ब्राउन राइस खाने के फायदे | Health benefits of Brown rice in Hindi

brown rice health benefits in Hindiज्यादातर लोग खाने में भूरे रंग के चावल / Brown Rice की बजाए, सफ़ेद रंग के चावल का इस्तेमाल करते है। यह जानते हुए भी कि, Brown Rice सफ़ेद रंग के चावल से ज्यादा पौष्टिक है, लोग सफ़ेद रंग के चावल खाना ज्यादा पसंद करते है क्योंकि सफ़ेद रंग के चावल दिखने में साफ़, पकाने में आसान और खाने में ज्यादा स्वादिष्ट होते है।

Brown Rice को छिलके वाले चावल के नाम से भी जाना जाता है। Brown Rice चावल का अपरिष्कृत / unrefined प्रकार है। चावल को सफ़ेद बनाने के लिए परिष्कृत / refining process में चावल में मौजूद अनेक जरुरी Vitamins. Protein और fiber इत्यादि घटक कम हो जाते है जिनसे उसकी पौष्टिकता कम हो जाती है। बाजार में Vitamins. Protein और fiber से समृद्ध सफ़ेद रंग के चावल भी बेचे जाते है पर भूरे Brown Rice के तुलना में उनकी पौष्टिकता कम ही होती है।

अवश्य पढ़े – आपका वजन कितना होना चाहिए कैसे पता करे ?

Brown Rice का महत्व और स्वास्थ्य संबंधी लाभ निचे दिए गए है :

ब्राउन राइस खाने के फायदे (Health benefits of Brown rice in Hindi)

  • Fiber से भरपूर : Brown Rice में प्रचुर मात्रा में fiber होता है। Fiber अधिक मात्रा में होने कारण Brown Rice खाने वाले व्यक्ति को कभी कब्ज / Constipation की शिकायत नहीं होती है। Fiber शरीर के लिए नुकसानकारी LDL Cholesterol को भी काम करता है। शरीर में आँत / Intestine के cancer को निर्माण करने वाले घातक chemicals को बाहर निकालने का काम भी Brown Rice में मौजूद fiber करता है जिससे आँत के cancer होने का खतरा भी कम हो जाता है। एक अध्ययन अनुसार यह पता चला है की Fiber से भरपूर होने के कारण Brown Rice खाने वाली महिलाओ में पित्ताश्मरी / Gall Bladder stones होने का खतरा बहुत कम हो जाता है।
  • Selenium Brown Rice में मौजूद Selenium हमें कर्करोग / Cancer, ह्रदय रोग / Heart Disease और संधिवात / Arthritis  जैसे रोगो से बचाता है।
  • Manganese : एक कप Brown Rice में उपलब्ध Manganese हमारे शरीर की रोजाना Manganese की 80 % जरुरत को पूरी कर देता है। हमारे शरीर में तंत्रिका प्रणाली / Nervous System और प्रजनन प्रणाली / Reproductive organs के सुचारू काम करने के लिए Manganese की आवश्यकता होती है।
  • Natural Oil : Brown Rice में उपलब्ध नैसर्गिक तेल शरीर में Cholesterol की मात्रा को सामान्य रखने के लिए उपयोगी होता है। नियमित आहार में Brown Rice लेने वाले लोगो में ह्रदय की बीमारी होने का खतरा कम होता है।
  • वजन कम करना / Weight Loss : जो लोग बढे हुए वजन और मोटापे से परेशान है उनके लिए Brown Rice वरदान है। Brown Rice में अधिक मात्रा में fiber होने के कारन इसे खाने से अधिक calories नहीं मिलती है और पेट भी काफी समय तक भरा हुआ महसूस होता है और इस प्रकार आवश्यकता से अधिक खाने / overeating से बचा जा सकता है। Brown Rice खाने वाले लोगो की पाचन संस्था / Digestive system भी अच्छी रहती है।
  • Anti-Oxidants : Anti-Oxidants शरीर की रोग प्रतिकार शक्ति को बढ़ाने के साथ शरीर को हमेशा स्वस्थ और बुढ़ापे से दूर रखने के लिए जरुरी होते है। Brown Rice में Anti-Oxidants भी अच्छी मात्रा में होने के कारन आहार में इनका समावेश करना चाहिए।
  • Blood Sugar नियंत्रण : Brown Rice में मौजूद fiber रक्त की शर्करा / Blood sugar को नियंत्रण करता है और इसलिए Brown Rice मधुमेह से पीड़ित रोगियों के लिए एक श्रेष्ट आहार पदार्थ है। एक शोध अनुसार यह पता चला है की रोजाना आधी कटोरी Brown Rice खाने वाले लोगो में मधुमेह / Diabetes  होने की आशंका 60% से कम हो जाती है। इसके विपरीत जो लोग आहार में सफ़ेद चावल ज्यादा लेते है उन लोगो में मधुमेह होने की आशंका 70% बढ़ जाती है।
  • हड्डियों की मजबूती : Brown Rice में Manganese होता है जो की Calcium के अवशोषण के लिए आवश्यक तत्व है। Calcium के सही मात्रा में अवशोषण होने से हड्डियों को मजबूती मिलती है।
  • अस्थमा विरोधी : Brown Rice में मौजूद Manganese और Selenium, अस्थमा के लक्षणों को कम करता है जिससे अस्थमा के रोगियों को लाभ हो सकता है।
  • शिशु आहार : अपने उच्च पौष्टिक मूल्य के कारण Brown Rice एक उत्तम शिशु आहार है। इसे लेने से शिशु की काफी सारी पौष्टिक जरूरते पूरी होती है और शिशु का विकास बेहतर तरीके से होता है।
  • स्तन का कर्करोग : Brown Rice से शरीर को Phytonutrients मिलता है जो कि रक्त में स्तन के कर्करोग / Breast cancer विरोधी Enterolactone की मात्रा को बढ़ा देता है जिससे महिलाओ में स्तन के कर्करोग होने का खतरा काम कर देता है।

ब्राउन राइस दूसरे सफ़ेद चावल की तुलना अलग होता हैं। ब्राउन राइस का भूसा नहीं उतारा जाता हैं इस कारण इसमें पोषक तत्व साबुत अनाज के बराबर पाए जाते हैं। सफ़ेद चावल का भूसा उतारा जाता हैं और प्रोसेसिंग की मदद से उसे पोलिश की जाती हैं। भूरे चावल के सफ़ेद चावल की तुलना में अधिक पौष्टिकता होती हैं। भूरे रंग के चावल / Brown Rice के स्वास्थ्य संबंधी फायदे जान लेने के बाद मुझे विश्वास है की आप इसे अपने आहार में जरूर शामिल करेंगे।

यह भी पढ़े – विटामिन बी 12 की कमी दूर करने के लिए क्या खाना चाहिए ?

अगर आपको ब्राउन राइस खाने के फायदे |Health benefits of Brown rice in Hindi यह लेख उपयोगी लगता है तो कृपया इस लेख को निचे दिए गए बटन दबाकर Whatsapp, Facebook या Tweeter  पर share करे !

Rate this post

16 thoughts on “ब्राउन राइस खाने के फायदे | Health benefits of Brown rice in Hindi”

  1. sir,
    Mai vajan kam kar raha hu. subha exercise kata hu, fir Honey+lemon fir Bhigoi hui dal,chana khata hu ,din me roti dal,salad or raat ko salad or milk 1/2 ltr. please guide me.

  2. जयपाल जी,
    आप बहोत अच्छे तरीके से कर रहे है. इसे नियमित रखे और इसका फल मिलने के बाद भी अपने अनुशासन को न छोड़े.

Leave a comment

गर्मी में न करे यह 5 योग, हो सकता है नुकसान गर्मी से तंग हैं? इन 5 योग से पाएं राहत ब्लड डोनेशन के फायदे जिनसे आप अनजान हैं ! आँखों से चश्मा हटाने के लिए करे योग Dexona दवा लेनेवाले हो जाए सावधान