Telmisartan 40 mg in Hindi: टेल्मीसार्टन का उपयोग, दुष्परिणाम, मात्रा और सावधानी

telmisartan 40 uses side effects in Hindi medicine

टेल्मीसार्टन (Telmisartan), यह उच्च रक्तचाप (High Blood Pressure) को नियंत्रण में करने के लिए उपयोग की जानेवाली एक प्रमुख हाई ब्लड प्रेशर विरोधी (Anti Hypertensive) दवा हैं। आजकल ज्यादातर डॉक्टर इस दवा का उपयोग हाई ब्लड प्रेशर के उपचार में करते हैं। टेल्मीसार्टन से जुडी महत्वपूर्ण जानकारी आज इस लेख में हम देने जा रहे हैं।

ईस लेख मे आप को यह जानकारी मिलेंगी hide
6) टेल्मीसार्टन दवा से जुड़े सवालों के जवाब

टेल्मीसार्टन क्या हैं? (Telmisartan in Hindi)

टेल्मीसार्टन यह Angiotensin 2 Receptor Blockers (ARB) group की दवा हैं जिसका प्रमुख उपयोग ब्लड प्रेशर को नियत्रण में रखना हैं। विशेष कर डायबिटीज के रोगी और वयस्क रोगी की लिए यह एक सुरक्षित दवा मानी जाती हैं। भारत में यह Telmiride, Telmikind, Optel, Telma, Telmiwell आदि अनेक brand name में उपलब्ध हैं। यह दवा अकेले या Hydrochlorothiazide, Amlodipine, Metoprolol, Chlorthalidone या Clinidipine आदि के साथ combination में भी उपलब्ध हैं।

क्या आप जानते हैं: घर पर Blood pressure कैसे check करे ?

टेल्मीसार्टन कैसे काम करता हैं ? (How Telmisartan works in Hindi)

एंजियोटेंसिन II रिसेप्टर्स को अवरुद्ध करके (Blocking Angiotensin 2 Receptors)

एंजियोटेंसिन 2 यह शरीर में प्राकृतिक रूप से पाया जाने वाला हार्मोन है जो रक्त वाहिकाओं को संकुचित करता है, जिससे ब्लड प्रेशर बढ़ता है। टेल्मीसार्टन एंजियोटेंसिन 2 रिसेप्टर्स (AT1) को अवरुद्ध या block करता हैं जिससे रक्त वाहिका संकुचित नहीं होती है और ब्लड प्रेशर नियंत्रण में रहता हैं।

एल्डोस्टेरोन के उत्पादन को कम करके (Lowering Aldosterone production)

एल्डोस्टेरोन एक हार्मोन है जो शरीर में सोडियम और पानी को बनाए रखने में मदद करता है। शरीर में सोडियम और पानी के अधिकता से ब्लड प्रेशर बढ़ने लगता हैं। टेमिसार्टन दवा एल्डोस्टेरोन के उत्पादन को कम करता है जिससे शरीर में सोडियम और पानी की प्रमाण नियंत्रण में रहता है और ब्लड प्रेशर भी काबू में रहता हैं।

उपयोगी जानकारी: हाई ब्लड प्रेशर से जुड़े सभी सवालों के जवाब |High Blood Pressure in Hindi

टेल्मीसार्टन दवा का उपयोग क्या हैं ? (Telmisartan uses in Hindi)

Telmisartan के उपयोग की जानकारी नीचे दी गयी हैं:

  • उच्च रक्तचाप (High Blood Pressure): टेल्मीसार्टन का उपयोग High Blood pressure वाले वयस्कों में ब्लड प्रेशर को नियंत्रण में रखने के लिए किया जाता है। यह रक्त वाहिकाओं को आराम देकर काम करता है, जिससे रक्त आसानी से बह सकता है और बीपी कम हो जाता है।
  • हृदय रोग (Heart Disease): टेल्मीसार्टन का उपयोग हृदय रोग के खतरे को कम करने के लिए भी किया जा सकता है। यह उन रोगियों में स्ट्रोक (Stroke), दिल का दौरा (Heart attack) और हृदय विफलता (Heart failure) के जोखिम को कम करने में मदद करता है जिनका पहले से ही ह्रदय रोग या हाई ब्लड प्रेशर की समस्या हैं।
  • गुर्दे की सुरक्षा (Kidney): टेल्मिसार्टन हाई ब्लड प्रेस्सुर और डायबिटीज से जुड़ी kidney की बीमारी (Diabetic Nephropathy) वाले रोगियों में किडनी के स्वास्थ्य को बनाए रखकर Reno protective का काम करता हैं। किडनी रोग की संभावना को यह कम करता हैं।
  • मधुमेह (Diabetes): टेल्मीसार्टन का उपयोग मधुमेह से जुड़ी किडनी की बीमारी (डायबिटिक नेफ्रोपैथी) वाले रोगियों में किडनी के कार्य को बेहतर बनाने के लिए किया जा सकता है।

जरूर पढ़े: लिपिड प्रोफाइल टेस्ट क्या है | Lipid Profile Test in Hindi

टेल्मीसार्टन दवा का डोज़ कितना हैं ? (Telmisartan dosage in Hindi)

  • मेडिकल में टेल्मीसार्टन दवा 20 मिलीग्राम से लेकर 80 मिलीग्राम की पावर में उपलब्ध हैं। रोगी के ब्लड प्रेशर के हिसाब से टेल्मीसार्टन दवा का डोज़ तय किया जाता हैं।
  • शुरुआत में डॉक्टर 20 मिलीग्राम या 40 मिलीग्राम से दवा शुरू कर प्रतिदिन 80 मिलीग्राम तक दवा की खुराक बढ़ाते हैं। बीपी कण्ट्रोल में न आने पर इसे अन्य दवा के साथ कॉम्बिनेशन में दिया जाता हैं।
  • टेल्मीसार्टन की गोली रोज एक तय समय पर लेना चाहिए। यह दवा आप खाली पेट या खाने के बाद भी ले सकते हैं।

टेल्मीसार्टन दवा का दुष्परिणाम क्या हैं ? (Telmisartan side effects in Hindi)

टेल्मीसार्टन दवा से होनेवाले संभावित दुष्परिणाम की जानकारी:

टेल्मीसार्टन दवा के सामान्य दुष्परिणाम

कुछ रोगी में टेल्मीसार्टन दवा से सरदर्द, चक्कर आना, हल्कापन, बदनदर्द और बुखार या गले में खराश जैसे फ्लू जैसे सामान्य दुष्परिणाम हो सकते हैं। यह दुष्परिणाम दवा के निरंतर सेवन से कुछ दिनों में ठीक हो जाते हैं।

टेल्मीसार्टन दवा के गंभीर दुष्परिणाम

दुर्लभ मामलों में, टेल्मिसार्टन बेहोशी, उच्च पोटेशियम के स्तर के लक्षण (जैसे, मांसपेशियों की कमजोरी, अनियमित दिल की धड़कन), या किडनी की खराबी के संकेत जैसी गंभीर दुष्परिणाम का कारण बन सकता है। यदि कोई चिंताजनक लक्षण दिखाई देते हैं तो तत्काल अपने डॉक्टर से जांच कराना चाहिए।

क्या आप जानते हैं: हाई ब्लड प्रेशर में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं

टेल्मीसार्टन दवा से जुड़े सवालों के जवाब

क्या प्रेगनेंसी में टेल्मीसार्टन दवा सुरक्षित हैं ?

नहीं, टेल्मीसार्टन दवा प्रेगनेंसी में नहीं लेना चाहिए। इसके सेवन से गर्भ में पल रहे भ्रूण या बच्चे को हानी हो सकती हैं।

क्या स्तनपान करने वाली महिलाए टेल्मीसार्टन दवा ले सकती हैं ?

स्तनपान करते समय टेल्मिसार्टन से बचना चाहिए, क्योंकि स्तनपान कराने वाली महिलाओं में इसकी सुरक्षा प्रोफाइल अच्छी तरह से स्थापित नहीं है।

पढ़ना न भूले: Heart attack के symptoms क्या होते हैं ?

क्या टेल्मिसार्टन दवा का किसी अन्य दवा के साथ प्रतिक्रिया होती हैं ?

टेल्मिसार्टन दवा का कई दवा के साथ प्रतिक्रिया या drug interaction होता है जैसे की दर्दनाशक दवा, बीपी की दवा, विटामिन, डिगोक्सिन दवा आदि। इसलिए अगर आप कोई अन्य दवा ले रहे है तो इसकी जानकारी अपने डॉक्टर को अवश्य देना चाहिए।

क्या टेल्मिसार्टन से वजन बढ़ सकता है?

जी नहीं, टेल्मीसार्टन से वजन बढ़ते हुए नहीं देखा गया है।

उपयोगी जानकारी: High Blood Pressure को control करने के आसान उपाय !

क्या टेल्मिसार्टन बुजुर्ग रोगियों के लिए सुरक्षित है?

जी हा ! टेल्मीसार्टन दवा बुजुर्गों के लिए सुरक्षित हैं। अगर बुजुर्ग व्यक्ति को पहले से अन्य कोई रोग है तो डॉक्टर को इसकी जानकारी अवश्य देना चाहिए।

अगर मैं टेल्मिसार्टन की गोली लेना भूल जाऊं तो मुझे क्या करना चाहिए?

अगर आप टेल्मिसार्टन की दवा लेना भूल जाते हैं, तो घबराएं नहीं। यदि अगली खुराक 4 घंटे से अधिक दूर है, तो छूटी हुई खुराक तुरंत लें। यदि अगली खुराक 4 घंटे से कम दूर है, तो छूटी हुई खुराक छोड़ दें और अपनी नियमित खुराक अगले समय निर्धारित अनुसार लें। अगर कोई तकलीफ हो रही है जैसे सरदर्द, चक्कर आना या छाती में दर्द तो डॉक्टर को दिखाए।
क्या आप जानते है: ट्रेडमिल टेस्ट क्या होता है और कैसे किया जाता है ?

क्या टेल्मीसार्टन की गोली तोड़कर खा सकते है?

नहीं, टेल्मीसार्टन की गोली को तोड़कर नहीं खाना चाहिए। यह एक प्रो-ड्रग है, जिसका अर्थ है कि यह शरीर में सक्रिय होता है। जब आप गोली को तोड़ते हैं, तो आप दवा की सक्रियता को प्रभावित कर सकते हैं, जिससे यह कम प्रभावी हो सकती है या दुष्प्रभावों का खतरा बढ़ सकता है।

टेल्मिसर्टन से बीपी कितना कम होता है?

आम तौर पर, टेल्मिसर्टन सिस्टोलिक बीपी (ऊपरी संख्या) को 5-10 mmHg और डायस्टोलिक बीपी (निचली संख्या) को 3-5 mmHg तक कम कर सकता है। एक अध्ययन में, टेल्मिसर्टन 40mg ने 12 सप्ताह में सिस्टोलिक रक्तचाप को 10.7 mmHg और डायस्टोलिक रक्तचाप को 7.3 mmHg तक कम कर दिया। एक अन्य अध्ययन में, टेल्मिसर्टन 80mg ने 12 सप्ताह में सिस्टोलिक रक्तचाप को 13.2 mmHg और डायस्टोलिक रक्तचाप को 8.3 mmHg तक कम कर दिया।
योग भगाए रोग: High Blood Pressure मे करे यह 11 योग

टेल्मिसर्टन कब लेना चाहिए?

टेल्मिसर्टन कब लेना चाहिए यह कई बातों पर निर्भर करता हैं। आपको अपनी दवा डॉक्टर द्वारा बताये गए समय पर लेना चाहिए। इसे रोज एक फिक्स समय पर लेना चाहिए। दवा लेने के साथ रोज कम से कम दिन में दो बार अपने बीपी का रिकॉर्ड रखे जिसे देखकर डॉक्टर आवश्यकता अनुसार दवा के समय और मात्रा में बदलाव कर सकते हैं।

टेलमिसर्टन को ब्लड प्रेशर कम करने में कितना समय लगता है?

आमतौर पर, टेलमिसर्टन 2-4 सप्ताह के भीतर रक्तचाप को कम करना शुरू कर देता है। हालांकि यह समय दवा की मात्रा, रोगी का स्वास्थ्य और उम्र आदि बातों पर भी निर्भर करता हैं। ब्लड प्रेशर बढ़ने पर हफ्ते या दस दिन में ही दवा का बदलाव नहीं करना चाहिए क्योंकि तब तक दवा का पूरा प्रभाव नहीं पड़ता हैं।
बीपी के लिए व्यायाम: आइसोमेट्रिक व्यायाम से करे ब्लड प्रेशर नार्मल

क्या हम telmisartan 40 दिन में दो बार ले सकते हैं?

आपको अपनी दवा कितने बार और कितने मात्रा में लेना है इसका निर्णय आपके डॉक्टर आपके बीपी का रिकॉर्ड देखकर तय कर सकते हैं। अगर आवश्यकता रही तो डॉक्टर टेल्मीसार्टन 40 मिलीग्राम की गोली दिन में दो बार दे सकते है या किसी अन्य दवा लेने की सलाह भी दे सकते हैं। रोगी ने कभी भी अपने मनमुताबिक दवा में कोई बदलाव नहीं करना चाहिए क्योंकि ऐसा करने से गंभीर दुष्परिणाम होने का खतरा रहता हैं।

क्या टेल्मिसर्टन हृदय गति को कम करता है?

नहीं, टेल्मिसर्टन आमतौर पर हृदय गति को कम नहीं करता है। अभी तक किसी भी अध्ययन में यह बात नहीं पायी गयी हैं। यह एक एंजियोटेंसिन रिसेप्टर ब्लॉकर (ARB) है, जो रक्तचाप को कम करने के लिए रक्त वाहिकाओं को आराम देता है।

यह भी जाने: Low Blood pressure का उपचार और घरेलु उपाय !

मेरा बीपी 140/90 है तो मुझे क्या टेल्मीसार्टन 40 mgलेना चाहिए चाहिए?

जी नहीं, आपको अपने डॉक्टर से जांच कराकर ही कोई दवा शुरू करनी चाहिए। अगर आपका बीपी लगातार ज्यादा आ रहा है और आहार एवं जीवनशैली में योग्य बदलाव करने के बाद भी बीपी अधिक है तो डॉक्टर low dose से बीपी की दवा शुरू करते हैं। याद रहे की कभी भी अपने मन से, किसी मित्र की सलाह से या कोई अन्य व्यक्ति की दवा अपने इलाज के लीना लेना आपके लिए हानिकारक साबित हो सकता हैं।

बीपी को नियंत्रण में रखने के लिए टेल्मीसार्टन 40 मिलीग्राम की गोली कितने दिनों तक ले सकते हैं ?

टेल्मीसार्टन 40 मिलीग्राम की गोली को बीपी को नियंत्रण में रखने के लिए कितने दिनों तक लेना चाहिए, यह कई कारकों पर निर्भर करता है। यदि आपका ब्लड प्रेशर बहुत अधिक है, तो आपको टेल्मीसार्टन को लंबे समय तक लेने की आवश्यकता हो सकती है। आमतौर पर, टेल्मीसार्टन को तब तक लिया जाता है जब तक आपका बीपी नियंत्रण में नहीं आ जाता। यह कुछ हफ्तों से लेकर कुछ महीनों तक हो सकता है। कुछ मामलों में, आपको जीवन भर टेल्मीसार्टन लेने की आवश्यकता हो सकती है।

क्या आप जानते हैं: बीएमआर क्या है | Basal Metabolic Rate (BMR) in Hindi

टेल्मीसार्टन यह एक असरदार और बीपी को कण्ट्रोल में करने की अच्छी दवा हैं। अगर आपको बीपी ज्यादा है तो आपको अपने डॉक्टर से मिलकर उसे कण्ट्रोल में करने के लिए हर संभव प्रयास करना चाहिए। अगर आपका कोई सवाल है तो कमेंट में जरूर पूछे।

Leave a comment

अस्थमा अटैक से घबराते हैं? अब नहीं होगा अटैक, आजमाएं ये 9 योग ट्रिक