लिव 52 दवा और सिरप के फायदे और नुकसान | LIV 52 in Hindi

LIV 52 benefits uses dosage side effects in Hindi

Himalaya दवा कंपनी की लिव 52 Syrup और Tablets दवा का नाम अपने जरूर सुना होगा। केवल भारत में ही नहीं तो विदेशों में भी इस दवा की बहुत मांग होती हैं। भूख बढ़ाने, कमजोर पाचन शक्ति को ठीक करने, Fatty Liver, Liver ख़राब होना और Liver में सूजन जैसे अनेक समस्या में लिव 52 दवा का उपयोग किया जाता हैं। Liver के ख़राब हुई कोशिकाओं को भी यह दवा काफी हद तक ठीक कर देती है ।

दुनिया भर में कई एलॉपथी दवा के डॉक्टर भी विश्वास के साथ लिव 52 दवा अपने रोगियों को देते हैं। Himalaya कंपनी ने लिव 52 दवा के ऊपर कई संशोधन किये है और उन्हें इसके कई अद्भुत लाभ का पता चला हैं। लिव 52 दवा का उपयोग बच्चों से लेकर बुजुर्गों तक में किया जा सकता हैं।

लिव 52 दवा की क़ीमत, dose, फायदे और नुकसान से जुड़ी अधिक जानकारी नीचे दी गयी हैं :

लिव 52 दवा क्या हैं ?

लिव 52 यह Liver के देखभाल के लिए विश्व की सबसे उपयोगी दवा में से एक मानी जाती हैं। Himalaya दवा कंपनी ने Liv 52 पर 250 से ज्यादा बड़े परीक्षण किये है तथा दुनिया के कई बड़े ड्रग कंट्रोलर बोर्ड से इसे सुरक्षित दवा माना हैं। यकृत यानि की Liver के ख़राब कोशिकाओं को ठीक करने के लिए इसका मुख्य उपयोग किया जाता हैं।

लिव 52 दवा की कीमत कितनी होती हैं ?

Liv 52 tablets के एक बॉटल में 60 tablets आती है जिसकी कीमत करीब 120 रूपए है। Liv 52 syrup की 200ml की एक बोतल आती है जिसकी कीमत करीब 120 रूपए है। इन दोनों की expiry 3 साल की होती हैं।

लिव 52 दवा में क्या होता हैं ?

Liv 52 दवा में नीचे दी हुई मुख्य आयुर्वेदिक औषधि का समावेश होता हैं :
1. हिमसरा (65 mg) : हिमसरा दवा में p-methoxy benzoic acid होता है जो की Liver को सुरक्षा प्रदान करता हैं। या लिवर में melondialdihyde के स्तर को बढ़ने से रोकता हैं। यह Liver enzymes जैसे की SGPT को बढ़ने से रोकता हैं। इसमें Flavonoids भी है जो की उपयोगी antioxidant भी हैं।
2. कसानी (65 mg) : कसानी दवा Liver को शराब से होनेवाले नुकसान से बचाती हैं। इसमें भी antioxidant गुण होते हैं। यह लिवर को अधिक क्षति होने से बचाती है और लिवर के कार्यक्षमता को बढाती हैं।
3. मंडूर भस्म (33 mg) : यह liver को सुरक्षा प्रदान करता हैं।
4. काकमाची (32 mg) : यह Liver के साथ kidney और urinary bladder की कार्यक्षमता को बढ़ाती है।
5. अर्जुन (32 mg) : यह दवा ह्रदय को स्वस्थ रखती हैं।
6. कासमर्द (16 mg) : यह पाचन को ठीक रखता है और कब्ज नहीं होने देता हैं।
7. बिरंजसिफ़ा (16 mg) : यह पाचनशक्ति को बढ़ाता हैं।
8. झावुका (16 mg) : यह एक alkaloid है जो liver की कार्यक्षमता को बढ़ाता हैं।

इसके अलावा भृंगराज, भूमिआमलकी, पुनर्नवा, दारुहरिद्रा, गुडुची, चित्रक आमलकी, मूलक, विडंग, हरीतकी आदि औषधि का उपयोग भी किया जाता हैं। एक Liv 52 DS दवा भी आती है जिसमे DS का मतलब Double strength होता है। Liv 52 DS में यह सभी औषधि द्रव्य दोगुने मात्रा (double dose) में होते हैं।

पढ़े : शतावरी के 21 फायदे और नुकसान की जानकारी

लिव 52 दवा का उपयोग किस रोग में किया जाता हैं ?

ऐसे तो Liv 52 दवा का उपयोग कई रोगो में किया जाता है पर हम यहाँ पर आपको इसके मुख्य उपयोग की जानकारी दे रहे हैं।
1. भूख ना लगना (Anorexia): किसी भी बीमारी में अगर रोगी को भूख नहीं लग रही है तो यह दवा देने से लाभ मिलता हैं।
2. फैटी लिवर: Fatty liver में Liv 52 दवा देने से लाभ होता हैं। पढ़े : Fatty liver के कारण, लक्षण और उपचार
3. अपचन (Indigestion): पाचन शक्ति कमजोर होने पर Liv 52 दवा दी जाती हैं। पढ़े : पाचन शक्ति ठीक करने के उपाय
4. कब्ज (Constipation): कब्ज की शिकायत होने पर यह दवा लेने से जल्द लाभ मिलता हैं। पढ़े : कब्ज का उपचार
5. सिरोसिस (Cirrhosis): शराब के चलते लिवर ख़राब होने पर इस दवा का कोर्स किया जाता हैं।
6. पीलिया (Jaundice): Hepatitis या किसी अन्य बीमारी के कारण रक्त में SGPT और Bilirubin का स्तर बढ़ने पर इस दवा का उपयोग किया जाता हैं।
7. गर्भावस्था (Pregnancy): प्रेगनेंसी में भूख की कमी या जी मचलाना जैसी समस्या निर्माण होने पर भी इसका उपयोग किया जा सकता हैं।
8. दवा (Medicine): अगर आप लम्बे समय तक कोई antibiotic या pain killer दवा ले रहे है तो इससे आपके liver को नुकसान पहुंचने का खतरा रहता है। ऐसी स्तिथि में आप Liv 52 दवा लेकर इस खतरे को दूर कर सकते हैं।

लिव 52 दवा के फायदे क्या हैं ? (LIV 52 Syrup uses in Hindi)

Liv 52 दवा के फायदे इस प्रकार हैं :

1. Liv 52 दवा से भूख बढ़ती हैं – किसी भी रोग में अगर रोगी की भूख कम हो जाती है या फिर घर बच्चे या बुजुर्ग ठीक से खाना नहीं खाते है तो Liv 52 दवा का कोर्स करने से भूख धीरे-धीरे बढ़ने लगती हैं।

2. Liv 52 लिवर की सुरक्षा करता है – शराब (Alcohol), Virus, Chemicals, विषैले तत्व, दवा, fat आदि कारणों से liver की कार्यक्षमता कम होती है और liver पर सूजन भी आती है। ऐसे में Liv 52 लेने से रोगी को लाभ होता हैं।

3. Liv 52 शरीर की शुद्धि करता हैं – शरीर में आने वाले विषैले तत्वों को अलग कर उन्हें मल और मूत्र मार्ग से बाहर निकालने में Liver का महत्वपूर्ण कार्य होता हैं। Liv 52 लेने से Liver शरीर को अच्छे से detoxify कर पाता हैं।

4. Liv 52 Liver को पुनर्जन्म देता हैं – Liv 52 के नियमित उपयोग से लिवर की मृत कोशिकाए की जगह नयी कोशिकाए निर्माण होती हैं। शराब या कैंसर के कारण जिनका लिवर ख़राब हो चूका है उन्हें Liv 52 लेने से लाभ होता हैं।

5. Liv 52 वजन बढ़ाता हैं – Liv 52 के उपयोग से हमारी भूख तो बढ़ती ही है पर इसके साथ-साथ खाए हुए भोजन का अच्छे से पाचन भी होता हैं। कई दुबले-पतले लोग शिकायत करते है की वह खाना तो अच्छे से खाते है पर उन्हें खाना शरीर को लगता नहीं है तो ऐसे में Liv 52 के उपयोग से उन्हें वजन बढ़ाने में मदद मिलती हैं।

6. Liv 52 कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करता हैं – Liv 52 के सेवन से शरीर में नुकसानदेह LDL Cholesterol की मात्रा नियंत्रण में रहती है और अच्छे HDL Cholesterol का स्तर सामान्य रहता हैं। रक्त में जमा अतिरिक्त चर्बी को भी Liv 52 कम करता हैं जिससे Heart attack आने का खतरा कम हो जाता हैं।

जरूर पढ़े – कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित रखने के लिए कैसा आहार लेना चाहिए ?

7. Liv 52 खून की कमी को दूर करता हैं – Liv 52 increases Hb level
Liv 52 के सेवन से Liver के साथ Spleen की कार्यक्षमता भी ठीक रहती है जिससे शरीर में रक्त का निर्माण अच्छे से होता है और Hemoglobin की कमी दूर होती हैं।

जरूर पढ़े – रक्त की कमी दूर करने के लिए कैसा आहार लेना चाहिए ?

लिव 52 सिरप और दवा के क्या नुकसान हैं ?

ऐसे तो लिव 52 दवा एक herbal drug होने की वजह से इसके कोई विशेष नुकसान नहीं है पर अगर इसका सेवन आप बिना डॉक्टर की सलाह लिए अधिक मात्रा में या अधिक समय तक करते है तो आपको नीचे बताये हुए नुकसान हो सकते हैं :

1. पेटदर्द
2. पेट में जलन
3. गैस होना
4. सिरदर्द
5. जी मचलाना
6. कब्ज
7. चक्कर आना
8. अगर आपको डायबिटीज या ब्लड प्रेशर का रोग है तो आपको अपने डॉक्टर से सलाह लेकर ही यह दवा लेना चाहिए।
9. गर्भावस्था और स्तनपान करते समय अपने डॉक्टर की सलाह से ही यह दवा लेना चाहिए।

लिव 52 दवा की खुराक क्या हैं ? (Liv 52 dose in Hindi) 

दवा का नाम बच्चे / बड़े खुराक (Dose)
Liv 52 tabletबच्चे1 गोली दिन में दो से तीन बार खाना खाने के बाद पानी के साथ।
Liv 52 tabletबडे2 गोली दिन में दो से तीन बार खाना खाने के बाद पानी के साथ।
Liv 52 syrup बच्चे5ml दिन में दो से तीन बार खाना खाने के बाद पानी के साथ।
Liv 52 syrup बड़े10 ml दिन में दो से तीन बार खाना खाने के बाद पानी के साथ।
ध्यान रहे : Liv 52 DS गोली और सिरप का dose इससे आधा होता हैं। रोगी का वजन, उम्र और बीमारी के असर की हिसाब से दवा का dose कम ज्यादा हो सकता है इसलिए हमेशा अपने डॉक्टर द्वारा बताये हुए dose में ही दवा लेना चाहिए। Liv 52 drops का dose डॉक्टर की सलाह से ही लेना चाहिए।

जरूर पढ़े – Septilin दवा के फायदे और नुकसान

अगर आपको यह लिव 52 दवा के फायदे और नुकसान की जानकारी उपयोगी लगती है तो कृपया इसे शेयर ज़रूर करें। अगर आपको इस लेख में कोई जानकारी के विषय में सवाल पूछना है तो कृपया नीचे कमेंट बॉक्स में या Contact Us में आप पूछ सकते है। मैं जल्द से जल्द आपके सभी प्रश्नों के विस्तार में जवाब देने की कोशिश करूँगा।

Reference:

  1. The efficacy of Liv-52 on liver cirrhotic patients: https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/16194047/
  2. Himalaya Wellness Research Papers on LIV 52 Syrup: https://researchpapers.himalayawellness.in/liv52.htm
  3. Herbal Products for Liver Disease: https://aasldpubs.onlinelibrary.wiley.com/doi/pdf/10.1002/hep.510310247

Leave a comment

किडनी ख़राब होने के यह है प्रमुख 7 लक्षण