PCOD का कारण, लक्षण और ईलाज | PCOD symptoms in Hindi

pcod causes symptoms treatment in Hindi

PCOD का full form हैं Poly Cystic Ovarian Disease इसे Poly Cystic Ovarian Syndrome (PCOS) भी कहा जाता है, यह महिलाओ में पाया जानेवाली एक बड़ी समस्या है। अनुमान किया जाता है की प्रजनन की उम्र वाली 90 लाख से ज्यादा महिलाओ को PCOD है तथा इनमे से 60% से ज्यादा महिलाओ को पता नहीं होता है की उन्हें यह विकार है।

कुछ सालो पहले यह समस्या 30 से 35 साल के ऊपर की महिलाओ में ही आम होती थी परन्तु अब कम उम्र की लड़कियों में भी यह ज्यादा प्रमाण में दिखाई दे रही है। कई महिलाए PCOD के चलते pregnant नहीं हो पाती हैं।

PCOD का कारण, लक्षण और उपचार संबंधी अधिक जानकारी निचे दी गयी है :

PCOD क्या है ? (PCOD in Hindi)

1. महिलाओ में Sex Hormones के असंतुलन के कारण अंडाशय (Ovary) में छोटी-छोटी गाठ या cyst तैयार हो जाती है जिस कारण महिलाओ के मासिक धर्म (Menstrual Cycle) के साथ प्रजनन क्षमता (Fertility) पर भी असर पड़ता है। इसमे अंडाशय मे की सारी cyst निर्माण हो जाती है और इसलिए इसे PolyCystic Ovarian Disease (PCOD) यह नाम दिया गया है ।
2. अगर समय पर PCOD का इलाज न किया जाए तो आगे जाकर यह कर्करोग (Cancer) का रूप भी ले सकती है।
3. महिलाओ में अंडाशय में सामान्य से अधिक मात्रा में Androgen Hormones की निर्मिति होने पर अंडाशय में छोटी-छोटी तरल पदार्थयुक्त cyst तैयार हो जाती है जो धीरे-धीरे आकार में बढ़ने लगती है। इससे महिलाओ में प्रजनन क्षमता कम हो जाती है और महिला गर्भधारणा करने में असमर्थ हो जाती है।

PCOD के लक्षण क्या है ? (PCOD symptoms in Hindi)

PCOD से पीड़ित महिलाओ में निम्नलिखित लक्षण पाए जाते है :
1. अनियमित मासिक धर्म (Irregular Menstrual cycle) 
2. चेहरे / शरीर पर अधिक बाल (facial hair)
3. मुंहासे (Acne) 
4. Dandruff 
5. पेटदर्द (abdominal pain)
6. गर्भधारणा में मुश्किल आना (infertility)
7. यौन इच्छा में अचानक कमी आना (decreased libido)
8. गर्भ में छोटी-छोटी गांठ जो की Ultra Sound Scan करने पर दिखाई देती है  (poly cyst)
9. बार बार गर्भपात (frequent abortions) 
10. सिर के बालो का अधिक झड़ना (hair fall) 
11. त्वचा पर डाग (rashes on skin)
12. मोटापा (obesity) 

PCOD के क्या कारण है ? (PCOD causes in Hindi)

PCOD होने की मुख्य वजह महिलाओ में Hormones की सामान्य से ज्यादा प्रमाण में निर्मति होना है। स्त्रीरोग विशेषज्ञों का कहना है की पिछले 10 से 15 वर्षो में महिलाओ में PCOD के प्रमाण में 50 से 60 प्रतिशत वृद्धि हुई है। इस असामान्य वृद्धि के कुछ खास कारण निचे दिए गए है :
1. असंतुलित आहार (Diet): पिज़्ज़ा, बर्गर जैसे शरीर के लिए हानिकारक junk food। ज्यादा तेलयुक्त, वसायुक्त और मीठा आहार। 
2. रोग (Diseases) : PCOD होने के पीछे मधुमेह (Diabetes) और उच्च रक्तचाप (Hypertension) जैसे रोग भी एक बड़ी वजह है। अगर परिवार में किसी को PCOD का ईतिहास है तो अनुवांशिकता यह भी एक कारण है। Cholesterol का बढ़ना, HDL कम होना या उच्च Triglycerides के वजह से भी PCOD हो सकता है। 
3. मोटापा (Obesity) : अत्यधिक junk food का सेवन और व्यायाम के अभाव के कारण आज की युवा पीढ़ी में मोटापा एक बहोत बड़ी समस्या के रूप में उभरा है। ऐसे तो मोटापा कई बीमारियो का घर है परन्तु मोटापे में शरीर में बढ़ी हुई अत्याधिक चर्बी के कारण Estrogen hormone की निर्मिति सामान्य से ज्यादा होती है, जो की अंडाशय में cyst बनाने के लिए जिम्मेदार माना जाता है। 
4. तनाव (Stress) : आज के दौड़भाग के युग में बढ़ रहे तनाव के कारण लोगो का खानपान और दिनचर्या बिगड़ चुकी है। धूम्रपान, शराब, देर रात का खाना इत्यादि कारणों से भी hormonal imbalance होता है। 

PCOD का निदान कैसे किया जाता है ? (PCOD diagnosis in Hindi)

PCOD  का निदान करने के लिए निम्नलिखित परिक्षण किया जाता है :
1.Ultra Sound Scan of Pelvis / Vagina – सोनोग्राफी मे अंडाशय मे कई सारी छोटी छोटी गाँठ या cyst दिखाई देती है ।
2. Serum LH 
3. Serum FSH 
4. LH : FSH ratio 
5. DHEA-S Level 

PCOD का उपचार कैसे किया जाता है ? (PCOD treatment in Hindi)

PCOD को पूरी तरह से ठीक करना काफी कठिन है। PCOD के इलाज संबंधी अधिक जानकारी निचे दी गयी है :
1. दवा (Medicine) : डॉक्टर द्वारा दी हुई दवा समय पर डॉक्टर के निर्देशानुसार लेना चाहिए। दवा से अंडाशय में ovulation induction कर गर्भधारणा में मदद की जा सकती है। अगर आप मुंहासो के लिए इलाज करे तो अपने डॉक्टर को PCOD होने की जानकारी अवश्य दे।  
2. वजन कम करना (Weight loss) : अगर आपका वजन बढ़ा हुआ है तो उसे कम करने का प्रयास करे। कई PCOD के मरीजों में केवल वजन कम करने से ही बेहद फायदा होते देखा गया है। वजन कम करने के लिए हमारे weight loss series के लेख पढ़े।  
3. व्यायाम (Exercise) : व्यायाम करने से आपका वजन नियंत्रण में रहेगा और PCOD की वजह से होने वाली insulin resistant की समस्या भी कम हो जाएंगी। आप अपने उम्र और शरीर अनुसार चलना, दौड़ना, तैराकी या aerobic व्यायाम कर सकता है।   
4. संतुलित आहार (Balanced Diet) : खाने में पिज़्ज़ा, बर्गर जैसे शरीर के लिए नुकसानकारी आहार लेने की जगह हरे पत्तेदार सब्जी और फल का समावेश करे।
5. जीवनशैली (Lifestyle) : चिंता, शोक, भय, क्रोध इत्यादि तनाव बढ़ाने वाली चीजो से दूर रहे। योग और प्राणायाम करे। हमेशा सकारात्मक विचार रखे। 
6. शल्यक्रिया (Surgery) : जरुरत पड़ने पर PCOD के उपचार में शल्य क्रिया या operation भी किया जाता है जिसे Laproscopic Ovarian Drilling (LOD) या Laparoscopic Electrocauterisation of Ovarian Stroma (LEOS) कहा जाता है। इस Operation में Laser या Cautery से अंडाशय के cyst में छेद किया जाता है।  

PCOD मे क्या आयुर्वेदिक उपचार किया जाता है ? (PCOD Ayurveda treatment in Hindi)

PCOD के उपचार के लिए आप आयुर्वेद का सहारा ले सकते हैं। PCOD के ऐसे कई मामले है जो 6 महीने से लेकर 1 वर्ष तक आयुर्वेद उपचार से पूर्णतः ठीक हो जाते है और सफलतापूर्वक गर्भावस्था का सुख भी प्राप्त कर सकते हैं। PCOD के उपचार के लिए शिलाजीत, शतावरी, गुडुची, हरीतकी, अश्वगंधा, जाम्बु, यशद भस्म, देवदारु आदि अनेक आयुर्वेदिक औषधि का उपयोग किया जाता हैं। किस रोगी में कितने मात्रा में कौन सी औषधि का उपयोग करना है यह केवल एक आयुर्वेदिक डॉक्टर ही रोगी की जांच कर तय कर सकते हैं। 

PCOD मे कौन से योग करना चाहिए ? (Yoga for PCOD in Hindi)

: PCOD में योग करने से भी लाभ होते हैं। PCOD के रोगी ने निचे दिए हुए योग करना चाहिए। योग की विधि जानने के लिए योग के नाम पर click करे। 
1. सूर्यनमस्कार 
2. धनुरासन 
3. भुजंगासन 
4. शलभासन 
5. मत्स्यासन 
6. चक्रासन 
7. सर्वांगासन 
8. मत्स्यासन 

पीसीओडी से क्या क्या प्रॉब्लम होती है? (PCOD side effects in Hindi)

पीसीओडी एक हार्मोनल विकार है जो महिलाओं के प्रजनन स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकता है। पीसीओडी से पीड़ित महिलाओं को अक्सर निम्नलिखित समस्याएं होती हैं:
1. अनियमित मासिक धर्म: पीसीओडी से पीड़ित महिलाओं में अक्सर अनियमित मासिक धर्म या बिल्कुल भी मासिक धर्म नहीं होता है।
2. गर्भवती होने में कठिनाई: पीसीओडी से पीड़ित महिलाओं को गर्भवती होने में कठिनाई हो सकती है।
3. बालों का अत्यधिक बढ़ना: पीसीओडी से पीड़ित महिलाओं को चेहरे, छाती, पीठ या नितंबों पर अत्यधिक बाल उग सकते हैं।
4. वजन बढ़ना: पीसीओडी से पीड़ित महिलाओं को वजन बढ़ने की समस्या हो सकती है।
5. मेटाबोलिक सिंड्रोम: पीसीओडी से पीड़ित महिलाओं को मेटाबोलिक सिंड्रोम होने का खतरा बढ़ जाता है, जो एक ऐसी स्थिति है जिसमें रक्त शर्करा, रक्तचाप और कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ जाता है।
6. इन्सुलिन प्रतिरोध: पीसीओडी से पीड़ित महिलाओं को इंसुलिन प्रतिरोध होने का खतरा बढ़ जाता है, जो एक ऐसी स्थिति है जिसमें शरीर इंसुलिन को प्रभावी ढंग से उपयोग करने में सक्षम नहीं होता है।
7. डिप्रेशन और चिंता: पीसीओडी से पीड़ित महिलाओं को डिप्रेशन और चिंता होने का खतरा बढ़ जाता है।

अवश्य पढ़े – महिलाओं में बाँझपन का कारण, लक्षण और उपचार

PCOD के उपचार मे कौन सी दवा का इस्तेमाल किया जाता हैं ? (PCOD medicine in Hindi)

पीसीओडी के उपचार के लिए कई तरह की दवाएं उपलब्ध हैं। कौन सी दवा इलाज के लिए देना है यह रोग की गंभीरता, रोगी के लक्षण, उम्र और अन्य रोग का इतिहास आदि कारणों पर निर्भर करता हैं।

पीसीओडी के उपचार के लिए उपयोग की जाने वाली कुछ दवाओं में शामिल हैं:

  • जन्म नियंत्रण गोलियां: जन्म नियंत्रण गोलियां मासिक धर्म को नियमित करने, अंडाशय के फाइब्रॉएड को कम करने और बालों के विकास को कम करने में मदद कर सकती हैं।
  • इंसुलिन संवेदनशीलता बढ़ाने वाली दवाएं: इंसुलिन संवेदनशीलता बढ़ाने वाली दवाएं रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने और वजन कम करने में मदद कर सकती हैं। इन दवाओं में मेटफॉर्मिन, पिओग्लिटाज़ोन और लिराग्लूटाइड शामिल हैं।
  • गर्भवती होने में मदद करने वाली दवाएं: गर्भवती होने में मदद करने वाली दवाओं में क्लोमीफीन, गोनैडोट्रॉपिन और लेट्रोजोल शामिल हैं।

क्या PCOD से पीड़ित महिला गर्भवती हो सकती हैं?

जी हाँ, PCOD से पीड़ित महिला गर्भवती हो सकती हैं। समतोल आहार, वजन नियंत्रण, सकारात्मक सोच और पीसीओडी का इलाज लेकर पीसीओडी से पीड़ित महिला गर्भवती हो सकती है और एक स्वस्थ गर्भ को जन्म भी दे सकती हैं।

PCOD से पीड़ित महिलाओ में मधुमेह, उच्चरक्तचाप और कर्करोग होने का खतरा रहता है। जल्द उपचार आदि कार्यवाही करने से PCOD के दीर्घकालीन जाखिमो से बचाव किया जा सकता है।

जरूर पढ़े – PCOD में महिला ने क्या खाना चाहिए और क्या नहीं ?

अगर आपको PCOD का कारण, लक्षण और ईलाज यह लेख उपयोगी लगता है तो कृपया इस लेख को निचे दिए गए बटन दबाकर Whatsapp, Facebook या Tweeter  पर share करे !

5/5 - (1 vote)

54 thoughts on “PCOD का कारण, लक्षण और ईलाज | PCOD symptoms in Hindi”

  1. धन्यवाद सर
    मै दुबारा जांच के लिये गयी
    मैम ने मुझे पुन: ovipauz-l खाने की सलाह दी ३ महीने तक ।

  2. Hello mam,
    mera naam firoza hai mujhe pcod hai mere marriage ko 4 months complete Hua hai me jab unmarried thi tabhi madicine lene k bad hi period aate the abhi me pregnant hona chahti Hu par me concive nahi kar parahi Hu pls mujhe suggest kijiye
    Pls reply ..

  3. i had right ovarian cystectomy. its been six months for the operation and when i did a full adominal ultrasound & pelvic scan. the report says i have bilateral PCOD. will i be able to conceive or not. its my 6th year of marriage. please guide me in this case.

  4. डॉक्टर को नियमित दिखाते रहे और दवा लेते रहे. इसे ठीक होने में समय लगता हैं. तनाव में न रहे. तनाव से भी हॉर्मोन में गड़बड़ी होती हैं.

  5. Right overian size 38mm * 24mm, Left overian size 25mm *22mm. B/L ovaries contains multiple cystic follices. No free fluid seen in POD. this report is received but doctor is not advised any thing regarding this. what should i do? is it worry for me.

  6. Hi sir..
    meri Mom ka Right Ovary Ki size 37*24 mm and Left ovary 29*16mm hi.
    Rt Ovary contains a small simple cyst of size 28mm hi..And hmesa urine me Jalan hota hi..or Stomach Mein v jalan bna rhta hi..
    Sir. Plz Iska solution batye..quick reply. Sir

    Address: Gopalganj. Bihar

  7. Hello dr.mere left overy mai Cyst tha dr.ne Opration kiya 3 hapte bad mere right overy mai Cyst hogaya fir mera Opration kiya ab 1 month go gsya Opration ko ab mera pired aaya hai bt jada blooding nhi ho raha kya muze Opration ke bad bhi Cyst ka ho sakti hai plz reply me

  8. Me 20yrs ki hu mujhe B/L PCOD hai, right ovary=17*34*35mm (VOL=10.8cc) and left ovary=29*20*40mm( VOL12.6cc) and no fluid collection in POD
    Thyroid is normal
    Is it worry for me? Is it curable or not?

  9. भावना जी, आपके लक्षणों से यह कैंसर तो नहीं लगता. pcod को ठीक होने में समय लगता है और वह ठीक होने के बाद आपकी समस्या कम हो जाएगी.

  10. Hi… My Name is Priyanka Or Meri age 26 hai meri problem he ki mere period miss ho rahe he am married maine dr. ko b dikhaya unhone pregnancy check b kiya but result negative aya or fir b mere period ho k two months huve abhi tak period nahi huva aisa humesha hota he or abhi mera weight b badh raha he and me pregant b nahi ho rahi hu aisa kyu raha he please meri help ki jiye please

  11. वैष्णवी जी,

    आप अपने शहर के किसी MD Ayurveda डॉक्टर को बताकर आयुर्वेदिक उपचार कराये. आपकी PCOD की तकलीफ 1 वर्ष के भीतर ठीक हो सकती हैं.

  12. Sir Mera Nam Vishal Patil Hai aur mere shadi ko 18 months ho hai hai pickle 8 ya 10 mahine Meri wife ke MC period 2 monthly ho Rahi hai using wajahse mai Aaj doctor ko dikhaya aur kaha ki Aap ke wire ko PCod hai to mai Abhi kya Karu Treatment me chaha hai weight 65 kg hai higher 5.5 hai .
    So tell me right way sir !
    I will waiting for Answer .

  13. Sir./mam
    Mujhe pichle 3 munth se mare period nhi aaya hai
    Sonu grafhy me right ovary 33/11 mm
    N left 38 /15 mm hai
    No free fluid
    N both ovAries show multipal small peripheral follicles with central echogenic stroma
    N kuch dino se mare pet me niche ki tarff halka dard rehta hai n kamar me bht jada dard rehta hai
    Kya ye cancer me covert ho sakta hai
    N koi series probleam ho sakti hai..
    Plz give me ans as soon..
    My age is 26

  14. Dear doctor my age is 31 and i have a baby of 1 year 3 months my delievery was cesarian after that my periods was not normal i bleed heavy after baby birth and now i came to know in ultrasound report that i have 3 centimeter hamaregic cyst in my left ovary but doctor says nothing serious About it what should i do plz rply me immediately

  15. sir/mam plzzz help mai iske bare jyada kuch janta to nai hu but sir meri friend ko ye beemari ho gyi h iske lie koi ilaaj ya koi medician btaie n give me your contact numer n my contact number 7415195727

  16. Myself Pooja and i am 14 yrs old i have been told to get a ultrasound by my doctor for the high bleeding and pain during periods where i have got that my right ovary is 5.83 cms which shows a complex ovarian cyst whereas my left ovary is 4.34 cms so pls tell is it normal if no so what will happen with me and how i can rid of it??

  17. My self I am 25 years old I have irregular menses uterus is anteverted it's 715mm×43mm×36mm in size,right ovary is 36×19×18mm, and volume 6.39cc,left ovary is 33×18×15.5mm,and volume 4.76cc is it norma Is I am suffering from PCOD how can I get pregnant.

  18. M 2 mahine ki pregnant hu . mere pet m bhut dard tha to mne ultrasound karwaya h usme mere cyst btayi h uski jiske karan bachha badh nhi pa rha or bhut kamjor bhi h cyst ki size 7. 8/5. 7 cm h oska ilaaz sambhav h kya

  19. M 32 year unmarried girl, when I was 18 tb se mujhe period time s nhi ate Kabhi kbhi 2,3,ya 4 month tk late hota h, doc ko dikhya altrasound m utras wall thick bataya gya n meri doc hormonal tab northstrone deti h kai saalo S kha rhi hu,totally medicine p depend Ho gyi hu bina med. K ata nahi aur abhi 2 sal se to med lene k bad period ata h but ek bar hone k kuch din bad spotting hone lagti hd fir use rokne k liy doc sysron aur trapic mf deti h plz btay Lucknow m kha dikhau?

Leave a comment

गर्मी में न करे यह 5 योग, हो सकता है नुकसान गर्मी से तंग हैं? इन 5 योग से पाएं राहत ब्लड डोनेशन के फायदे जिनसे आप अनजान हैं ! आँखों से चश्मा हटाने के लिए करे योग Dexona दवा लेनेवाले हो जाए सावधान