स्वास्थ्य बीमा (Health Insurance) का महत्त्व

health insurance mediclaim kyo jarui hai Hindi

स्वास्थ्य बीमा (Health Insurance) जिसे हम Mediclaim Policy के नाम से भी जानते हैं, यह एक प्रकार का बीमा है जो आपके चिकित्सा खर्चो को कवर करता हैं। स्वास्थ्य बीमा (Health Insurance) के तहत आप हर वर्ष बहोत छोटी रकम (Premium) देकर अपने आपको तथा अपने परिवार को चिकित्सा खर्चो से सुरक्षा प्रदान कर सकते हैं।

स्वास्थ्य बीमा का क्या महत्त्व हैं और स्वास्थ्य बीमा क्यों लेना चाहिए इसकी अधिक जानकारी नीचे दी गयी हैं :

Mediclaim Policy लेना क्यों ज़रूरी है ?

एक डॉक्टर होने के नाते मैंने कई लोगो को सिर्फ स्वास्थ्य बीमा न होने के कारण ईलाज से वंचित और आर्थिक मुश्किलों का सामना करते देखा हैं। बीमारी कभी बोल कर नहीं आती हैं और आज के दौडभाग के युग में ह्रदय रोग (Heart Attack) और मधुमेह जैसी बीमारिया भी 25-30 वर्षो के व्यक्तिओ को अपने चपेट में ले रही हैं। ऐसे में जरुरी हैं की आप अपने आप को और अपने परिवार को किसी भी बिमारी की अच्छी से अच्छी चिकित्सा प्राप्त करने के लिए और चिकित्सा खर्च के आकस्मिक बोझ से बचने के लिए स्वास्थ्य बीमा (Health Insurance) सुविधा का उपयोग जरुर करे।

आजकल चिकित्सा का खर्च दिन बी दिन बढ़ते जा रहा हैं। चिकित्सा का आकस्मिक खर्च हमारे आर्थिक नियोजन को बहोत बड़ा झटका दे सकता हैं। मैं जब कभी अपने रोगियों को स्वास्थ्य बीमा (Health Insurance) न लेने का कारण पूछता हूँ तो उनका यह जवाब होता हैं की यह फिजूलखर्च है और उन्हें इतनी बड़ी बीमारी नहीं है जो यह सब लेने की जरुरत हैं। मेरा उन्हें यही जवाब होता हैं की, आप 60 हजार की मोटरसाइकिल के लिए हर वर्ष 1000 रूपए का बीमा निकाल सकते है पर अपने परिवार को स्वास्थ्य सुरक्षा प्रदान करने की बात को फिजूलखर्ची समझते हैं। प्रगत देशो में तो हर व्यक्ति का स्वास्थ्य बीमा अनिवार्य हैं। ऐसा भी नहीं हैं की आपको इसके लिए कोई बहोत ज्यादा खर्च करना होता हैं।

उदाहरण के तौर पर अगर किसी व्यक्ति की आयु 30 वर्ष है और उनके परिवार में उनकी बीबी और एक 3 साल का बच्चा है तो उन तीनो के लिए अगर वह 3 लाख का स्वास्थ्य बीमा (Health Insurance) लेता है तो उन्हें लगभग सालाना 6500 रूपए premium भरना पड़ सकता हैं। अगर उनके परिवार में कोई 4 साल में भी बीमार पड़ता है तो भी उनका हॉस्पिटल का बिल उनके इतने दिनों में भरे गए premium से ज्यादा ही होंगा।

जरूर पढ़े – Dry skin से छुटकारा पाने के घरेलु आसान उपाय

स्वास्थ्य बीमा और term plan यह दो चीजे है जो हर शादीशुदा और कमाई करने वाले व्यक्ति ने अपने परिवार को संपूर्ण सुरक्षा प्रदान करने के लिए जरुर लेना चाहिए। आर्थिक और स्वास्थ्य सुरक्षा के अतिरिक्त स्वास्थ्य बीमा के लिए भुगतान की हुई राशी के लिए आपको income tax छुट भी मिलती हैं।

क्या आप जानते हैं – चेहरा गोरा करने के घरेलु नुस्खे


स्वास्थ्य बीमा (Health Insurance) से जुडी निम्नलिखित महत्वपूर्ण बातो का ख्याल रखे :

  • स्वास्थ्य बीमा की सभी शर्तो को अच्छे से पढ़े।
  • स्वास्थ्य बीमा (Health Insurance) का फॉर्म स्वयं भरे। एजेंट आपकी गलत जानकारी भर सकते हैं।
  • स्वास्थ्य बीमा की कई अलग तरह की policy होती है। आप अपने आयु और परिवार को ध्यान में रखकर योग्य policy का चयन करे। एजेंट की सलाह लेने से अच्छा स्वयं online search करे और अलग-अलग policy के features का अभ्यास करे और इनके premium की तुलना कर अपने लिए योग्य पालिसी ख़रीदे।
  • जब आप कोई स्वास्थ्य बीमा (Health Insurance) policy खरीदते है प्रथम वर्ष में पहले महीने / 30 दिन तक किसी रोग की चिकित्सा का दावा कवर नहीं होता हैं पर इन दिनों में दुर्घटना या चोट का दावा कवर होता हैं।
  • एक परिवार के लिए कम से कम 3 लाख की Family Floater जैसे policy लेना जरुरी हैं।
  • स्वास्थ्य बीमा (Health Insurance) फॉर्म में संपूर्ण जानकारी भरे और कोई बीमारी के ईतिहास होने पर उसे छुपाए नहीं।
  • स्वास्थ्य बीमा (Health Insurance) जिनके लिए ले रहे हैं उनका स्वास्थ्य इतिहास, नाम, उम्र और जन्मतारीख फॉर्म के अन्दर सही दर्ज करे।
  • स्वास्थ्य बीमा (Health Insurance) में कौन से रोग का समावेश नहीं है अथवा कितने वर्षो के बाद बीमा में समावेश हो सकते है उसकी जानकारी प्राप्त करे। उदा : स्वास्थ्य बीमा के प्रथम दो वर्षो में हर्निया, हाइड्रोसिल, बवासीर और मोतियाबिंद जैसे कई रोगों का समावेश नहीं होता हैं।
  • अपने स्वास्थ्य बीमा (Health Insurance) का पहचान पत्र हमेशा साथ रखे।
  • अगर कभी हॉस्पिटल में चिकित्सा के लिए भर्ती होना पड़े तो तुरंत अपना स्वास्थ्य बीमा (Health Insurance) कार्ड और फोटो पहचान पत्र हॉस्पिटल के स्टाफ / डॉक्टर को दिखा देना चाहिए ताकि cashless की सुविधा होने पर आपको इसका लाभ मिल सके।
  • अगर हॉस्पिटल में Cashless की सुविधा नहीं होती है तो भर्ती होने के बाद 12 घंटे के अन्दर स्वास्थ्य बीमा (Health Insurance) कंपनी को कार्ड के पीछे दिए हुए Toll Free नंबर पर फोन कर अपने हॉस्पिटल में भर्ती होने की जानकारी देनी चाहिए। इससे आपको Hospitalization Claim Reimbursement में दिक्कत नहीं आती हैं।
  • स्वास्थ्य बीमा (Health Insurance) का दावा / claim करते समय भेजे गए सभी दस्तावेजो की xerox copy अपने पास रखनी चाहिए।
  • अगर आपको आपके स्वास्थ्य बीमा (Health Insurance) कंपनी से कोई शिकायत है या भुगतान में कोई तकलीफ आती है तो आप इसकी शिकायत / जानकारी complaints@irda.gov.in पर कर सकते है या 155255 पर फोन कर भी दे सकते हैं।
इस लेख के द्वारा मेरी कोशिश है की मैं सभी पाठको को स्वास्थ्य बीमा (Health Insurance) लेने के लिए प्रेरित कर सकू ताकि वो चिकित्सा के आकस्मिक खर्चो के परेशानी से बच सके और मुश्किल समय में सभी को अच्छे से अच्छा ईलाज मिलने में कोई दिक्कत न हो। आप से मेरी प्रार्थना है की इस खर्चे को फिजूलखर्ची समझने की जगह इसे अपनी जिम्मेदारी समझे !

पढ़े – देर रात खाना खाने के नुकसान

अगर आपको यह लेख उपयोगी लगता है और आप समझते है की यह लेख पढ़कर किसी के स्वास्थ्य को फायदा मिल सकता हैं तो कृपया इस लेख को निचे दिए गए बटन दबाकर Whatsapp, Facebook  या Tweeter account पर share करे !

2 thoughts on “स्वास्थ्य बीमा (Health Insurance) का महत्त्व”

  1. स्वास्थ्य बीमा और term plan यह दो चीजे है जो हर शादीशुदा और कमाई करने वाले व्यक्ति ने अपने परिवार को संपूर्ण सुरक्षा प्रदान करने के लिए जरुर लेना चाहिए। आर्थिक और स्वास्थ्य सुरक्षा के अतिरिक्त स्वास्थ्य बीमा के लिए भुगतान की हुई राशी के लिए आपको income tax छुट भी मिलती हैं। बहुत उपयोगी और सरल शब्दों में बेहतरीन जानकारी उपलब्ध कराई है आपने डॉक्टर परितोष जी

Leave a comment

अस्थमा अटैक से घबराते हैं? अब नहीं होगा अटैक, आजमाएं ये 9 योग ट्रिक