आँख आने (EYE FLU) का कारण, लक्षण और ईलाज | Conjunctivitis in Hindi

conjunctivitis causes symptoms treatment remedies Hindi

Conjunctivitis (Eye Flu) जिसे हम सामान्य भाषा में आँख आना या Pink eye कहते हैं, यह बारिश के दिनों में होनेवाली आँखों की एक आम संक्रामक बिमारी हैं। बारिश के मौसम में ज्यादातर मामलों में Viral Conjunctivitis देखा जाता हैं और बहत कम मामलों में यह Bacteria के कारण भी हो सकता हैं।

बारिश के मौसम में जब ज्यादा धुप भी नहीं होती हैं अगर कोई व्यक्ति काला चश्मा पहनता हैं तो लोगो का पहला अनुमान यही होता हैं की शायद उस व्यक्ति की आँख आ गयी हैं। Conjunctivitis के लक्षण, सावधानी और उपचार संबंधी अधिक जानकारी निचे दी गयी हैं :

आँख आने के क्या कारण हैं ? (Conjunctivitis causes in Hindi )

Conjunctivitis के अधिकतर मामलों में कारण Viral infection ही होता है। कुछ मामलों में यह Bacteria या Allergy के कारण भी हो सकता हैं। बैक्टीरिया और वायरस के अलावा Conjunctivitis धुल, मिटटी, केमिकल, धुआ और शैम्पू इत्यादि के एलर्जी के कारण भी हो सकता हैं। एलर्जिक कारणों से होनेवाला Conjunctivitis संक्रामक नहीं होता हैं।

आँख आने के लक्षण क्या है ? (Eye Flu symptoms in Hindi)

Conjunctivitis में निचे दिए हुए लक्षण दिखाई देते हैं :

1. आँखे लाल होना 
2. आँखों में खुजली होना 
3. आँखों से धुधला दिखाई देना 
4. आँखों से पानी आना 
5. आँखों में दर्द होना 
6. आँखों से हरा या सफ़ेद चिपचिपा द्रव निकलने से पलके चिपकना 
7. धुप या तेज रोशनी के प्रति असंवेदनशीलता जिसे Photophobia भी कहा जाता हैं
8. शुरुआत में यह लक्षण एक आँख में नजर आते हैं और एहतियात या ईलाज न करने पर दुसरे आँख में भी फ़ैल सकता हैं। 
9. Conjunctivitis के गंभीर अवस्था में कुछ रोगियों के आँख से खून भी निकल सकता हैं।

क्या आप जानते हैं: Low Blood pressure होने पर क्या करे?

आँख आने पर क्या ईलाज करे ? (Conjunctivitis treatment in Hindi)

Conjunctivitis एक वायरल रोग होने के कारण ज़्यादातर मामलों में हमारी रोग प्रतिकार शक्ति ही इसे 7 से 14 दिनों में ठीक कर देती है परंतु अगर रोगी को तकलीफ़ ज़्यादा है तो डॉक्टर लाक्षणिक चिकित्सा करते है।
1. Antibiotic Eye Drops : डॉक्टर आपको एंटीबायोटिक ड्राप दे सकते जैसे की Gatifloxacin, Ofloxacin, Mahafloxacin आदि जिसकी 2-2 बूँदे दोनों आँखों में हर 2 से 4 घंटों से डालनी होती है। ध्यान रहे कि मेडिकल से बिना डॉक्टर की सलाह से कोई ड्राप न ख़रीदे क्योंकि अक्सर मेडिकल वाले antibiotic और steroid फार्मूला के eye drops देते है जिससे समस्या बढ़ सकती है। अगर एलर्जी के कारण आँख आयी है तो Anti Allergic eye drops दिये जाते है।
2. दर्दनाशक दवा : अगर आँखों में दर्द ज़्यादा है तो डॉक्टर आपको Aceclofenac, Paracetamol, Diclofenac जैसे pain killer दवा दे सकते है जिससे आँखों का दर्द और सूजन दोनों में कमी आ सके। इसके साथ ज़रूरत पड़ने पर डॉक्टर Oral Antibiotic दवा भी दे सकते है।
3. Antacid : दर्दनाशक दवा और एंटीबायोटिक दवा से एसिडिटि बढ़ने का ख़तरा रहता है इसलिए साथ में Omeprazole, Ranitidine या Rabeprazole जैसे एसिडिटि कम करने की दवा भी दी जाती है।
4. Multivitamin : आपकी रोग प्रतिकार शक्ति को बढ़ाने के लिए और शरीर की विटामिन कि ज़रूरत पूरी करने के लिए 15 से 30 दिन के लिए आपको विटामिन की दवा भी दी जा सकती हैं।

आँख आने पर क्या करना चाहिए ? (Conjunctivitis precaution in Hindi)

Conjunctivitis में निचे दी हुई सावधानी बरतनी चाहिए :

1. जाँच: Conjunctivitis के लक्षण नजर आने पर तुरंत नेत्र रोग विशेषज्ञ के पास जाकर जांच कराना चाहिए और दवा / ड्रॉप लेना चाहिए। 
2. सफ़ाई: दिन मे कम से कम 4 से 5 बार स्वच्छ पानी से आँखे साफ़ करे। पीड़ित व्यक्ति को आँखों को छूने के बाद हर वक्त अपने हात अवश्य धोने चाहिए। अपना चश्मा या दवा किसी और के साथ share न करे। रोगी के आँख में दवा डालते समय ख्याल रखे की ड्रोपर का अगला हिस्सा रोगी के आँख या हाथ से संपर्क न करे। दवा डालने के बाद अपना हाथ अच्छे से धो लेना चाहिए। आँखे साफ़ करने के लिए अपना अलग कपडा या disposable tissue का इस्तेमाल करे। 
3. चश्मा: घर से बाहर धुप में निकलने पर Sunglasses या काले चश्मे पहने। 
4. सेक: आँखों में दर्द या सूजन ज्यादा होने पर बर्फ से सेक करे। एक स्वच्छ कपडे में बर्फ लपेट कर भी सेक कर सकते हैं।
5. घर पर रहे: Conjunctivitis होने पर बच्चो को स्कूल या अन्य बच्चों के साथ खेलने न भेजे। बड़े लोगो ने भी घर पर रहकर अन्य लोगो को Conjunctivitis का संक्रमण होने से बचाना चाहिए। 
6. दूरी बनाए: अन्य लोगो को Conjunctivitis के संक्रमण से बचाने के लिए अपने इस्तेमाल किये हुए रुमाल, कपडा, तकिया इत्यादि वस्तु का इस्तेमाल न करने दे। अन्य लोगो से हात न मिलाए। Conjunctivitis ठीक होने के बाद इस्तेमाल किया हुआ ड्रॉप फेक देना चाहिए। 
7. सोना: जिस आँख मे संक्रमण है उस करवट सोए। इससे संक्रमण दूसरी आँख मे नहीं फैलेगा।

जरूर पढे: सेप्टिलीन दवा और सिरप के फायदे और नुकसान

Viral Conjunctivitis फ़ैलाने वाले virus कितने समय तक शरीर के बाहर जिन्दा रह सकते हैं ?

American Academy of Opthalmology अनुसार Viral Conjunctivitis फ़ैलाने वाले virus शरीर के बाहर 24 से 48 घंटों तक जिन्दा रह सकते हैं इसलिए आँख आने पर किसी जगह को छूने पर उसे bleach या जीवाणुरोधी लिक्विड से साफ़ करना चाहिए।

आँख आने पर क्या घरेलू उपाय करे ? (Eye flu home remedies in Hindi)

आँख आने पर घरेलू आयुर्वेदिक नुस्ख़ों को अपनाकर ज़रूर लाभ होता हैं। आँख आने पर क्या घरेलू उपाय हम कर सकते है इसकी जानकारी नीचे दी गयी हैं :
1. गुलाब जल: गुलाब जल की तासीर ठंडी होती हैं। गुलाब जल में रुई भिगोकर आँखो पर रखने से आँखो को ठंडक मिलती है और आँखों के जलन और खुजली की समस्या कम होती हैं।
2. आलू: आलू के पतले टुकड़े कर दिन में दो बार आँखों पर रखने से आँखों में जलन, चुभन और खुजली की समस्या में कमी आती हैं। दिन में दो बार आप यह नुस्ख़ा अपना सकते हैं।
3. हल्दी: हल्दी एक प्रसिद्ध आयुर्वेदिक औषधि हैं। हल्दी के उपयोग से रोग प्रतिरोधक शक्ति बढ़ती है और इसमें anti bacterial और anti viral गुण भी होते हैं। एक ग्लास हल्के गर्म पानी में एक चुटकी हल्दी मिलाकर इसमें रुई भिगोए और आँखों पर इसका सुबह शाम लेप करने से आँखों की जलन और सूजन में कमी आती हैं। रात में एक ग्लास दूध में हल्दी मिलाकर पीने से Eye flu की समस्या भी जल्द ठीक होती हैं।
4. शहद: हल्दी की तरह शहद में भी bacteria और virus विरोधी गुण होते हैं। एक ग्लास पानी में दो चमच्च शहद मिलाकर इस मिश्रण से सुबह शाम आँख धोने से संक्रमण जल्द ठीक होता हैं।
5. बर्फ़: एक स्वच्छ सूती कपड़े में बर्फ़ लपेट कर दिन में तीन से चार बार आँखों का सेक करे। ऐसा करने से आँखों में सूजन, दर्द, खुजली, और चुभन की समस्या से जल्द छुटकारा मिलेगा।

Eye Flu का आयुर्वेदिक ईलाज क्या हैं?

1. त्रिफला काढ़ा नेत्र धावन: Eye Flu मे त्रिफला चूर्ण का काढ़ा बनाकर नेत्रधावन करने से लाभ होता हैं। 1 चम्मच त्रिफला चूर्ण को 2 कप पानी मे अच्छी तरह मिलाकर यह मिश्रण 1 कप हो जाने तक धीमी आंच पर उबालें। बाद मे इसे 4 स्तर के मलमल के कपड़े से छान लें। छाने हुए त्रिफला काढ़े को हल्का गुनगुना रहते हुए ही आँखों को धोने के लिए प्रयोग करें। प्रतिदिन 2 बार त्रिफला काढ़े से आँखों को धोने से आँखों का Eye Flu संक्रमण को जल्द ठीक किया जा सकता हैं।

2. नेत्र रसायन: हररोज सुबह या रात को सोते समय 1 चम्मच त्रिफला चूर्ण को 1 चम्मच शहद और आधा चम्मच देसी घी में मिलाकर चाटकर खाए। यह नेत्र रसायन अर्थात आँखों का टॉनिक हैं। इससे नेत्र बलवान होकर संक्रमण से होने वाली बीमारियाँ से बच सकते हैं और चश्मे का नंबर भी ठीक हो सकता हैं।

Eye Flu में कौन से फल खाना चाहिए ? (Top 5 Best Fruits for Eye Flu in Hindi)

Eye Flu या आँख आने पर नीचे बताए हुए 5 फल खाने चाहिए, यह Eye Flu के लिए सबसे बेहतर फल हैं।

  1. गाजर: गाजर विटामिन ए का एक अच्छा स्रोत है, जो आंखों के लिए बहुत फायदेमंद होता है। विटामिन ए आंखों की रोशनी को बढ़ाता है और रोग प्रतिरोधक शक्ति बढ़ाता है जिस वजह से आंखों के संक्रमण से बचाव होता हैं।
  2. पपीता: पपीता विटामिन सी का एक अच्छा स्रोत है, जो आंखों के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है। विटामिन सी आंखों के संक्रमण से लड़ता है और आंखों को स्वस्थ रखता है।
  3. केला: केला विटामिन बी6 का एक अच्छा स्रोत है। विटामिन बी6 आंखों की मांसपेशियों को मजबूत करता है और आंखों की थकान को दूर करता है।
  4. आंवला: आंवला विटामिन सी का एक अच्छा स्रोत है। विटामिन सी आंखों के संक्रमण से लड़ता है और आंखों को स्वस्थ रखता है।
  5. संतरा: संतरा विटामिन सी का एक अच्छा स्रोत है। यह आँखों स्वस्थ रखने मे मदद करता है और संक्रमण होने पर जल्द ठीक करता हैं।

ऐसे तो Conjunctivitis यह एक सामान्य संक्रामक रोग जो आसानी से ठीक हो जाता हैं पर अगर सही ईलाज और एहतियात नहीं बरते जाए तो पीड़ित अपनी आँखों की रोशनी भी खो सकता हैं। Conjunctivitis के सभी पीड़ित व्यक्तिओ ने डॉक्टर के सलाहनुसार दवा और ड्रॉप लेना चाहिए और अपना संक्रमण किसी और व्यक्ति को नहीं हो इसका ख्याल रखना चाहिए।

खास आपके लिए – ग्रीन टी पिने के फायदे 

अगर आपको यह आँख आना (Conjunctivitis) के कारण, लक्षण ईलाज और सावधानी लेख उपयोगी लगता है और आप समझते है की यह लेख पढ़कर किसी के स्वास्थ्य को फायदा मिल सकता हैं तो कृपया इस लेख को निचे दिए गए बटन दबाकर अपने Whatsapp, Facebook  या Tweeter पर share जरुर करे !

Reference:

  1. Viral Conjunctivitis: https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK470271/
  2. How long can Pink Eye Live on surfaces: https://www.aao.org/eye-health/ask-ophthalmologist-q/how-long-can-pink-eye-live-on-surfaces
  3. Conjunctivitis information for Physicians: https://www.cdc.gov/conjunctivitis/clinical.html
  4. Pink Eye: https://www.mayoclinic.org/diseases-conditions/pink-eye/symptoms-causes/syc-20376355
5/5 - (1 vote)

Leave a comment

लिव 52 दवा के 5 गजब के फायदे हाई ब्लड प्रेशर के लिए 7 बेस्ट योग रोजाना 1 मिनिट भुजंगासन करने से क्या होता हैं ? वृक्षासन योग: आसन एक, फायदे अनेक ! योग निद्रा के फायदे