समय का महत्त्व – A short story in Hindi

hindi story on time managementकुछ महीनो पहले मै इस बात से परेशान था की मुझे अपने स्वास्थ्य ब्लॉग निरोगिकाया पर स्वास्थ्य संबंधी लेख लिखने के लिए पर्याप्त समय नहीं मिल रहा था। अपने चिकित्सा पेशे और दैनंदिन कार्यो की व्यस्तता के कारण कई दिनों तक मै एक भी लेख नहीं लिख पाया था।

अपने लिखने का शौक और लोगो को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करने के लिए बनाये इस ब्लॉग को रुका हुआ देखकर मुझे बहोत पीड़ा हो रही थी। ऐसे समय मुझे अपने Whatsapp पर एक छोटी से उपयोगी कहानी मिली जिसे पढ़कर मेरी सोच में बहोत बदलाव आ गया।

इस छोटी सी कहानी को आपके साथ साझा कर रहा हु ताकि अगर आप भी समय के व्यस्तता के कारण अपना कोई जरुरी काम न कर पा रहे हो या पाने परिवार को समय नहीं दे पा रहे हो तो यह कहानी आपको एक नयी जिंदगी जीने की प्रेरणा देंगी।

सोचिए अगर एक ऐसी बैंक हो जो हर रोज आपके खाते में रु 86,400 मुफ्त में जमा करे, आप चाहे जितने रूपए एक दिन में इसमें से इस्तेमाल कर सकते है, पर दिन के अंत में आपके खाते में एक रूपया भी नहीं रखा जाता है। फिर दुसरे दिन आपके खाते में रु 86,400 मुफ्त में जमा किये जाते है जो इस्तेमाल न किये जाने पर रात में अपने आप ख़त्म हो जाते हैं। ऐसी स्तिथि में आप क्या करेंगे ? मैं तो हर रोज यह सब रूपया बैंक से निकालकर इन सभी रुपयों का पूरा इस्तेमाल करना चाहूँगा । क्या पता, हो सकता हैं अगले दिन मुफ्त में इतने रूपए न मिले। शायद आप भी यही करने की सोच रहे होंगे।

आप यकीन नहीं करेंगे, हम सभी के पास ऐसा एक खाता उपलब्ध हैं। क्या आप इस बात को जानते हैं ? हम सब के पास ऐसा ही एक खाता हैं जिसमे जिंदगी हमें हर दिन 86,400 सेकंड मुफ्त में इस्तेमाल करने के लिए देती हैं। अगर हम इनका पूरा उपयोग नहीं करते है तो रात में यह सब अपने आप खत्म हो जाते है और दुसरे दिन फिर से हमें इतने ही सेकंड दुबारा उपयोग करने के लिए मिल जाते हैं। हमें पता भी नहीं चलता की हम जाने-अनजाने में फिजूल की बातो में कितना समय बर्बाद कर देते हैं। जिस दिन यह बात मेरे समझ में आयी, तब से मैंने समय की बर्बादी न करने का निश्चय किया है। समय का ठीक से नियोजन करने से अब मुझे हर रोज इतना समय मिलना शुरू हो गया है जिससे में स्वास्थ्य से संबंधित नए लेख लिख सकता हूँ और अपने इस शौक को पूरा भी कर सकता हूँ।

आप भी अपने जिंदगी में समय का सही नियोजन कर कई नए और उपयोगी कार्य कर सकते हैं और अपने परिवार को समय दे सकते हैं । फिजूल की बातो को प्राथमिकता देने की जगह हमें जरुरी चीजो को पहले करना चाहिए। आप आज टेक्नोलोजी का उपयोग कर बहोत सी चीजो में अपना समय बचा सकते हैं। मैंने भी इस ब्लॉग पर सामान्य व्यक्ति और रोगियों के लिए कई रोग संबंधी जानकारी दी है जिससे अब मुझे रोगी का परिक्षण करते समय, रोगी को पुरे रोग संबंधी जानकारी देनी की आवश्यकता नहीं पड़ती हैं। रोगी अब मेरे इस स्वास्थ्य ब्लॉग पर जाकर आराम से पुरे रोग संबंधी जानकारी प्राप्त कर लेता हैं।

किसी ने सही कहा हैं, Time is Money ! जिस तरह हम अपने पैसो की फिजूल खर्ची करने से बचते है उसी तरह हमें समय को भी बर्बाद नहीं करना चाहिए।

अगर आपको यह लेख उपयोगी लगता है और आप समझते है की यह लेख पढ़कर किसी के स्वास्थ्य को फायदा मिल सकता हैं तो कृपया इस लेख को निचे दिए गए बटन दबाकर Whatsapp, Facebook या Tweeter पर share करे !

Rate this post

2 thoughts on “समय का महत्त्व – A short story in Hindi”

  1. शुरुआत बहुत ही अच्छी है ! धीरे धीरे विषय पर आये हैं आप और विषय से समबन्धित बेहतर जानकारी उपलब्ध करायी है आप भी अपने जिंदगी में समय का सही नियोजन कर कई नए और उपयोगी कार्य कर सकते हैं और अपने परिवार को समय दे सकते हैं । फिजूल की बातो को प्राथमिकता देने की जगह हमें जरुरी चीजो को पहले करना चाहिए। आप आज टेक्नोलोजी का उपयोग कर बहोत सी चीजो में अपना समय बचा सकते हैं। समय प्रबंधन पर बेहतर पोस्ट कही जा सकती है आपकी

Leave a comment

गर्मी में न करे यह 5 योग, हो सकता है नुकसान गर्मी से तंग हैं? इन 5 योग से पाएं राहत ब्लड डोनेशन के फायदे जिनसे आप अनजान हैं ! आँखों से चश्मा हटाने के लिए करे योग Dexona दवा लेनेवाले हो जाए सावधान