बीएमआर क्या है | Basal Metabolic Rate (BMR) in Hindi

BMR Basal metabolic rate in Hindi

BMR का नाम सुनकर कई लोग internet पर BMR kya hai या BMR meaning in Hindi लिखकर search करते हैं । आप Weight loss करना चाहते है या Weight gain करना चाहते है तो इसके लिए आपको अपने बीएमआर या Basal Metabolic Rate (BMR) की जानकारी होना बेहद आवश्यक हैं। BMR की जानकारी होने पर आप इस बात का अंदाजा लगा सकते है की वजन को घटाने या बढ़ाने के लिए आपको एक दिन में कितनी Calories की आवश्यकता होती है।

आज इस लेख में हम आपको BMR की पूरी जानकारी सरल Hindi भाषा में समझाने जा रहे हैं। BMR क्या है, किसी भी व्यक्ति का BMR कैसे पता कर सकते है और इसका उपयोग हम किस लिए कर सकते है इसकी जानकारी विस्तार में निचे दी गयी हैं :

बीएमआर क्या हैं ? (What is BMR in Hindi)

हमारे शरीर को अपने रोजाना के कार्य जैसे की सांस लेना, खाना पचाना, नयी पेशी तैयार करना, शरीर के हर हिस्से तक खून पहुँचाना जैसे अन्य गतिविधि के लिए ऊर्जा की जरुरत होती है। यह ऊर्जा शरीर को आहार से मिल रहे calories से प्राप्त होती हैं। चाहे आप कोई काम करे, व्यायाम करे या ना करे कुछ प्रमाण में शरीर के जरुरी कार्य के लिए इतनी ऊर्जा की जरुरत होती ही हैं और इसे ही Basal Metabolic Rate (BMR) या चयापचय दर कहा जाता हैं।

आराम के समय हमारे शरीर के लिए जरुरी आंतरिक क्रिया को पूरा करने के लिए जितनी कैलोरीज की आवश्यकता होती है उसे BMR या बुनियादी चयापचय दर कहा जाता हैं। यह हर व्यक्ति की भिन्न होती है और यह किस एक व्यक्ति की भी आयु, व्यायाम और वजन के हिसाब से कम ज्यादा हो सकती हैं।

बीएमआर कैसे पता करे ? (How to calculate BMR in Hindi)

किसी भी व्यक्ति का BMR पता करने के लिए The Mifflin-St Jeor Formula का उपयोग किया जाता है। इस फार्मूला में व्यक्ति के लिंग, आयु, वजन और लंबाई का उपयोग कर BMR का पता लगाया जाता हैं। यह फार्मूला महिलाओं और पुरुषों के लिए अलग हैं। इसके अलावा कुछ अन्य फार्मूला का भी उपयोग किया जाता है पर इस फार्मूला को विशेषज्ञ अधिक सटीक मानते हैं।

कई लोग BMR और BMI को एक मानते है। BMI का मतलब होता है Body Mass Index, जिससे आपका वजन ज्यादा है या नहीं और आप मोटापे के किस श्रेणी में आते है यह पता लगाया जाता हैं।

BMI की पूरी जानकारी आप यहाँ पढ़ सकते हैं – Body Mass Index कैसे पता करे ?

पुरुष का बीएमआर कैसे पता करे ? (Male BMR formula in Hindi)

पुरुष का BMR पता करने का Mifflin-St Jeor Formula यह हैं :

BMR = (10 x वजन किलोग्राम में) + (6.25 x लम्बाई सेंटीमीटर में) – (5 x आयु वर्ष में) + 5

अगर आप एक पुरुष है जिसकी आयु 30 वर्ष, वजन 70 किलों और लम्बाई 170 सेंटीमीटर है तो आपका BMR 1617.5 कैलोरीज हैं। 

देखे कैसे :

BMR = (10 x वजन किलोग्राम में) + (6.25 x लम्बाई सेंटीमीटर में) – (5 x आयु वर्ष में) + 5
= (10 x 70) + (6.25 x 170) – (5 x 30) + 5
= 700 + 1062.5 – 150 + 5
= 1617.5

महिला का बीएमआर कैसे पता करे ? (Female BMR formula in Hindi)

महिला का BMR पता करने का Mifflin-St Jeor Formula हैं :

BMR = (10 x वजन किलोग्राम में) + (6.25 x लम्बाई सेंटीमीटर में) – (5 x आयु वर्ष में) – 161

अगर आप एक महिला है जिसकी आयु 30 वर्ष, वजन 50 किलों और लम्बाई 160 सेंटीमीटर है तो आपका BMR 1189 कैलोरीज हैं। 

देखे कैसे :

BMR = (10 x वजन किलोग्राम में) + (6.25 x लम्बाई सेंटीमीटर में) – (5 x आयु वर्ष में) – 161
= (10 x 50) + (6.25 x 160) – (5 x 30) – 161
= 500 + 1000 – 150 – 161
= 1189

जरूर पढ़े : मोटापा कैसे कम करे ?

BMR जानने का सबसे आसान तरीका क्या है ?

BMR पता करने के लिए आप प्रसिद्द फिटनेस कोच आकाश शेरावत द्वारा दिए गए फार्मूला का उपयोग भी कर सकते है जो की सबसे आसान हैं। BMR जानने का कोई भी फार्मूला पूरी तरह से सही नहीं है इसलिए आप इस फार्मूला का भी उपयोग कर सकते है। यह पुरुष और महिला के लिए समान है।

BMR = वजन पाउंड में x 10 

अगर आपको वजन किलोग्राम में पता है तो 1 किलोग्राम लगभग 2.2 पाउंड होता है।

BMR = (वजन किलोग्राम में x 2.2) x 10

अगर आपका वजन 60 किलोग्राम हैं तो,

BMR = (60 x 2.2) x 10  = 132 x 10 = 1320 कैलोरीज

क्या आप जानते है – क्या खाने से कभी वजन नहीं बढ़ेगा

बीएमआर कितना होना चाहिए ?

BMR कितना होना चाहिए इसकी जानकारी निचे टेबल में दी गयी हैं:

लिंगउम्रआदर्श BMR (kcal/day)
पुरुष18-30 वर्ष1,800-2,200
पुरुष31-50 वर्ष1,600-2,000
पुरुष51 वर्ष से अधिक1,400-1,800
महिलाएं18-30 वर्ष1,400-1,800
महिलाएं31-50 वर्ष1,200-1,600
महिलाएं51 वर्ष से अधिक1,000-1,400
कृपया ध्यान दे:
  • यह केवल एक सामान्य मार्गदर्शिका है।
  • आदर्श बीएमआर व्यक्ति की उम्र, लिंग, ऊंचाई, वजन और शारीरिक गतिविधि स्तर के आधार पर भिन्न होता है।
  • उम्र के साथ बीएमआर भी कम होता जाता है।
  • शारीरिक रूप से सक्रिय लोगों का बीएमआर निष्क्रिय लोगों की तुलना में अधिक होता है।
  • अपने सटीक BMR को जानने के लिए, आपको ऊपर बताये हुए BMR फॉर्मूला का उपयोग करना चाहिए।

बीएमआर जानने का क्या फायदा हैं ? (BMR benefits in Hindi)

BMR जानकर आप यह पता लगा सकते है की आपको रोजाना कितनी कैलोरीज की जरूरी होती हैं। यह जानने से आपको अपना वजन घटाने (weight loss) में या बढ़ाने (weight gain) में मदद होगी। अगर आप अपने BMR से कम कैलोरीज लेते है तो आपका वजन घटेगा वही अगर आप इससे ज्यादा कैलोरीज लेते है तो आपका वजन बढ़ेगा।

यहाँ पर आपको एक बात का विशेष ख्याल रखना चाहिए की BMR की यह संख्या पूरी तरह सही नहीं हैं। आप दैनंदिन जीवन में कितनी मेहनत करते है यह देखना भी जरुरी होता हैं क्योंकि इससे आप सही BMR का अंदाजा लगा सकते हैं। जैसे की :

  • निष्क्रिय (Sedentary): अगर आप कोई काम नहीं करते है तो अपने BMR को 1.2 से गुणा (multiply) करे। मतलब आपका BMR 1200 है तो 1200 x 1.2 करे तो आपका BMR है 1440 कैलोरीज।
  • कम सक्रीय (Mild Active): अगर आप हल्का काम करते है तो अपने BMR को 1.375 से गुणा करे। अगर आपको BMR 1200 से है तो 1200 x 1.375 करे तो आपका BMR होगा 1650 कैलोरीज।
  • मध्यम सक्रीय (Medium Active): अगर आप मध्यम मेहनत का काम करते है तो अपने BMR को 1.55 से गुणा करे। अगर आपको BMR 1200 से है तो 1200 x 1.55 करे तो आपका BMR होगा 1860 कैलोरीज।
  • अधिक सक्रीय (Highly Active): अगर आप अधिक मेहनत का काम करते है तो अपने BMR को 1.725 से गुणा करे। अगर आपको BMR 1200 से है तो 1200 x 1.725 करे तो आपका BMR होगा 2070 कैलोरीज।
  • बेहद अधिक सक्रिय (Super Active): अगर आप बेहद ज्यादा मेहनत का काम करते है तो अपने BMR को 1.9 से गुणा करे। अगर आपको BMR 1200 से है तो 1200 x 1.9 करे तो आपका BMR होगा 2280 कैलोरीज।

यह भी पढ़े : कीटो डाइट से वजन कैसे कम करे ?

बीएमआर से जुड़े सवालों के जवाब

बीएमआर ज्यादा होने से क्या होता हैं ?

बीएमआर ज्यादा होने के कुछ संभावित जोखिम हैं जैसे की हड्डियों का नुकसान, मांसपेशियों का नुकसान, हृदय रोग और ऑस्टियोपोरोसिस। यदि आपको लगता है कि आपका बीएमआर ज्यादा हो सकता है, तो आपको डॉक्टर से मिलना चाहिए।

बीएमआर कम होने से क्या होता हैं ?

बीएमआर कम होने के कुछ संभावित जोखिम हैं जैसे की हृदय रोग, स्ट्रोक, हाई ब्लड प्रेशर और डायबिटीज।

अगर मैं अपने बीएमआर से कम खाऊं तो क्या होगा?

अगर आप बीएमआर से कम खाते है तो आपका वजन कम होगा। Weight loss के लिए यह उपयोगी है। इसके अलावा कम खाने से थकान, कमजोरी, बालों का झड़ना और कमजोर रोग प्रतिरोधक शक्ति जैसी समस्या निर्माण हो सकती हैं।

अगर मैं अपने बीएमआर से ज्यादा खाऊं तो क्या होगा?

अगर आप बीएमआर से अधिक खाना खाते है तो आपका वजन बढ़ेगा और आप मोटापा के शिकार हो सकते हैं। मोटापा बढ़ने से आप मोटापा के कारण होनेवाली समस्या जैसे की ह्रदय रोग, डायबिटीज, हाई ब्लड प्रेशर, कोलेस्ट्रॉल से परेशान हो सकते हैं।

अगर आपको यह बीएमआर क्या होता है | Basal Metabolic Rate (BMR) in Hindi की जानकारी उपयोगी लगती है तो कृपया इसे शेयर ज़रूर करें। अगर आपको इस लेख में कोई जानकारी के विषय में सवाल पूछना है तो कृपया नीचे कमेंट बॉक्स में या Contact Us में आप पूछ सकते है। मैं जल्द से जल्द आपके सभी प्रश्नों के विस्तार में जवाब देने की कोशिश करूँगा।

Reference:

  1. Predicting basal metabolic rate, new standards and review of previous work: https://europepmc.org/article/med/4044297/reloa
  2. The Functional Significance of Individual Variation in Basal Metabolic Rate: https://www.journals.uchicago.edu/doi/abs/10.1086/427059
  3. Basal metabolic rate studies in humans: https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/16277825/

Leave a comment

क्या इडली सांबर है पौष्टिक आहार? पढ़े डॉक्टर्स की राय