फल खाने के नियम | Rules of eating Fruits in Hindi

rules of eating fruits in Hindi

स्वास्थ्य के लिए फल (Fruits) एक सर्वोत्तम आहार है। लगभग हर फल Proteins, Vitamins, Anti-Oxidants, Fiber इत्यादि पोषक तत्वों के साथ कई औषधीय गुणों से युक्त होते है। शरीर को पोषण और स्वस्थ रखने के लिए हमें फलो को अपने आहार में रोजाना समावेश करना चाहिए।

अकसर कई लोग खाने के तुरंत बाद फलो का सेवन करना पसंद करते है जो की पूर्णतः गलत है। फलो को गलत समय खाने से फलो को खाने से होने वाले लाभ की जगह, शरीर में अपचन, Acidity और कब्ज इत्यादि समस्या निर्माण हो जाती है।

फलो का 100% लाभ लेने के लिए फलो के खाने के कुछ नियम पालना बेहद जरुरी है। फलो को खाने का सही तरीका निचे दिया गया है :

फल खाने के विशेष नियम Rules of Eating fruits in Hindi

  • फलो का सबसे ज्यादा लाभ उन्हें खाली पेट खाए जाने पर ही मिलता है।
  • फल खाने के 30 मिनिट बाद तक कुछ न खाए।
  • अपने खाने के कम से कम 2 से 2.30 घंटे बाद ही कोई फल खाना चाहिए। खाना पचने को 2 से 2.30 घंटे का समय लगता है और इतने समय में फल खाने पर फल पेट में सड़ने लगता है। इस वजह से अपचन और अम्लपित्त / Acidity बढ़ने का खतरा रहता है।
  • फल खाते समय कुछ और नहीं खाना चाहिए। फलो को अकेले खाना ही सबसे बेहतर उपाय है। फल खाने पर उसकी पाचन प्रक्रिया जल्द शुरू हो जाती है। फल में उपलब्ध शर्करा और fiber का पाचन जल्द हो जाता है। अगर फल के साथ हम कुछ और खाते है जिसे पचने में समय लगता है तो फिर फल भी उनके साथ आमाशय में पड़ा रहने के कारन सड़ने लगता है। इसलिए अकसर आपने अनुभव किया होगा कि फल के साथ कुछ और भारी आहार लेने पर अपचन या अम्लपित्त होकर पेट फूलना, डकार आना जैसी समस्या निर्माण हो जाती है।
  • खाना खाने के 1 घंटा पहले या खाना खाने के 2 से 2.30 घंटे बाद ही कोई फल खाना चाहिए।
  • सुबह नाश्ते के समय फल खाना सबसे बेहतर उपाय है।
  • Processed, Canned या Cooked fruit / फल की जगह स्वच्छ और ताजे फल खाना चाहिए।
  • ज्यादातर फलो का पोषक तत्व उनके छिलको में ही होता है। इसलिए सेब, चीकू जैसे फल खाते समय उन्हें स्वच्छ पानी से साफ़ कर छिलको के साथ ही खाना चाहिए।

कुछ लोगो का यह मानना है कि, फल खाने के लिए कोई नियम पालने की कोई जरुरत नहीं होती है क्योंकि फल एक श्रेष्ट आहार पदार्थ है जिसका सेवन हम कभी भी कर सकते है। अगर हम तुलना करे तो पता चलता है कि, खाना खाने के 1 घंटा पहले या खाना खाने के 2 से 2.30 घंटे बाद फल खाने से होनेवाले लाभ खाना खाने के बाद फल खाने से होनेवाले लाभ से कई ज्यादा है।

क्या आप जानते हैफ्रूट और फ्रूट जूस मे क्या बेहतर है

फलो का पाचन आमाशय में न होकर हमारे आंत / intestine में  होता है। यह पाचन प्रक्रिया तुरंत आधे घंटे में हो जाती है। योग्य मात्रा में और सही तरीके से फलाहार लेने से शरीर को तुरंत ऊर्जा और पोषण मिल जाता है। फलाहार सही तरीके से लेने से हमारी पाचन संस्था अच्छी रहती है और भूक भी काबू में रहती है जो की हमारे वजन को नियंत्रण में रखने के लिए बेहद जरुरी है। हफ्ते में एक दिन एक समय के खाने में केवल फलाहार लेने वालो को वजन नियंत्रण रखने में या वजन कम / weight loss करने में सफलता मिलती है।

अगर आपको फल खाने के नियम | Rules of eating Fruits in Hindi यह लेख उपयोगी लगता है तो कृपया इस लेख को निचे दिए गए बटन दबाकर Whatsapp, Facebook या Tweeter  पर share करे !

Rate this post

12 thoughts on “फल खाने के नियम | Rules of eating Fruits in Hindi”

  1. फलों के विषय में बेहतर जानकारी देती पोस्ट ! सही कहा आपने ज्यादातर लोग मानते हैं की फल तो कभी भी खाए जा सकते हैं !

  2. बहुत ही ज्ञानवर्धक एवं महत्वपूर्ण प्रस्तुति ! इसे पढ़ कर सभीको लाभान्वित होना चाहिए ! आभार !

Leave a comment

लिव 52 दवा के 5 गजब के फायदे हाई ब्लड प्रेशर के लिए 7 बेस्ट योग रोजाना 1 मिनिट भुजंगासन करने से क्या होता हैं ? वृक्षासन योग: आसन एक, फायदे अनेक ! योग निद्रा के फायदे