आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) द्वारा स्वास्थ्य क्षेत्र में क्रांतिकारी बदलाव

artifical intelligence in health care 1

आज हर क्षेत्र में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) से होनेवाले जबरदस्त क्रांति और लाभ की चर्चा हो रही है और स्वास्थ्य विभाग (Healthcare ) इससे बचा नहीं है। यह मरीज के परिणाम में सुधार, निदान को बेहतर बनाने, उपचार योजनाओं को अनुकूलित करने और प्रशासनिक प्रक्रियाओं को समृद्धि का माध्यम बनाने की क्षमता के लिए खास है। इस लेख में, हम विभिन्न तरीकों को जांचेंगे जिनमें AI स्वास्थ्य क्षेत्र को क्रांतिकारी बना सकता है।

क्या आप जानते हैं – Biological clock क्या होता हैं ?

AI से होगा रोग का निदान आसान

AI का सबसे अद्भुत उपयोग स्वास्थ्य में उसके निदान को बेहद सुधारना है। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस संख्यात्मक डेटा का विश्लेषण कर सकता है, जिसमें मरीज का इतिहास, परीक्षण परिणाम और इमेजिंग स्कैन शामिल होते हैं, ताकि पैटर्न की पहचान की जा सके और अनियंत्रितताओं की पहचान हो सके। AI द्वारा निदान टूल्स ने खासकर कैंसर, न्यूरोडेजेनरेटिव विकार, और कार्डियोवैस्कुलर रोगों का निदान जल्द हो पायेगा।

AI से होगा ईलाज में सुधार

हर रोगी अलग होता है और AI की सहायता से हर रोगी के लिए रोग के स्तिथि के अनुसार व्यक्तिगत ईलाज तैयार किया जा सकता हैं। पेशेंट डेटा को विशाल चिकित्सा डेटाबेस और प्रमाणित शोध से मिलाकर, AI एल्गोरिदम समर्थक उपचार विकल्पों की सिफारिश कर सकते हैं जो जीनेटिक्स, जीवन शैली और चिकित्सा इतिहास जैसे कारकों पर आधारित होते हैं।

उपयोगी जानकारी : रोजाना कितने घंटे तक सोना जरुरी हैं ?

AI से होगी नयी दवा और वैक्सीन की खोज आसान

नई दवाओं की खोज और विकसित करने की प्रक्रिया में समय और खर्च अधिक होता हैं। AI इस प्रक्रिया को तेजी से बढ़ाता है, बायोलॉजिकल डेटा के विशाल मात्रा का विश्लेषण करके दवा की प्रभावशीलता का अनुमान लगाता है, और संभावित प्रतिक्रियाओं को पहले से ही पहचानता है। इसके अलावा, AI विशेषज्ञ विश्लेषण और रणनीतिक विश्लेषण के साथ नई उपचारों के लिए नैया तैयार कर सकता है, जिससे नई उपचारों को बाजार लाने में समय कम होता है, साथ ही सख्त सुरक्षा मानकों का पालन करता है। AI वैक्सीन की खोज में भी मदद कर सकता हैं।

AI से हो सकती है मरीजों का निगरानी

AI सक्रिय डिवाइस और वियरेबल्स द्वारा मरीजों की निगरानी की जा सकती हैं। डॉक्टर को अपने हॉस्पिटल में बैठ कर ही मरीजों के ब्लड प्रेशर, तापमान और धड़कन जैसे स्वास्थ पैरामीटर्स की जानकारी हॉस्पिटल में AI के मदद से हो सकती हैं। अगर किसी मरीज का घर पर ब्लड प्रेशर बढ़ जाये तो मरीज ने पहने हुए AI युक्त डिवाइस से डॉक्टर और एम्बुलेंस को मैसेज जाकर मरीज को समय पर उपचार मिल सकता हैं। ऐसा होने से कई लोगो की जान बच सकती हैं।

क्या आप जानते हैबुखार के क्या फायदा हैं ?

AI से हो सकती है सर्जरी

भारत जैसे डेस्कः में जहाँ जनसँख्या की तुलना कुशल डॉक्टर की संख्या बेहद कम है और डॉक्टर की कमी से रोगी को ऑपरेशन के लिए कई दिनों तक रुक्न पड़ता है वहां AI की मदद से रोबोटिक सर्जरी से क्रांतिकारी बदलाव आ सकते हैं। अगर सरकारी हॉस्पिटल में इनका आगे जाकर उपयोग किया जाये तो इससे मरीजों को काफी फायदा हो सकता हैं। यह बिना थके दिन रात काम कर सकते है और इनमे गलती होने की संभावना भी कम हैं।

AI कर सकता है पूर्वानुमानी विश्लेषण

AI की मदद से बड़े बड़े हॉस्पिटल में किस दवा की कमी है, मरीजों के डाटा का आकलन कर कौन से रोग बढ़ने की आशंका है और इस आकलन के हिसाब से क्या पूर्वतैयारी करनी चाहिए इसकी जानकारी मिल सकती है।

AI से होगा प्रशासनिक कामकाज सरल

चैटबॉट्स और AI की मदद से पेशेंट पूछताछ, अपॉइंटमेंट शेड्यूलिंग, और प्रशासनिक कार्य में आसानी हो सकती हैं, जिससे स्वास्थ्य देखभाल कर्मियों को पेशेंट देखभाल पर अधिक ध्यान देने के लिए समय मिलता है। AI-संचालित बिलिंग और कोडिंग सिस्टम त्रुटियों को कम कर सकते हैं, रियंबर्समेंट प्रक्रियाओं की गति बढ़ा सकते हैं, और चिकित्सा बिलिंग को सरल बना सकते हैं।

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस ने स्वास्थ्य सेवा में नई संभावनाएं खोल दी है। सटीक निदान से व्यक्तिगत उपचार, दवा खोज, रोबोट सहायित शल्यचिकित्सा और एआई से सम्बंधित और प्रशासनिक दक्षता तक, आईआई स्वास्थ्य क्षेत्र के हर पहलू में बदलने का वादा करता है। आनेवाला समय ही बताएगा की इनके अलावा AI से और क्या क्या बदलाव होते है और हमारा जीवन और कितना सरल हो सकता हैं।

5/5 - (1 vote)

Leave a comment

गर्मी में न करे यह 5 योग, हो सकता है नुकसान गर्मी से तंग हैं? इन 5 योग से पाएं राहत ब्लड डोनेशन के फायदे जिनसे आप अनजान हैं ! आँखों से चश्मा हटाने के लिए करे योग Dexona दवा लेनेवाले हो जाए सावधान