काला चना खाने के 7 चमत्कारी फायदे | Kale Chane ke Fayde

Kale chane ke fayde

काला चना को अंग्रेजी में Black Chickpeas कहा जाता हैं। काले चने को साबुत और अंकुरित कर दोनों तरह से उपयोग कर सकते हैं। काले चने को अंकुरित करने पर इसमें पोषक तत्वों का प्रमाण बढ़ जाता हैं। शरीर को स्वस्थ रखने के साथ-साथ डायबिटीज, हृदयरोग और खून की कमी को दूर करने में भी काला चना लाभकारी हैं।

ईस लेख मे आप को यह जानकारी मिलेंगी hide
2) काला चना से जुड़े सवालों के जवाब

काले चने में विटामिन, प्रोटीन के साथ में फाइबर अधिक मात्रा में होने से कब्ज और पाचन से जुडी समस्या नहीं होती हैं। शाकाहारी लोगों के लिए यह प्रोटीन का एक अच्छा स्त्रोत हैं। काले चने का सेवन हम सब्जी, छोले, दाल, बेसन और सत्तू बनाकर भी कर सकते हैं।

काला चना खाने से हमारे शरीर को क्या क्या फायदे होते है इसकी जानकारी नीचे दी गयी हैं :

काला चना खाने के 7 चमत्कारी फायदे (Kala chana khane ke fayde)

काला चना खाने से होनेवाले स्वास्थ्य लाभ की जानकारी इस प्रकार हैं :

काला चना खाने से बढ़ते है मसल्स (Kala Chana for Muscle growth)

अगर आप बॉडी बनाना चाहते है या अपने मसल्स को मजबूत और growth करना चाहते है तो व्यायाम करने के आधे घंटे बाद एक कटोरी काले चने भी खा सकते हैं। एक कटोरी काले चने में औसतन 15 से 20 ग्राम प्रोटीन होता हैं। प्रोटीन मसल्स को मजबूत बनाने के साथ हमारे शरीर के लिए भी जरुरी होता हैं।

अवश्य पढ़े – बॉडी बनाने के लिया क्या खाना चाहिए ?

काला चना खाने से दूर होगी खून की कमी (Kala Chana for increasing Blood)

एक कप काला चना में 4.7 mg लोह तत्व (Iron) और 282 mcg folate होता हैं। शरीर में हीमोग्लोबिन की कमी को दूर करने के लिए आप काले चने का सेवन कर सकते हैं। विशेषकर गर्भावस्था में महिला को यह बेहद उपयोगी आहार हैं।

अवश्य पढ़े – खून की कमी दूर करने के लिए क्या खाना चाहिए ?

काला चना खाने से दूर होगी वीर्य की कमी (Kala Chana increases Sperm count)

शरीर को मजबूत बनाने के साथ वीर्य की पृष्टि के लिए भी काले चने का सेवन करने की सलाह आयुर्वेद में दी गयी हैं। रोजाना 25 से 50 gm चने अच्छे से चबाकर खाने के बाद एक ग्लास गुनगुना दूध एक चमच्च हल्दी डालकर पीने से वीर्य की संख्या और गुणवत्ता में सुधार होता हैं।

क्या आप जानते हैं वीर्य की संख्या कैसे बढ़ाए ?

काला चना खाने से नियंत्रित होगा कोलेस्ट्रॉल (Kala Chana Lowers Bad Cholesterol)

काले चने का हफ्ते में 2 से 3 बार सेवन करने से शरीर में कोलेस्ट्रॉल का स्तर भी नियंत्रण में रहता हैं। कोलेस्ट्रॉल नियंत्रण में रहने से ह्रदय रोग होने का खतरा कम हो जाता हैं।

जरूर पढे: LDL (Bad) Cholesterol कम करने के ईलाज और डाइट चार्ट

काला चना खाने से नहीं होंगे त्वचा रोग (Kala Chana for healthy Skin)

बिना नमक डाले काले चने खाने से आपकी त्वचा सुन्दर और मुलायम होती हैं। कई त्वचा रोग को दूर करने में भी यह लाभकारी हैं।

काला चना खाने से वजन बढ़ता है (Kala Chana for Weight gain)

जो लोग दुबले पतले है और अनेक प्रयास के बाद भी अपना वजन और शरीर नहीं बढ़ा सक रहे है उनके लिए काला चना बेहद उपयोगी हैं। रोजाना अंकुरित चना खाने से वजन बढ़ाने में मदद मिलती हैं।

जरूर पढ़े वजन बढ़ाने के लिए खाए यह 6 फल

काला चना खाने से बढ़ती है रोग प्रतिकार शक्ति (Kala Chana increases Immunity)

जो लोग आसानी से बीमार पड़ जाते है या जो बच्चे जल्द सर्दी खांसी पकड़ लेते है उन्हें काले चने अपने आहार में जरूर शामिल करना चाहिए। रोग प्रतिरोधक शक्ति को मजबूत करने के लिए काले चने बेहद उपयोगी हैं।

काला चना से जुड़े सवालों के जवाब

क्या चना खाने से वीर्य बढ़ता हैं?

हाँ, चना खाने से वीर्य बढ़ सकता है। चने में कई ऐसे पोषक तत्व होते हैं जो वीर्य उत्पादन (production) और गुणवत्ता (quality) में सुधार करने में मदद करते हैं। इनमें शामिल हैं:
1. प्रोटीन: चना एक प्रोटीन का अच्छा स्रोत है, जो शुक्राणुओं के निर्माण के लिए आवश्यक है।
2. जिंक: जिंक एक खनिज है जो शुक्राणुओं की संख्या और गतिशीलता को बढ़ाने में मदद करता है।
3. फाइबर: फाइबर शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करता है, जो वीर्य की गुणवत्ता में सुधार कर सकता है।
4. विटामिन सी: विटामिन सी एक एंटीऑक्सिडेंट है जो शुक्राणुओं को नुकसान से बचाने में मदद करता है।

काले चने में प्रोटीन की मात्रा कितनी हैं?

काले चने में प्रोटीन की मात्रा 100 ग्राम में 15 ग्राम होती है। यह एक अच्छी मात्रा है, क्योंकि एक वयस्क पुरुष को प्रति दिन लगभग 56 ग्राम प्रोटीन की आवश्यकता होती है।

भीगे हुए काले चने खाने के क्या फायदे हैं?

भीगे हुए काले चने को रात भर पानी में भिगोकर रखा जाता है, जिससे उनमें पोषक तत्वों की मात्रा बढ़ जाती है। भीगे हुए काले चने को कई तरह से खाया जा सकता है, जैसे कि सलाद में, सूप में, या स्मूदी में। भीगे हुए काले चने मे फाइबर, प्रोटीन, जिंक, और लोह तत्व की मात्रा अधिक होती हैं।

काले चने का सेवन कैसे करें?

काले चने का सेवन कई तरह से किया जा सकता है, जिनमें शामिल हैं:
1. भीगे हुए चने: भीगे हुए चने को रात भर पानी में भिगोकर रखा जाता है, जिससे उनमें पोषक तत्वों की मात्रा बढ़ जाती है। भीगे हुए चने को सलाद में, सूप में, या स्मूदी में डालकर खाया जा सकता है।
2. उबले हुए चने: उबले हुए चने को पानी में उबालकर बनाया जाता है। उबले हुए चने को सलाद में, सूप में, या स्नैक्स के रूप में खाया जा सकता है।
3. भुने हुए चने: भुने हुए चने को तेल या घी में भूनकर बनाया जाता है। भुने हुए चने को स्नैक्स के रूप में खाया जा सकता है।
4. चना दाल: चना दाल को चने को पीसकर बनाया जाता है। चना दाल को चावल, रोटी, या अन्य अनाज के साथ खाया जा सकता है।

चना कब नहीं खाना चाहिए?

चने एक पौष्टिक भोजन है, लेकिन कुछ स्थितियों में इसका सेवन करने से बचना चाहिए। चने कब नहीं खाना चाहिए, इसके कुछ कारण निम्नलिखित हैं:
1. पेट की समस्याएं: चने में कुछ ऐसे कंपाउंड होते हैं जो ठीक से पच नहीं पाते हैं। इसलिए, जिन लोगों को गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल समस्याएं हैं, जैसे कि पेट दर्द, गैस, या कब्ज, उन्हें चने खाने से बचना चाहिए।
2. यूरिक ऐसिड बढ़ने पर: चने में प्यूरीन होते हैं, जो शरीर में यूरिक एसिड के स्तर को बढ़ा सकते हैं। गाउट से पीड़ित लोगों को चने खाने से बचना चाहिए, क्योंकि इससे उनके लक्षणों में वृद्धि हो सकती है।
3. एलर्जी: कुछ लोगों को चने से एलर्जी हो सकती है। यदि आपको चने से एलर्जी है, तो आपको चने खाने से बचना चाहिए।

काले चने शरीर के लिए गर्म या ठंडे होते हैं?

आयुर्वेद के अनुसार, काले चने शरीर के लिए गर्म होते हैं। काले चने में प्रोटीन, आयरन, फाइबर, और कई अन्य पोषक तत्व होते हैं, जो शरीर को गर्मी प्रदान करने में मदद करते हैं। सर्दियों में काले चने का सेवन करने से शरीर को गर्मी मिलती है और ठंड से बचाव होता है।

चना खाने का सबसे अच्छा समय क्या है?

चने खाने का सबसे अच्छा समय नाश्ते में होता है। नाश्ते में चने खाने से आपको दिन भर ऊर्जा मिलती है और आपका पाचन तंत्र भी मजबूत होता है।

चना कितने घंटे भिगोना चाहिए?

चने को कम से कम 6 घंटे तक भिगोना चाहिए। यदि आप चने को रात भर भिगोते हैं, तो इससे उन्हें पकाना आसान हो जाएगा और वे अधिक पौष्टिक भी हो जाएंगे। यदि आप चने को कम समय तक भिगोते हैं, तो वे कठोर रह सकते हैं और उन्हें पकाने में अधिक समय लग सकता है।

क्या काला चना खाने के बाद दूध पी सकते हैं?

कुछ लोगों का मानना है कि काला चना और दूध एक साथ खाने से पेट खराब हो सकता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि काले चने में फाइबर की मात्रा अधिक होती है, जो दूध में मौजूद कैल्शियम के साथ मिलकर पेट में गैस और कब्ज का कारण बन सकता है। हालांकि, यह केवल कुछ लोगों के लिए ही समस्या का कारण बनता है।
यदि आपको काला चना और दूध एक साथ खाने से कोई समस्या नहीं होती है, तो आप दोनों को एक साथ खा सकते हैं। हालांकि, यदि आपको कोई समस्या होती है, तो आप दोनों को अलग-अलग खाने की कोशिश कर सकते हैं।

उबले हुए चना या भीगे हुए चना में से कौन बेहतर है?

यदि आप अपने आहार में अधिक पोषक तत्व प्राप्त करना चाहते हैं, तो भीगे हुए चना एक बेहतर विकल्प है। भिगोने से चने में मौजूद पोषक तत्व शरीर द्वारा अधिक आसानी से अवशोषित हो जाते हैं। यदि आप अपने आहार में अधिक स्वाद जोड़ना चाहते हैं, तो उबले हुए चना एक बेहतर विकल्प है। उबले हुए चना का स्वाद भीगे हुए चना से अधिक अच्छा होता है।

एक दिन मे कितना चना खाना चाहिए?

एक स्वस्थ व्यक्ति को दिन में लगभग 50 से 60 ग्राम चने का सेवन करना चाहिए। यह मात्रा लगभग एक मुट्ठी के बराबर होती है। अधिक चना खाने से गैस और सूजन जैसी कुछ सामान्य समस्याएं भी हो सकती हैं। यदि आपको इनमें से कोई भी समस्या है, तो आप चने की मात्रा को कम कर सकते हैं या उन्हें अंकुरित करके खा सकते हैं।

बॉडी बनाने के लिए कौन सा चना खाना चाहिए?

बॉडी बनाने के लिए आपको काला चना भिगोया हुआ खाना चाहिए। इसमे प्रोटीन अधिक होता है और साथ मे यह खून की कमी को भी दूर करता हैं।

क्या चना कब्ज का कारण बनता है?

नहीं, चना कब्ज का कारण नहीं बनता है। बल्कि, चना कब्ज को दूर करने में मदद कर सकता है। चने में फाइबर की अच्छी मात्रा होती है, जो पाचन में सुधार करने में मदद करता है। फाइबर कब्ज को रोकने में मदद करता है क्योंकि यह मल को नरम और आसानी से गुजरने में मदद करता है।

क्या काला चना बालों की लिए अच्छा हैं?

काला चना में जिंक और प्रोटीन भरपूर मात्रा में होता है जिस कारण सिर की त्वचा को मज़बूती और पोषण मिलता हैं। काला चना खाने से बाल लम्बे और घने तो बनते ही है साथ ही बालों का सफ़ेद होने की रफ़्तार भी कम हो सकती हैं। बालों में रूसी या Dandruff की समस्या हो तब भी काला चना फ़ायदेमंद हैं।

क्या काला चना खाने से हड्डियों को मज़बूती मिलती हैं?

काला चना में फ़ॉस्फ़ेट, आयरन, मैग्नीज़ीयम, विटामिन के, और कैल्सीयम पाया जाता है जो हड्डियों को मज़बूती प्रदान करता हैं। मज़बूत हड्डियों के लिए रोज़ाना पचास ग्राम काला चना ज़रूर खाना चाहिए।

इस तरह काला चना त्वचा से लेकर हृदय तक के सभी रोगों को दूर रखने के लिए एवं शरीर को स्वस्थ बनाये रखने के लिए बेहद उपयोगी होता हैं। कुछ लोगों को इसे खाने से गैस की शिकायत होती हैं इसलिए शुरुआत में इसका प्रमाण कम रखे और धीरे धीरे इसकी मात्रा बढ़ाए। काले चने खाते समय हमेशा धीरे-धीरे अच्छी तरह चबाकर खाना चाहिए।

अगर आपको काला चना खाने के 7 चमत्कारी फायदे की जानकारी उपयोगी लगती है तो कृपया इसे शेयर जरूर करे।

Leave a comment

अस्थमा अटैक से घबराते हैं? अब नहीं होगा अटैक, आजमाएं ये 9 योग ट्रिक