मधुमेह और दंतरोग |Diabetes and Dental problems

diabetes and dental problem in Hindi

मधुमेह (Diabetes) के रोगियों को अपने शरीर की समस्याओं पर ध्यान देने को विशेष जरुरत होती हैं। Diabetes के मरीज फिर चाहे वह Type 1 हो या Type 2 से पीड़ित हो, उन्हें मुख स्वास्थ्य (Oral Hygiene) के प्रति जागरूक होना बेहद जरुरी हैं। उनके लिए दातों की देखभाल करना उतना ही जरुरी है जितना की पैरों की देखभाल करना। एक स्वास्थ्य सर्वेक्षण में पाया गया है की कैंसर जनित और कैंसर पूर्व के अधिकांश रोगी मधुमेह से पीड़ित थे।

Diabetes का रोगी अगर अपने शरीर के ओर ध्यान नहीं देता हैं तो शरीर के सभी अंग जैसे की किडनी या आँखों की समस्या घेर लेती हैं। चूँकि Diabetes के रोगी की रोग प्रतिकार शक्ति / Immunity कमजोर हो जाती हैं इसलिए दातों पर भी इसका सीधा असर हो जाता हैं। उनके मुंह में ऐसा विशेष संक्रमण हो जाता हैं जिससे दांत और मसूड़े कमजोर हो जाते हैं।

क्या आप जानते हैं: Diabetes के रोगी अब ले सकते है Term Plan

डायबिटीज में दन्त रोग

जो Diabetes के रोगी नियमित जांच कराते है, पथ्य पालन के साथ समय पर अपनी दवा लेते हैं और मुख की अच्छे से साफ़-सफाई पर ध्यान देते हैं उन्हें मसूड़ों में रक्त संक्रमण नहीं होता हैं। पर ऐसे मरीज जिनका मधुमेह कण्ट्रोल नहीं हैं उन्हें मुख में निचे दी हुई समस्या हो सकती हैं :

  1. मसूड़ों मे दर्द और सूजन
  2. मसूड़ों से खून / मवाद (Pus) आना
  3. मुंह से बदबू आना
  4. दाँतों का हिलना
  5. लार (Saliva) की कमी
  6. मुंह सुख जाना
  7. सांस लेते समय विशेष प्रकार की बदबू (Acetonic odour) आना
  8. होटों का फटना

उपयोगी जानकारी: डायबिटीज मे कौन सा योग करना चाहिए | Yoga for Diabetes in Hindi

डायबिटीज मे दंतरोग से कैसे बचे ?

Diabetes के रोगी को ऐसी परेशानी से बचने के लिए और मुख दुर्गंधगी के कारण शर्मिंदगी के एहसास से बचने के लिए निचे दिए हुई उपाय योजना करना चाहिए :

  1. समय-समय पर दंत रोग विशेषज्ञ (Dentist) से दांतों की जांच, दांतों की अच्छे से सफाई, मसूड़ों का ईलाज, दंतक्षय का भराव आदि कराना चाहिए।
  2. दिन में दोबार ब्रश अवश्य करे।
  3. जीभ को नर्म ब्रश से साफ़ करना न भूले।
  4. नियमित रूप से माउथवाश का उपयोग करे।
  5. मसूड़ों की मालिश करे।
  6. दांतों के बीचे की सफाई डेंटल प्लास्क से करे।
  7. अपने मधुमेह / Diabetes को नियंत्रण में रखने के लिए समय-समय पर डॉक्टर से जांच कराते रहे और पथ्य पालन करे।

जरूर पढ़े: डायबिटीज की कौन सी दवा कब लेना चाहिए ?

मुख शरीर का द्वार हैं। मुंह, दांत और मसूड़ों में पनपने वाली बीमारियाँ शरीर के प्रमुख अंगो को Blood circulation के माध्यम से संक्रमित (Infected) कर सकती हैं। मुख के स्वास्थ्य की अनदेखी करने से Cancer / कर्करोग जैसी जानलेवा बीमारी भी घर कर सकती हैं। अपने मुख और परिणामतः अपने शरीर को सदृढ़ और स्वस्थ रखने के लिए Diabetes के रोगियों से हर संभव कोशिश करनी चाहिए।

Rate this post

Leave a comment

लिव 52 दवा के 5 गजब के फायदे हाई ब्लड प्रेशर के लिए 7 बेस्ट योग रोजाना 1 मिनिट भुजंगासन करने से क्या होता हैं ? वृक्षासन योग: आसन एक, फायदे अनेक ! योग निद्रा के फायदे