पीलिया के रोगियों ने कैसा आहार लेना चाहिए ?

Hepatitis / पीलिया, एक ऐसा रोग हैं जिसका हमारे लिवर / Liver पर गंभीर परिणाम होता हैं। शरीर में आहार का पाचन होने के लिए और आहार से विषैले पदार्थ को शरीर से बाहर निकालने के महत्वपूर्ण कार्य के लिए, लिवर का स्वस्थ होना बेहद जरुरी होता हैं।

Hepatitis, यह रोग Hepatitis A, B, C, D या E वायरस के संक्रमण से होता हैं। इन सभी प्रकार के Hepatitis के लक्षण, उपचार और बचाव की जानकारी हमने पहले इस ब्लॉग पर दे रखी हैं। इन सभी की जानकारी आप यहाँ क्लिक कर पढ़ सकते हैं – Hepatitis / पीलिया के कारण, लक्षण और चिकित्सा

आज इस ब्लॉग में हम पीलिया के रोगियों से अपने लिवर को सुरक्षित रखने के लिए कैसे आहार लेना चाहिए इसकी जानकारी दे रहे हैं। पीलिया के रोगियों ने कैसा आहार लेना चाहिए इसकी जानकारी निचे दी गयी हैं :

पीलिया के रोगियों ने कैसा आहार लेना चाहिए ? (Diet Tips For Hepatitis Patients in Hindi)

piliya jaundice dict chart pdf in hindi

पीलिया में लिवर कमजोर हो जाता है इसलिए रोगियों ने अपने आहार के प्रति जागरूक रहना बेहद जरुरी होता हैं। आहार ऐसा होना चाहिए जो की लिवर आसानी से पाचन कर सके और जिसका अतिरिक्त भार लिवर पर न पड़े। पीलिया का मतलब यह भी नहीं है की रोगी ने बिलकुल ही साधारण आहार लेना चाहिए। ऐसे कई स्वादिष्ट और पोषक आहार है जिसे पीलिया के रोगी ले सकते हैं।

  1. साबुत अनाज / Whole Grain : पीलिया के रोगी के लिए साबुत अनाज का सेवन बेहद जरुरी होता हैं। साबुत अनाज में आप ओट, भूरे चावल, मका इतयादि ले सकते हैं। गेहू की चपाती, जई का आटा, गेहू का दलीया, भूरे चावल कार्बोहायड्रेट का बढ़िया स्त्रोत है जो पीलिया में दिया जा सकता हैं।
  2. फल / Fruits : रोजाना एक मौसमी फल आहार में जरूर ले। यह पाचन में आसान होते है और इनमे एंटी ऑक्सीडेंट अधिक मात्रा में होते है जो लिवर सेल को नुकसान होने से बचाते हैं। फ्रूट जूस पिने की जगह स्वच्छ और ताजे फल को खाना ज्यादा बेहतर विकल्प हैं। फल खाना हो तो खाना खाने के १ घंटा पहले या खाना खाने के 2 घंटे बाद खाना चाहिए।
  3. सब्जी / Vegetables : आहार में स्वच्छ और ताजी हरी पत्तेदार सब्जियों का समावेश होना जरुरी हैं। इनमे विटामिन्स और एंटी ऑक्सीडेंट्स होते है जिनसे रोग प्रतिकार शक्ति बढ़ती है और साथ ही लिवर सेल्स को सुरक्षा प्राप्त होती हैं। हरी सब्जियां पचन करने में भी आसान होती हैं।
  4. आयुर्वेद / Ayurveda 
  • आयुर्वेद के अनुसार सुबह शाम मूली का रस पिने से पीलिया जल्द ठीक हो जाता हैं।
  • टमाटर और आंवला में विटामिन सी अधिक होता हैं। इनका सुप पिने से पीलिया जल्द ठीक होता हैं।
  • सुबह उठने के बाद भूखे पेट तुलसी के स्वच्छ पत्ते खाने से लिवर की कार्यक्षमता बढ़ती हैं।
  • सुबह खाली पेट शहद निम्बू पानी पिने से पीलिया ठीक होने में मदद होती हैं।
  • गन्ने का रस पिने से पीलिया जल्द ठीक होता हैं। ख्याल रहे की रस ऐसे जगह से ख़रीदे जहा स्वच्छता का ख्याल रखा गया हो।
  • जौ का पानी और नारियल का पानी भी पीलिया में उपयोगी हैं।
  • जरूर पढ़े – पीलिया रोग से बचने के उपाय

पीलिया में कौन सा आहार नहीं लेना चाहिए ? (Foods to avoid in Hepatitis in Hindi)

जैसे की हमने ऊपर भी लिखा है की पीलिया में रोगी का लिवर कमजोर हो जाता है इसलिए जरुरी है की आप ऐसे में आप बड़ी सावधानी से आपके आहार पदार्थों का चयन करे। कुछ ऐसे आहार पदार्थ है जिनका पीलिया में सेवन करने से यह रोग अधिक बढ़ सकता है और लिवर हमेशा के लिए ख़राब भी हो सकता हैं।

  1. प्रसंस्कृत आहार / Processed Food : बाजार में मिलनेवाले तैयार प्रसंस्कृत आहार नहीं खाना चाहिए। यह पचने में भारी होते है और इनमे न के बराबर पोषक तत्व होते हैं। इनसे लिवर को अधिक नुक्सान पहुचता हैं।
  2. चीनी / Sugar : चीनी का प्रयोग कम करे। अधिक चीनी युक्त चाय, सोडा, कोल्ड ड्रिंक, जूस से परहेज करे। प्राकृतिक स्वीटनर का उपयोग भी न करे।
  3. नमक / Salt : नमक का प्रयोग कम करे। अधिक नमक वाली चीजे जैसे की अचार, पापड़, सॉस, चिप्स से परहेज करे।
  4. तेल / Oil : हाइड्रोजनेटेड आयल का उपयोग न करे। सैचुरेटेड और ट्रांस फैट से दुरी बनाये रखे। रस्ते पर मिलनेवाले अधिक तले हुए पदार्थ जैसे की कचोरी, समोसा, पानी पूरी, फाफड़ा या फ़ास्ट फ़ूड का सेवन न करे। अलसी तेल या जैतून के तेल का प्रयोग करे।
  5. अन्य सावधानी / Others : Hepatitis / पीलिया में निचे दी हुई अन्य सावधानी बरते। जैसे की –
  • शराब और धूम्रपान न करे।
  • एक साथ अधिक आहार खाने की जगह थोड़ा-थोड़ा आहार हर 3-4 घंटे से ले।
  • पर्याप्त मात्रा में शुद्ध पानी पिए। अशुद्ध या साधारण नाल का पानी नहीं पीना चाहिए।
  • बिना डॉक्टर की सलाह से कोई दवा न ले।
  • जरूर पढ़े – हेपेटाइटिस बी के कारण, लक्षण और उपचार

पीलिया वायरस से होनेवाला रोग होने के कारण इसमें आपकी रोग प्रतिकार शक्ति और पाचन प्रणाली ठीक होना बेहद जरुरी होता हैं। आहार में जरा सी चूक आपके लिवर को गंभीर क्षति पंहुचा सकती हैं। आपको पीलिया में अपने डॉक्टर या आहार विशेषज्ञ की सलाह से डाइट प्लान करना चाहिए।

अगर आपको यह लेख उपयोगी लगता है तो कृपया इस लेख को निचे दिए गए बटन दबाकर अपने Facebook, Whatsapp या Tweeter account पर share करे !

Rate this post

Leave a comment