PCOD में क्या खाना चाहिए | PCOD diet in Hindi

pcod diet tips in Hindi

आजकल महिलाओं में PCOD रोग का प्रमाण बढ़ गया हैं। PCOD (Poly Cystic Ovarian Disease) रोग में महिलाओं को मासिक संबंधी समस्या निर्माण होती है और इस वजह से प्रजनन क्षमता भी कम हो जाती हैं।  पहले PCOD रोग 25 वर्ष से अधिक आयु के महिलाओं में ही पाया जाता था मगर अब बिगड़ी जीवनशैली, खान-पान की ख़राब आदतें, नशे का सेवन और मोटापे की वजह से यह रोग कम आयु के महिलाओं में भी पाया जा रहा हैं।

PCOD रोग के कारण, लक्षण और उपचार की पूरी जानकारी हम इस वेबसाइट पर पहले ही प्रकाशित कर चुके हैं। आज के इस लेख में हम आपको PCOD से पीड़ित महिलाओं ने PCOD रोग को काबू में करने के लिए उपचार के साथ-साथ अपने आहार में क्या शामिल करना चाहिए और क्या नहीं इसकी जानकारी देने जा रहे हैं।

PCOD में कैसा diet लेना चाहिए इसकी पूरी जानकारी नीचे दी गयी हैं :

PCOD रोग में क्या खाना चाहिए ? (PCOD diet tips in Hindi)

किसी भी रोग का उपचार करते समय जितना महत्व दवा का होता है उतना ही महत्व रोगी को क्या आहार या डाइट दिया जा रहा है उसका भी होता हैं। अगर आप रोगी को सही डाइट देते है तो रोगी को जल्द ठीक होने में मदद होती हैं। PCOD से पीड़ित महिलाओं अपनी डाइट में क्या लेना चाहिए इसकी जानकारी नीचे दी गयी हैं :

  1. सलाद (Salad) : सब्जियों में पौष्टिक तत्व अधिक होते है जी शरीर में केमिकल्स को संतुलित रखते हैं। Insulin प्रतिरोध PCOD का अहम् कारन है और इसे सलाद लेकर कम किया जा सकता हैं। आप सलाद में हरी पत्तेदार सब्जियां जैसे की पालक, मेथी, मूली, सरसों का साग, ब्रोकली, चुकंदर, मटर, आंवला आदि का समावेश कर सकते हैं। यह मोटापा और कब्ज की समस्या भी कम करने में सहायक हैं।
  2. टमाटर (Tomato) : टमाटर में विटामिन B complex, Phosphorus, Iron, Magnesium और विशेष तौर पर Lycopene तत्व भरपूर मात्रा में होता हैं। यह पाचन तंत्र को ठीक रखता है। सलाद के रूप में, सब्जी बनाकर या सुप बनाकर भी आप टमाटर का उपयोग कर सकते हैं।
  3. सूखा मेवा (Dry Fruits) : ड्राई फ्रूट्स हर व्यक्ति को जरूर खाना चाहिए। इसमें नेचुरल ऑइल हो जो शरीर को अंधरुनी ताकत देता है। बादाम, काजू, पिस्ता, अखरोट, किशमिश आदि सूखे मेवे में पाया जानेवाला ओमेगा 3 फैटी एसिड हॉर्मोन्स के स्त्राव को संतुलित करता हैं। रोजाना 4 से 5 बादाम, 1 से 2 अखरोट और कुछ किशमिश खाना सेहत के लिए बेहद फायदेमंद हैं।
  4. दही (Curd) : दही में कैल्शियम और पाचक enzyme होते है जो शरीर के लिए बेहद लाभकारी है। यह मूत्रमार्ग के संक्रमण से बचाव भी करता हैं। कैल्शियम से हॉर्मोन्स का स्त्राव भी ठीक रहता हैं।
  5. दालचीनी (Cinnamon) : विटामिन B Complex, Protein, Phosphorus से युक्त यह मसाला शरीर में इन्सुलिन लेवल को बढ़ाने से रोकता है और शरीर को मोटापे से भी बचाता हैं। PCOD में ज्यादातर रोगी को इन्सुलिन रेजिस्टेंस हो जाता है जिससे डायबिटीज होने का खतरा बढ़ जाता हैं। डाइट में दालचीनी का उपयोग जरूर करना चाहिए।
  6. पनीर (Paneer) : पनीर में प्रोटीन, विटामिन और कैल्शियम होता हैं। इसका नियमित सेवन करने से अंडाशय (Ovary) में बनने वाली गाँठ (cyst) धीरे-धीरे गलना शुरू हो जाती हैं। महिलाओं को इसका सेवन ज़रूर करना चाहिए।
  7. कम Glycemic Index वाला आहार : PCOD में शरीर में ज्यादा Insulin निर्माण होना ठीक नहीं रहता हैं। अगर आप अधिक Glycemic Index वाला आहार लेते है तो Insulin ज्यादा बनता है जिससे Diabetes होने का खतरा बढ़ जाता हैं। आपको आहार में कम Glycemic Index वाला आहार लेना चाहिए जैसे की जौ, पास्ता, मटर, दालें, फलिया, टमाटर, पालक, प्याज, गोभी, गाजर, भूरे चावल इत्यादि।

अवश्य पढ़े – थाइरोइड में कौन सा Yoga करना चाहिए ?

PCOD रोग में क्या नहीं खाना चाहिए ? (Food to avoid in PCOD)

PCOD में आपको नीचे दिए हुए आहार नहीं खाना चाहिए, जैसे की :

  1. Refined Carbohydrate खाद्य पदार्थ जैसे की केक, पेस्ट्री, सफ़ेद ब्रेड
  2. अधिक तले हुए खाद्य पदार्थ जैसे की समोसा, कचौड़ी, वड़ा पाँव
  3. फ़ास्ट फ़ूड जैसे की बर्गर, पिज़्ज़ा, फिंगर चिप्स इत्यादि
  4. कोल्ड ड्रिंक्स, शराब
  5. मांसाहार
  6. चाय, कॉफ़ी

PCOD Diet से जुड़े आपके सवालों के जवाब

क्या PCOD में चावल खा सकते हैं ?

हाँ, आप पीसीओडी में चावल खा सकते हैं, लेकिन सीमित मात्रा में। चावल एक जटिल कार्बोहाइड्रेट है जो फाइबर और पोषक तत्वों से भरपूर होता है। यह एक अच्छा ऊर्जा स्रोत भी है। हालांकि, चावल में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा अधिक होती है, इसलिए इसे सीमित मात्रा में खाना चाहिए। पीसीओडी रोगियों को प्रति दिन 1 कप चावल तक सीमित रहना चाहिए। अगर आपको मधुमेह या मोटापा है तो चावल नहीं खाना चाहिए।

क्या PCOD में दूध पी सकते हैं?

PCOD मे महिलाओं को सीमित मात्रा मे दूध का सेवन करना चाहिए। 1 कप से अधिक दूध का सेवन नहीं करना चाहिए। कुछ आहार विशेषज्ञ PCOD मे दूध पीने की सलाह नहीं देते है तो कुछ इसे सीमित मात्रा मे पीने की सलाह देते हैं। अगर आप दूध पीने के बारे में चिंतित हैं, तो अपने डॉक्टर या आहार विशेषज्ञ से बात करें।

PCOD मे कौन सा आटा बेहतर हैं?

PCOD के लिए, साबुत अनाज का आटा सबसे अच्छा विकल्प है। साबुत अनाज में फाइबर की मात्रा अधिक होती है, जो रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने में मदद करता है। यह इंसुलिन प्रतिरोध को भी कम करने में मदद कर सकता है, जो पीसीओएस के लक्षणों में से एक है।

PCOD में ऊपर बताये हुए डाइट प्लान के साथ-साथ आपको डॉक्टर ने बतायी हुई दवा समय पर लेना चाहिए। आयुर्वेदिक उपचार से 1 से 2 साल में PCOD ठीक किया जा सकता हैं। दवा के साथ अपने PCOD को कण्ट्रोल करने के लिए नियमित व्यायाम, वजन नियंत्रण, योगा और शुगर एवं कोलेस्ट्रॉल को भी नियंत्रण में रखना चाहिए।

अगर आपको यह PCOD में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं यह जानकारी उपयोगी लगती है तो कृपया इसे अपने PCOD रोग से पीड़ित मित्र के साथ शेयर ज़रूर करे। 

Leave a comment

क्या इडली सांबर है पौष्टिक आहार? पढ़े डॉक्टर्स की राय