Fruit या Fruit Juice में से क्या बेहतर है?

Fruit और Fruit juice फलों का जूस दोनों ही स्वस्थ जीवन के लिए बहुत आवश्यक हैं, लेकिन दोनों में से कौन सा बेहतर है, इसका जवाब बहुत संदेहास्पद है। दोनों के लाभ और हानियों के बीच तुलना करना जरूरी है। आजकल लोग Fruits के बजाय Fruit Juice लेना ज्यादा पसंद करते हैं क्योंकि उनको लगता है कि चार fruits के vitamins और अन्य nutrients एकसाथ ले लिए हैं, लेकिन यह सही नहीं है। Dietitian के मुताबिक, juice के बजाय fruits खाना सेहत के लिए ज्यादा फायदेमंद है। दूसरी तरफ soft drinks का चलन भी ज्यादा है, खासकर युवाओं में, लेकिन ये सेहत के लिए ठीक नहीं होते।

Fruit और Fruit juice के फायदे और नुकसान

fruit-or-fruit-juice-better-hindi

फल और फलों का रस दोनों ही हमारे आहार का अहम हिस्सा होते हैं। दोनों ही स्वादिष्ट होते हैं और हमारे शरीर के लिए पोषण से भरपूर होते हैं। लेकिन क्या फल और फलों का रस में कोई अंतर होता है? क्या दोनों ही समान मात्रा में लाभदायक होते हैं? चलिए जानते हैं :

  • जूस बनाने के लिए फलों की लेयर हटाने की वजह से फाइबर के साथ ही वाटर सोल्यूबल विटामिन्स भी निकल जाते हैं। जबकि फ्रूट्स ना सिर्फ विटामिन्स से भरपूर होते हैं, बल्कि इनमें antioxidant भी मौजूद होते हैं, जो हमारे शरीर और रोग प्रतिकार शक्ति के लिए फायदेमंद हैं। फल खाने से हमारी डाइजेस्टिव सिस्टम को भी फायदा मिलता है। अधिकतर फल में पानी की मात्रा भी अधिक होती है, जो हमारे शरीर के लिए बहुत अच्छा होता है। फल खाने में फाइबर भी होता है, जो जूस में नहीं होता है। फाइबर हमारे शरीर के लिए बहुत जरूरी होता है क्योंकि ये हमारे पाचन तंत्र के लिए बहुत फायदेमंद होता है। फाइबर से हमारा शरीर बीमारियों से लड़ने की क्षमता प्राप्त करता है।
  • Fruit juice में sugar की मात्रा ज्यादा होने से रक्त में glucose का लेवल बढ़ जाता है। यह Diabetes के रोगी के लिए नुकसानदायक है। मीठे फल Diabetes के रोगी के अलावा सभी को दिए जा सकते हैं। इनमें फाइबर ज्यादा होने से ये ब्लड शुगर को नॉर्मल रखते हैं।
  • Soft drinks से परहेज करें। इसमें blood sugar की मात्रा ज्यादा होने से calories ज्यादा बनती है। Artificial sweetener के कारण पेट भरने की फीलिंग नहीं आ पाती। सॉफ्टड्रिंक से पेट नहीं भरने के कारण कुछ snacks लेते हैं। इससे कमर बड़ी और मोटापा बढ़ता है। वजन बढ़ने के साथ Diabetes की आशंका बढ़ती है। Soft drinks में किसी भी प्रकार के nutrients और fiber नहीं पाए जाते। इसके नियमित सेवन से हृदय रोग का खतरा बढ़ जाता है। साथ ही दांतों के ऊपरी परत को damage करने से दांत कमजोर हो सकते हैं।

यदि आप जूस पीना पसंद करते हैं तो आप शुगर के साथ सावधान रहें और फल खाने से कभी ना हटें क्योंकि ये आपके शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं । इसलिए, स्वस्थ जीवन जीने के लिए, फल और फलों का जूस दोनों ही सही हैं। इन्हें सही मात्रा में सेवन करना बेहद जरूरी है। फलों को सीधे खाने से उनका स्वाद और अनुभव भी बेहतर होता है। आपके शरीर के लिए सही फल या फलों का जूस कौन सा है, यह आपके स्वास्थ्य स्थिति और आपकी पसंद के आधार पर निर्भर करता है। इसलिए आप अपने विवेक और डॉक्टर की सलाह के आधार पर फलों और फलों के जूस का सही सेवन करें और स्वस्थ रहें।

Leave a comment

किडनी ख़राब होने के यह है प्रमुख 7 लक्षण