Metformin in Hindi: मेटफोर्मिन क्या है, उपयोग, दुष्परिणाम और खुराक की जानकारी

Metformin diabetes medicine uses and side effects in Hindi

डायबिटीज (Type 2 Diabetes Mellitus) के उपचार में रक्त में शर्करा की मात्रा (Blood Sugar Level) को नियंत्रण में रखने के लिए मेटफोर्मिन (Metformin) दवा का सबसे अधिक उपयोग किया जाता हैं। लगभग हर टाइप 2 डायबिटीज का रोगी द्वारा इस दवा का एक बार उपयोग अवश्य करता हैं। मेटफोर्मिन दवा क्या हैं, यह कैसे काम करती हैं, इस दवा के फायदे, दुष्परिणाम और खुराक आदि अन्य महत्वपूर्ण जानकारी इस लेख में दी गयी हैं।

ईस लेख मे आप को यह जानकारी मिलेंगी hide

उपयोगी जानकारी: इस फॉर्मूला से जाने आपको Diabetes होने का कितना है खतरा !

मेटफोर्मिन क्या हैं ? (What is Metformin in Hindi)

मेटफोर्मिन यह एक डायबिटीज विरोधी दवा है जिसके कई अन्य उपयोग भी किये जाते हैं। यह मुख्य रूप से टाइप 2 मधुमेह को नियंत्रित करने के लिए इस्तेमाल की जाती है। यह दवा लिवर में शुगर उत्पादन (production) को कम करती है, आंतों से खून में शुगर अवशोषण (absorption) को कम करती है और शरीर की इंसुलिन के प्रति संवेदनशीलता (insulin sensitivity) को बढ़ाती है, जिससे ब्लड शुगर लेवल नियंत्रण में रहती हैं।

जरूर पढ़े : डायबिटीज मे कौन सा योग करना चाहिए | Yoga for Diabetes in Hindi

मेटफोर्मिन का उपयोग (Metformin uses in Hindi)

मेटफोर्मिन के विभिन्न उपयोग एवं फायदे की जानकारी निचे दी गयी हैं:

  • टाइप 2 मधुमेह का इलाज (Type 2 Diabetes): मेटफॉर्मिन को अकेले या अन्य दवाओं के साथ मिलकर मधुमेह को नियंत्रित करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।
  • पीसीओएस (PCOS): पीसीओएस से पीड़ित महिलाओं में यह दवा मासिक धर्म को नियमित करने, इंसुलिन प्रतिरोध (Insulin resistance) को कम करने और प्रेगनेंसी की संभावना बढ़ाने में मदद कर सकती है।
  • वजन कम करने में सहायक (Weight Loss): हालांकि वजन कम करने के लिए मुख्य रूप से इस्तेमाल नहीं की जाती, लेकिन मेटफॉर्मिन कुछ लोगों, खासकर इंसुलिन प्रतिरोध या प्री-डायबिटीज वालों में मामूली वजन घटाने में मदद कर सकती है। इसका इस्तेमाल डॉक्टर की सलाह लेकर ही करना चाहिए।

पढ़े: PCOD का कारण, लक्षण और ईलाज | PCOD symptoms in Hindi

मेटफोर्मिन दवा की खुराक कैसे लेना चाहिए ? (Metformin dosage in Hindi)

मेटफोर्मिन दवा लेते समय निचे दी हुई बातों को ध्यान में रखे:

  1. मेटफोर्मिन की खुराक (Metformin dose): मेटफॉर्मिन की खुराक हर व्यक्ति के लिए अलग-अलग हो सकती है। आमतौर पर मेटफोर्मिन दवा का डोज़ 500 mg से शुरू किया जाता है और अधिकतम दिनभर में 2 से 3 ग्राम तक बढ़ाया जाता हैं। इसका डोज़ आपकी डायबिटीज की स्थिति, शरीर की प्रतिक्रिया और अन्य कारकों पर निर्भर करती है। आमतौर पर, डॉक्टर इसे भोजन के साथ दिन में 1 या 2 बार लेने की सलाह देते हैं। खुराक धीरे-धीरे बढ़ाई जा सकती है।
  2. निर्देशों का पालन करे (Follow instructions): दवा के लेबल और साथ दी गई जानकारी को ध्यान से पढ़ें। डॉक्टर कभी-कभी खुराक में बदलाव कर सकते हैं। दवा को निर्देशानुसार ही लें।
  3. दवा को खाने के साथ या खाने के बाद ले (Take after meal): मेटफॉर्मिन की कुछ खुराक दिन में सिर्फ एक बार शाम के खाने के साथ या खाने के बाद ही लेनी होती है। अगर दवा दूसरी दवा के साथ कॉम्बिनेशन में है तो खाने के पहले लेनी हो सकती हैं ,अपने डॉक्टर के निर्देशों का पालन करें या लेने से पहले कब लेना है पूछ लीजिए।
  4. पूरी दवा ले (Take whole tablet): टैबलेट को तोड़ें, चबाएं या कुचलें नहीं। इसे पूरी तरह से निगल लें। अक्सर यह दवा Sustain release form में होती है जिसे तोड़ने से इसका असर कम हो जाता हैं।
  5. तरल दवा को ध्यान से नापें (Measure properly): खुराक नापने से पहले घोल को अच्छी तरह से हिलाएं। दवा की खुराक नापने के लिए दिए गए सिरिंज का ही इस्तेमाल करें या दवा की खुराक मापने वाले उपकरण का उपयोग करें (रसोई के चम्मच का उपयोग न करें)।
  6. घबराए नहीं (Do not fear): कुछ गोलियों में एक बाहरी परत (layer) होती है जो शरीर में घुल नहीं पाती। यह मल में दिखाई दे सकती है। यह सामान्य बात है और इससे दवा का असर कम नहीं होता है।
  7. शुगर कम होना (Hypoglycemia): समय पर न खाना या दवा का अधिक मात्रा में लेने से आपको निम्न रक्त शर्करा (हाइपोग्लाइसीमिया) हो सकता है और आप बहुत भूख लगना, चक्कर आना, चिड़चिड़ापन, भ्रम, घबराहट या कंपन महसूस कर सकते हैं। हाइपोग्लाइसीमिया का जल्दी इलाज करने के लिए, चीनी का जल्दी से असर करने वाला स्रोत (फलों का रस, हार्ड कैंडी, शक़्कर, किशमिश, या नॉन-डाइट सोडा) खाएं या पिएं।
  8. रखाव (Storage): दवा को कमरे के तापमान पर नमी, गर्मी और प्रकाश से दूर रखें। इसे फ्रिज में रखने की जरुरत नहीं हैं।

क्या आप जानते हैं: Diabetes में कैसा Diet लेना चाहिए ?

मेटफोर्मिन का दुष्परिणाम क्या हैं ? (Metformin side effects in Hindi)

मेटफोर्मिन दवा से होनेवाले दुष्परिणाम की जानकारी:

  1. एलर्जी (Allergy): अगर आपको मेटफोर्मिन दवा से एलर्जी है तो मेटफोर्मिन दवा लेने पर पुरे बदन में खुजली होना, शरीर पर लाल चकते या rashes आना, सूजन, चक्कर आना आदि लक्षण दिखाई देते हैं। अगर आपको पहले मेटफोर्मिन की एलर्जी है तो अपने डॉक्टर को इसकी जानकारी देना चाहिए।
  2. लैक्टिक एसिडोसिस: मेटफोर्मिन दवा लेने से कुछ लोगो में Lactic acidosis जैसे गंभीर दुष्परिणाम हो सकते है जिसका इमरजेंसी में इलाज लेना जरुरी होता हैं। लैक्टिक एसिडोसिस के लक्षण है सांस लेने में तकलीफ, कमजोरी, पेट दर्द और अनियमित दिल की धड़कन शामिल हैं। अगर आपको ऐसे लक्षण दिखाई दें तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।
  3. पाचन (Digestion): मेटफोर्मिन से ज्यादातर लोगों को पाचन से जुडी समस्या होती है और इसलिए यह दवा खाने के साथ या खाने के बाद लेने की सलाह दी जाती हैं। कुछ लोगों को मेटफॉर्मिन लेने से पेट खराब हो सकता है, जैसे मिचली आना, दस्त होना या पेट में दर्द होना। ये दुष्प्रभाव आम तौर पर हल्के होते हैं और कुछ समय बाद ठीक हो जाते हैं। समस्या अधिक होने पर डॉक्टर या तो आपकी दवा में बदलाव करते है या फिर दवा की खुराक कम करते हैं।
  4. शुगर कम होना (Hypoglycemia): अगर आप मेटफोर्मिन या अन्य कोई डायबिटीज की दवा लेने के बाद खाना नहीं खाते है या भूल से दवा की ज्यादा खुराक लेते है तो रक्त में शुगर की मात्रा कम होने से Hypoglycemia की स्तिथि निर्माण हो सकती हैं। आपको ऐसी भूल कभी नहीं करना चाहिए।
  5. विटामिन बी १२ की कमी (Vitamin B12 deficiency): अधिक समय तक मेटफोर्मिन दवा लेने से विटामिन B12 की कमी हो जाती है इसलिए डॉक्टर डायबिटीज की दवा के साथ इस विटामिन की दवा हमेशा देते हैं।

उपयोगी जानकारी: Insulin का injection कैसे और कहाँ देना चाहिए ?

मेटफोर्मिन दवा से जुड़े सवालों के जवाब (Metformin FAQ in Hindi)

क्या मेटफॉर्मिन से वजन कम होता है?

Metformin से वजन कम होता है पर वजन कम करने के लिए मुख्य रूप से इस दवा का इस्तेमाल नहीं किया जाता हैं। यह भूख कम करके और शरीर द्वारा कैलोरी को जलाने के तरीके को बदलकर वजन कम करने में मदद कर सकती है। हालांकि, यह एक वजन घटाने वाली दवा नहीं है। डॉक्टर की राय से ही इसका इस्तेमाल करना चाहिए।

क्या मेटफॉर्मिन सुरक्षित दवा है?

कई वर्षों से मेटफोर्मिन का डायबिटीज के नियंत्रण के लिए उपयोग विश्वभर में किया जा रहा हैं। मेटफोर्मिन के कुछ संभावित दुष्प्रभाव हो सकते हैं, जैसे कि विटामिन B12 की कमी और लंबे समय तक उपयोग के साथ किडनी की समस्याओं का खतरा बढ़ जाना। अपने डॉक्टर के साथ नियमित रूप से चेकअप करवाना और किसी भी दुष्प्रभाव की रिपोर्ट करना महत्वपूर्ण है।

जरूर पढ़े: डायबिटीज की कौन सी दवा कब लेना चाहिए ?

क्या गर्भवती या स्तनपान कराने वाली महिलाएं मेटफॉर्मिन ले सकती हैं?

गर्भावस्था के दौरान मेटफॉर्मिन का उपयोग आम तौर पर सुरक्षित नहीं माना जाता है। यदि आप गर्भवती हैं या गर्भवती होने की योजना बना रही हैं, तो अपने डॉक्टर से अन्य उपचार विकल्पों के बारे में बात करें। स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए, मेटफॉर्मिन को आम तौर पर सुरक्षित माना जाता है, लेकिन डॉक्टर से परामर्श करना फिर भी जरूरी है।

क्या मधुमेह या पीसीओएस के इलाज में सिर्फ मेटफॉर्मिन ही काफी है?

कुछ मामलों में, मेटफॉर्मिन अकेले ही ब्लड शुगर या पीसीओएस के लक्षणों को नियंत्रित करने के लिए पर्याप्त हो सकती है। यह ध्यान में रखे की कई लोगों को अपने रक्त शर्करा या लक्षणों को प्रभावी ढंग से प्रबंधित करने के लिए मेटफॉर्मिन के साथ अन्य दवाओं की आवश्यकता हो सकती है।

फैमिली को सुरक्षा दे: Diabetes के रोगी अब ले सकते है Term Plan

मेटफॉर्मिन कितनी सस्ती है?

मेटफॉर्मिन आम तौर पर एक जेनेरिक दवा के रूप में उपलब्ध है, जो इसे अन्य मधुमेह की दवाओं की तुलना तुलनात्मक रूप से सस्ती बनाती है। दवा की कीमत ब्रांड, खुराक, और आप इसे कहां से खरीदते हैं जैसे कारकों के आधार पर भिन्न हो सकती है।

क्या मेटफॉर्मिन लेते समय शराब पीना सुरक्षित है?

शराब का सेवन रक्त शर्करा के स्तर को प्रभावित कर सकता है और लैक्टिक एसिडोसिस के खतरे को बढ़ा सकता है। इसलिए, मेटफॉर्मिन लेते समय शराब सेवन से बचना या कम से कम करना सबसे अच्छा है।

पढ़े: HbA1c test क्या हैं | HbA1c test in Hindi

क्या मेटफोर्मिन किडनी को नुकसान पहुंचाता है?

सुरक्षित डोज़ में मेटफोर्मिन आमतौर पर किडनी को नुकसान नहीं पहुंचाता है, लेकिन अधिक डोज़ में और बिना निगरानी के कुछ मामलों में यह किडनी को नुकसान पहुंचा सकता है। यह महत्वपूर्ण है कि आप मेटफोर्मिन लेने से पहले अपने डॉक्टर से बात करें, खासकर यदि आपको पहले से ही किडनी की बीमारी है।

मेटफोर्मिन का सबसे गंभीर दुष्प्रभाव क्या है?

मेटफोर्मिन का सबसे गंभीर दुष्प्रभाव लैक्टिक एसिडोसिस है, जो एक दुर्लभ लेकिन गंभीर स्थिति है। लैक्टिक एसिडोसिस तब होता है जब शरीर में लैक्टिक एसिड का स्तर बहुत अधिक बढ़ जाता है।

क्या आपको जानकारी हैं: Diabetes में कौन सी exercise करे ?

मेटफोर्मिन की गोली लेना भूल जाए तो क्या करे ?

जैसे ही आपको याद आए कि आप गोली लेना भूल गए हैं, तुरंत गोली लें। यदि आपकी अगली खुराक का समय निकट है, तो केवल एक गोली लें। भूली हुई खुराक के लिए कभी भी दो गोली एक साथ न लें। इससे लैक्टिक एसिडोसिस का खतरा बढ़ सकता है, जो एक गंभीर दुष्प्रभाव है। यदि आप लगातार खुराक भूल रहे हैं, तो अपने डॉक्टर से संपर्क करें। वे आपकी खुराक या दवा के समय को बदलने में मदद कर सकते हैं।

आप एक दिन में कितना मेटफॉर्मिन ले सकते हैं?

मेटफोर्मिन की अधिकतम खुराक जो आप एक दिन में ले सकते हैं, वह आपके डॉक्टर द्वारा निर्धारित की जाएगी। यह आपके डायबिटीज के नियंत्रण, आपके स्वास्थ्य की स्थिति और आपके द्वारा ली जा रही अन्य दवाओं पर निर्भर करेगा। आमतौर पर, मेटफोर्मिन की अधिकतम खुराक वयस्कों के लिए प्रतिदिन 2,550 मिलीग्राम (मिलीग्राम) होती है। कुछ मामलों में, डॉक्टर प्रतिदिन 3,000 मिलीग्राम तक की खुराक लिख सकते हैं।

जरूर पढ़े: मधुमेह में क्या खाएं और क्या न खाएं? | Diabetes diet chart in Hindi

मेटफोर्मिन डायबिटीज को नियंत्रित करने में बहुत प्रभावी दवा है। यह ब्लड शुगर के स्तर को कम करने में मदद करता है और मधुमेह की जटिलताओं के खतरे को कम करता है। अपनी खुराक नियमित रूप से लेना और अपने डॉक्टर के निर्देशों का पालन करना महत्वपूर्ण है ताकि यह दवा अच्छी तरह से काम कर सके।

उपयोगी जानकारी: मधुमेह के रोगियों के लिए 10 सर्वश्रेष्ठ फल | Top 10 Best Fruits for Diabetes

अगर आपको यह जानकारी उपयोगी लगती है तो कृपया इसे शेयर जरूर करे। अगर आपको मेटफोर्मिन दवा या डायबिटीज को लेकर कोई सवाल है तो निचे कमेंट में जरूर पूछे।

Leave a comment

अस्थमा अटैक से घबराते हैं? अब नहीं होगा अटैक, आजमाएं ये 9 योग ट्रिक