सोडियम की कमी के लक्षण, कारण और इलाज | Low Sodium in Hindi

low sodium symptoms and treatment in Hindi

सोडियम (Sodium) एक ऐसा तत्व है जो की हमारे शरीर के लिए बेहद आवश्यक हैं। सोडियम की कमी (Low Sodium) शरीर के लिए काफी नुक्सानदायक हो सकती हैं। एक वयस्क के रक्त में 135 से 148 मिली मॉलिक्यूल सोडियम का प्रमाण होना चाहिए। यह मात्रा घटकर 118 के निम्न स्तर पर आ जाये तो इसे शरीर में सोडियम की गंभीर कमी या Severe Hyponatremia कहा जाता हैं।

शरीर में सोडियम की कमी की स्तिथि में रोगी को फ़ौरन इलाज की जरुरत रहती हैं। हमारे शरीर में सोडियम का काम मांसपेशियों और दिमाग की नसों को नियंत्रित करना होता हैं। सोडियम शरीर में तभी काम कर पाता हैं जब मैग्नीशियम, पोटैशियम का प्रमाण भी इसी के समान नियंत्रित हो। सोडियम का प्रमुख आहार स्त्रोत नमक हैं।

शरीर में सोडियम की कमी के कारण, लक्षण और उपचार की अधिक जानकारी निचे दी गयी हैं :

शरीर में सोडियम की कमी के लक्षण क्या हैं ? (Sodium ki kami ke lakshan)

शरीर में सोडियम की मात्रा पर्याप्त से कम होने पर निचे दिए हुए लक्षण नजर आते हैं :

  1. थकान
  2. सुस्ती
  3. मांसपेशियों में अकडन
  4. भूक कम लगना
  5. बोलने में तकलीफ
  6. संभ्रम की स्तिथि
  7. बेहोशी

उपयोगी जानकारी: Kidney Failure के रोगी क्या खाये और क्या नहीं ?

शरीर में सोडियम की कमी होने के क्या कारण हैं ? (Sodium Deficiency symptoms in Hindi)

शरीर में सोडियम की कमी होने के कारण निचे दिए गए हैं :

  1. उम्र (Age): शरीर में सोडियम की कमी अक्सर उम्रदराज लोगों में अधिक देखी जाती आहार।
  2. आहार (Diet): आहार द्वारा शरीर में नमक और सोडियम युक्त आहार की कमी के कारण शरीर में सोडियम की कमी हो जाती हैं।
  3. दवा (Medicine): डायबिटीज और हाई ब्लड प्रेशर के रोगी को अक्सर अधिक पेशाब होनेवाली (Diuretic) दवा दी जाती हैं जिससे रोगी को अधिक पेशाब होता हैं जिसमे सोडियम अधिक मात्रा में शरीर से बाहर जाने से भी शरीर में सोडियम की कमी हो सकती हैं।
  4. रोग (Disease): लिवर, किडनी या ह्रदय में खराबी आने पर शरीर में पानी का प्रमाण अधिक बढ़ जाने से भी शरीर में सोडियम की कमी आ सकती हैं।
  5. Adrenal Gland : एड्रेनल ग्लैंड सही तरीके से काम न करने से शरीर में सोडियम की कमी हो सकती हैं।
  6. पानी की कमी (Dehydration): अधिक उलटी या जुलाब / डायरिया होने से शरीर में पानी की कमी होने से सोडियम की कमी हो सकती हैं।
  7. पसीना (Sweating): गर्मी के दिनों में या अधिक परिश्रम करने से बेहद ज्यादा पसीना आनेपर भी शरीर में सोडियम की कमी हो सकती हैं

क्या आप जानते हैं: किडनी रोग से बचने के उपाय

खून में सोडियम का सामान्य स्तर कितना हैं? (Sodium normal level chart in Hindi)

सामान्य सोडियम स्तर (Normal Sodium Level)135 to 145 mEq/L
सोडियम की कमी (Hyponatremia)<135 mEq/L
सोडियम की अधिकता (Hypernatremia)> 145 mEq/L

शरीर में सोडियम की कमी का इलाज क्या हैं? (Sodium Deficiency treatment in Hindi)

डॉक्टर सर्वप्रथम Serum Electrolytes रक्त जांच कर शरीर में सोडियम की कमी है या नहीं इसका निदान करते हैं। शरीर में सोडियम की कमी व्यक्ति में 2 तरह से पूरी की जाती हैं। इसकी जानकारी निचे दी गयी हैं :

  1. आहार / Diet : अगर रोगी आहार खाने की स्तिथि में है और शरीर में सोडियम की कमी बेहद ज्यादा नहीं है तो रोगी को सोडियम सप्लीमेंट जैसे नमक से बनी चीजे दी जाती हैं। डॉक्टर की सलाह से आप सोडियम टेबलेट्स, नमकीन बिस्कुट, पापड़ जैसे पदार्थ दे सकते हैं।
  2. दवा / Injection : अगर शरीर में सोडियम की कमी अधिक है और रोगी बेहोश होने के कारण कोई आहार लेने की स्तिथि में नहीं है तो उसे सलाइन लगाकर सोडियम का इंजेक्शन लगाया जाता हैं।

शरीर में सोडियम की कमी होने से रोकने के लिए क्या करे ? (Tips to prevent Sodium Deficiency in Hindi)

  • दिनभर में 6 ग्राम से ज्यादा मात्रा में नमक न ले।
  • गर्मी के दिनों में या अधिक परिश्रम होने पर शरीर में पानी की कमी को रोकने के लिए पानी या निम्बू पानी पिटे रहे।
  • बुजुर्ग व्यक्ति को थोड़ा-थोड़ा आहार क्षमतानुसार खिलाते रहे।

शरीर में सोडियम की कमी के कोई भी लक्षण नजर आने पर तुरंत डॉक्टर को दिखाए। शरीर में सोडियम की कमी (Low Sodium) होने से व्यक्ति कोमा में जा सकता है या रोगी की मृत्यु भी हो सकती है।

क्या आपको पता हैं: प्रोटीन पाउडर के क्या नुकसान हैं ?

शरीर में सोडियम की कमी होने के क्या दुष्परिणाम हैं?

शरीर में सोडियम की कमी होने के कई दुष्परिणाम हो सकते हैं, जिनमें शामिल हैं:

  • सिरदर्द: सोडियम की कमी से मस्तिष्क में सूजन हो सकती है, जिससे सिरदर्द हो सकता है।
  • थकान: सोडियम की कमी से मांसपेशियों को ऊर्जा प्राप्त करने में कठिनाई हो सकती है, जिससे थकान हो सकती है।
  • कमजोरी: सोडियम की कमी से मांसपेशियों का कमजोर होना हो सकता है।
  • मांसपेशियों में ऐंठन: सोडियम की कमी से मांसपेशियों में ऐंठन हो सकती है।
  • भ्रम: सोडियम की कमी से मस्तिष्क के कार्यों में बाधा आ सकती है, जिससे भ्रम हो सकता है।
  • चेतना में कमी: सोडियम की कमी से चेतना में कमी आ सकती है, यहां तक ​​कि कोमा (Coma) भी हो सकता है।

यदि शरीर में सोडियम की कमी गंभीर हो जाए, तो यह निम्नलिखित जटिलताओं (Complications) हो सकते हैं:

  • दौरे: सोडियम की कमी से दौरे पड़ सकते हैं।
  • कोमा: सोडियम की कमी से कोमा हो सकता है।
  • मृत्यु: सोडियम की कमी से मृत्यु हो सकती है।

योग से भगाये रोग: सेतुबंधासन योग (Bridge pose) – कमरदर्द का रामबाण उपाय !

शरीर में सोडियम कम हो तो क्या खाना चाहिए?

सोडियम एक महत्वपूर्ण इलेक्ट्रोलाइट है जो शरीर के कई कार्यों के लिए आवश्यक है, जैसे कि रक्तचाप को नियंत्रित करना, मांसपेशियों के कार्य को नियंत्रित करना और तंत्रिका संकेतों को संचारित करना।

शरीर में सोडियम के स्तर को बढ़ाने के लिए, आपको अपने आहार में अधिक सोडियम युक्त खाद्य पदार्थ शामिल करने चाहिए। सोडियम के अच्छे स्रोतों में शामिल हैं:

  • नमक (सोडियम क्लोराइड)
  • मांस
  • मछली
  • अंडे
  • पनीर
  • डेयरी उत्पाद
  • ब्रेड
  • अनाज
  • सोया उत्पाद

आप अपने आहार में सोडियम की मात्रा को बढ़ाने के लिए निम्नलिखित सुझावों का भी पालन कर सकते हैं:

  • अपने भोजन में नमक डालना शुरू करें।
  • सोडियम युक्त मसाले और सॉस का उपयोग करें।
  • सोडियम युक्त स्नैक्स खाएं।

हालांकि, यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि बहुत अधिक सोडियम का सेवन करने से आपका Blood Pressure बढ़ सकता है, जिससे हृदय रोग और स्ट्रोक का खतरा बढ़ सकता है। इसलिए, सोडियम का सेवन करते समय सावधानी बरतना महत्वपूर्ण है।

शरीर में सोडियम के स्तर को बढ़ाने के लिए कुछ विशिष्ट खाद्य पदार्थों की सूची निम्नलिखित है:

  • नमकीन नट्स और बीज: बादाम, अखरोट, काजू, बादाम, मूंगफली, तिल, सूरजमुखी के बीज
  • सॉस और मसाले: सोया सॉस, सोया सॉस, टमाटर सॉस, चिली सॉस, सरसों, अचार, जैम
  • संरक्षित खाद्य पदार्थ: डिब्बाबंद भोजन, पैकेज्ड स्नैक्स, प्रोसेस्ड मांस
  • सीफूड: नमकीन मछली, झींगा, सीप, समुद्री शैवाल
  • डेयरी उत्पाद: पनीर, दही, मक्खन
  • अंडे: उबले अंडे, ऑमलेट, अंडे का सॉस
  • अनाज: नमकीन ब्रेड, नमकीन अनाज, नमकीन पफ
  • मसाले: अदरक, लहसुन, हल्दी, धनिया

योग के फायदे जाने: हड्डियां मजबूत करेंगे यह 7 योग

सोडियम की कमी से ठीक होने में कितना समय लगता है?

सोडियम की कमी से ठीक होने में लगने वाला समय सोडियम की कमी की गंभीरता पर निर्भर करता है। यदि सोडियम की कमी मामूली है, तो इसे कुछ दिनों या हफ्तों में ठीक किया जा सकता है। यदि सोडियम की कमी गंभीर है, तो इसे ठीक होने में कई सप्ताह या महीने लग सकते हैं।

सोडियम की कमी को ठीक करने के लिए, डॉक्टर निम्नलिखित उपचारों की सिफारिश कर सकते हैं:

  • नसों में सोडियम युक्त तरल पदार्थ डालना: यह सोडियम के स्तर को जल्दी से बढ़ाने का सबसे प्रभावी तरीका है। डॉक्टर 1.6% Normal Saline लगा सकते हैं।
  • सोडियम युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन बढ़ाना: यह सोडियम के स्तर को धीरे-धीरे बढ़ाने का एक तरीका है।
  • मूत्रवर्धक (Diuretic) दवाओं की खुराक कम करना: यदि सोडियम की कमी मूत्रवर्धक दवाओं के उपयोग के कारण है, तो डॉक्टर मूत्रवर्धक दवाओं की खुराक कम करने की सलाह दे सकते हैं।

यदि आपके शरीर में सोडियम कम होने के लक्षण हैं, तो अपने डॉक्टर से सलाह लेना महत्वपूर्ण है।

अगर आपको यह लेख उपयोगी लगता है तो कृपया इस लेख को निचे दिए गए बटन दबाकर अपने Facebook, Whatsapp या Tweeter account पर share करे !

References:

  1. The health impacts of dietary sodium and a low-salt diet: https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4953267/
  2. Sodium and Your Health: https://www.cdc.gov/salt/index.htm
  3. Hyponatremia (NCBI): https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK470386/#:~:text=Hyponatremia%20is%20defined%20as%20a,to%20total%20body%20sodium%20content.

Leave a comment

किडनी ख़राब होने के यह है प्रमुख 7 लक्षण