenia कहा जाता हैं। यह गंभीर संक्रमण, दवाओं के दुष्प्रभाव या कुछ प्रकार के कैंसर का संकेत हो सकता है।
  2. Eosinophils सामान्य से ज्यादा होना: इस स्तिथि को Eosinophilia कहा जाता हैं। यह एलर्जी या परजीवी संक्रमण का संकेत होता है, जैसे कि अस्थमा, एक्जिमा या एस्केरिस संक्रमण। यह कुछ प्रकार के कैंसर का भी संकेत हो सकता है, जैसे कि एलर्जी-संबंधित लिम्फोमा या हीमोसाइटोसिस।

CBC test मे Monocytes से क्या पता चलता हैं?

Monocytes हमारे रोग प्रतिकार शक्ति का एक महत्वपूर्ण हिस्सा हैं और संक्रमण से लड़ने, कैंसर कोशिकाओं को मारने और शरीर के ऊतकों को नुकसान से बचाने के लिए जिम्मेदार होते हैं। एक सामान्य WBC काउंट में, मोनोसाइट्स का प्रतिशत 2 – 6% है।

  1. Monocytes सामान्य से कम होना: Monocytes कम होने को Monopenia भी कहा जाता है। यह अक्सर गंभीर संक्रमण, दवाओं के दुष्प्रभाव या कुछ प्रकार के कैंसर का संकेत हो सकता है।
  2. Monocytes सामान्य से ज्यादा होना: Monocytes ज्यादा होने को Monocytosis कहा जाता हैं। अक्सर एक संक्रमण या infection का संकेत होता है, जैसे कि बैक्टीरिया संक्रमण, जैसे कि Pneumonia या Sepsis। यह कुछ प्रकार के कैंसर का भी संकेत हो सकता है, जैसे कि ल्यूकेमिया या लिम्फोमा।

आपको पता होना जरूरी हैं: हमें रोजाना कितनी calories diet लेना चाहिए ?

CBC test मे Basophils से क्या पता चलता हैं?

Basophils हमारे immune system का एक महत्वपूर्ण हिस्सा हैं और एलर्जी और कुछ प्रकार के संक्रमण से लड़ने के लिए जिम्मेदार होते हैं। एक सामान्य WBC काउंट में, Basophils का प्रतिशत 0-1% होता है।

  1. Basophils सामान्य से कम होना: इस स्तिथि को Basopenia कहा जाता हैं। यह किसी गंभीर संक्रमण, दवाओं के दुष्प्रभाव या कुछ प्रकार के कैंसर का संकेत हो सकता है।
  2. Basophils सामान्य से ज्यादा होना: इस स्तिथि को Basophilia कहा जाता हैं। अक्सर एक एलर्जी या परजीवी संक्रमण का संकेत होता है, जैसे कि अस्थमा, एक्जिमा या एस्केरिस संक्रमण। यह कुछ प्रकार के कैंसर का भी संकेत हो सकता है।

क्या आप जानते हैं: Negative Calorie Food क्या होता है ?

CBC Test क्यों की जाती हैं?

CBC Test यह एक विशेष जांच है जो कई कारणों से की जाती हैं। CBC Test करने के कुछ मुख्य कारण हैं:

  1. सामान्य शारीरिक परीक्षण: आप पूरी तरह से स्वस्थ है या नहीं यह देखने के लिए CBC Test की जाती हैं। कई बार आप किसी नौकरी के लिए या पढ़ने के लिए दाखिला लेते हैं या आपका कोई ऑपरेशन करना होता है तब आपका fitness देखने के लिए भी CBC Test किया जाता हैं।
  2. रोग का निदान: CBC Test से खून की कमी (Anemia), खून का कर्करोग (Blood Cancer), विषाणु का संक्रमण (Viral Infection), Bacteria का संक्रमण, ऐलर्जी आदि का निदान किया जाता हैं।
  3. रोग की स्तिथि: CBC Test से आपके रोग की गंभीरता का पता चलता हैं। अगर बढ़े हुए सफेद रक्त कण फिरसे कम हो रहे है या डेंगू जैसे रोग मे कम हुए Platelet फिरसे बढ़ना शुरू होते है तो यह संकेत है की आपकी बीमारी ठीक हो रही हैं।
  4. उपचार सही है या नहीं: CBC Test से आपको जो उपचार या दवा चालू है वह सही है या नहीं, दवा से बीमारी ठीक हो रही है या नहीं यह पता चलता हैं। आपके बढ़े हुए या कम हुए रक्त कण दोबारा सामान्य होने का मतलब इलाज सही चल रहा हैं।

इस तरह CBC Blood Test यह एक सरल, कम खर्चीली पर बेहद उपयोगी खून की जांच है। रोग के निदान के साथ, रोग की गंभीरता और दवा का असर आदि की जानकारी भी CBC Test से पता चलती हैं।

References:

  1. Complete Blood Count (WebMD)
  2. Complete Blood Count with Differential

5/5 - (2 votes)

Leave a comment

गर्मी में न करे यह 5 योग, हो सकता है नुकसान गर्मी से तंग हैं? इन 5 योग से पाएं राहत ब्लड डोनेशन के फायदे जिनसे आप अनजान हैं ! आँखों से चश्मा हटाने के लिए करे योग Dexona दवा लेनेवाले हो जाए सावधान