मुंह की बदबू (Bad Breath) दूर करने के आयुर्वेदिक और घरेलु उपाय

बातचीत के दौरान हमें ऐसे कई लोग मिल जाते हैं जिनके मुंह से हमेशा बदबू आती रहती हैं। वे स्वयं भी यह बात जानते हैं और इस समस्या से परेशान भी रहते हैं। ऐसे लोग अकारण ही सामाजिक बहिष्कार के शिकार हो जाते हैं। यही नहीं, उनका निजी और पारिवारिक जीवन भी इस समस्या से प्रभावित हो जाता हैं। मुंह की बदबू को अंग्रेजी में Bad Breath या Halitois कहा जाता हैं।

मुंह से बदबू या सांस से दुर्गन्ध आना बीमारी नहीं, लापरवाही हैं। इसका कारण मुंह में दांतों के बिच खाद्य पदर्थों के अवशेष से जन्मे बैक्टेरिया, मसूड़े संबंधी रोग या दांतों का मैल होता हैं। मुंह व दांतों की सफाई करके इस तकलीफ से बचा जा सकता हैं। इस समय में कई सामान्य और आयुर्वेदिक घरेलु उपायों का प्रयोग किया जा सकता हैं।

मुंह की बदबू और सांस की दुर्गन्ध को भगाने के आयुर्वेदिक उपचार और घरेलु नुस्खों की जानकारी निचे दी गयी हैं :

मुंह की बदबू (Bad Breath) दूर करने के आयुर्वेदिक और घरेलु उपाय

munh ki badbu kaise dur kare

मुंह की बदबू दूर करने के सामान्य उपाय (Tips to cure Bad Breath in Hindi)

मुंह की बदबू को दूर करने के लिए निचे दिए हुए सामान्य उपाय का पालन करे :

  • दिन में दोबार ब्रश अवश्य करे। सुबह उठने के बाद और रात को सोने से पहले ब्रश अवश्य करे।
  • पानी की कमी न होने दे। पानी की कमी होने पर अक्सर मुंह की सफाई ठीक तरह से नहीं हो पाती है और दातों में खाद्य पदार्थ के फंसे रेशे सड़न का कारण बन बदबू फैलाते हैं।
  • खाना खाने के बाद दांत में खाद्य पदार्थ के अवशेष जमा न रहे इसलिए खाने के बाद कुल्ला अवश्य करे।
  • जीभ की भी रोज सफाई करे।
  • नकली दांत लगाए है तो उनकी सफाई रोज करे।
  • धूम्रपान और तम्बाखू सेवन न करे।
  • साल में एक बार डेंटिस्ट से अपने दाँतों की जांच अवश्य कराये।
  • एसिडिटी और कब्ज से बचे।
  • रोजाना नियमित समय पर भोजन करे।
  • शुगर ड्रिंक और तेज गंध वाले खाद्य पदार्थ से बचे।
  • बासी भोजन न करे।
  • प्याज व लहसुन जैसे खाद्य पदार्थ जिनमे अधिक सल्फर हैं उनका सेवन कम करे।
  • अंडे, मांस व मछली से परहेज करे।
  • ताजा फल-सब्जी ज्यादा खाये जो आसानी से पच जाते हैं।
  • पिपरमिंट की पत्तिया या ईलायची चबाये।

मुंह की बदबू दूर करने के आयुर्वेदिक घरेलु उपाय (Bad Breath Ayurveda and Home Remedies in Hindi)

मुंह की बदबू को दूर करने के लिए निचे दिए हुए आयुर्वेदिक घरेलु उपाय का पालन करे :

  • बेकिंग सोडा : यह मुंह का PH बैलेंस सुधार देता हैं। यहाँ PH का मतलब Potential of Hydrogen हैं। इसमें असंतुलन होने पर दांतों में कैविटी और मसूड़ों में की कमजोरी जैसी दिक्कते होने लगती हैं। इसके लिए बेकिंग सोडा से ब्रश करे या गुनगुने पानी में एक चमच्च सोडा घोलकर 5 से 10 मिनिट इससे कुल्ला करे। इससे मुंह की दुर्गन्ध दूर होंगी। लेकिन इसका प्रयोग ज्यादा न करे और अच्छी तरह से कुल्ला करे।
  • सौंफ : यह मुंह में बदबू पैदा करनेवाले बैक्टेरिया को मार देती हैं। सौंफ पाचन क्रिया दुरुस्त करती हैं जो मुंह में बदबू आने का बड़ा कारण हैं। इलायची, लौंग व दालचीनी के साथ सौंफ की चाय भी पि सकते हैं। भोजन के बाद सौंफ खाने से दुर्गन्ध नहीं आती।
  • दालचीनी :  इसमें सिनेमिक एसेंशियल ऑइल होता हैं जो लार में मौजूद बैक्टीरिया को मरता हैं। एक चमच्च पिसी हुई दालचीनी को 10 से 15 मिनिट उबाले। दिन में 2 से 3 बार इस घोल से कुल्ला करे। इस घोल को खुशबूदार बनाना चाहे तो ईलायची मिला लें।
  • तुलसी : एंटीबायोटिक गुणों से भरपूर तुलसी का पत्ता मुंह में मौजूद कीटाणुओं को नष्ट करता हैं। रोजाना कम से कम तुलसी के 5 पत्ते अवश्य चबाए।
  • निम्बू : निम्बू में मौजूद एसिड बैक्टीरिया की वृद्धि को रोकता हैं। गुनगुने पानी में एक चमच्च ताजा निम्बू का रस व थोड़ा नमक मिलाये। रात को सोने से पहले इस घोल से कुल्ला करे। दांत में सेंसिटिविटी की दिक्कत हो तो यह प्रयोग न करे।
  • अजवाइन : मुंह में दुर्गन्ध का एक कारण हैं सल्फर पैदा करनेवाले बैक्टीरिया। अजवाइन को चबाने से लार की मात्रा बढ़ती हैं जो बैक्टीरिया की वृद्धि को रोकती हैं। अजवाइन को चबाये या दो कप पानी में एक चमच्च पिसी हुई अजवाइन उबाले। घोल ठंडा होने पर माउथवाश की तरह इसका उपयोग करे।
  • मेथीदाना : मेथीदाना सांस से जुडी समस्या व बदबू को मिटाती हैं और लार की मात्रा को बढाती हैं जिससे दांत में कैविटी निर्माण करनेवाले बैक्टीरिया ख़त्म हो जाते हैं। आधा लीटर पानी में एक चमच्च मेथीदाना को धीमी आंच पर 15 से 20 मिनिट उबाले और इसे नियमित पिए।
  • कढीपत्ता : मुंह की दुर्गन्ध दूर करने के लिए कढ़ी पत्ता और अमरुद के पत्ते उपयोगी होते हैं। आयुर्वेद के अनुसार इन्हे मुंह की बदबू दूर करने के लिए सर्वोत्तम माना हैं। रोजाना दो-दो अमरुद और कढीपत्ता चबाना इस समस्या से राहत दिलाता हैं।
  • लौंग : लौंग में मौजूद एरोमैटिक ऑइल एंटी माइक्रोबियल और एंटी सेप्टिक होता हैं। भोजन के बाद 2 – 4 लौंग चबाना फायदेमंद होता हैं। दो कप उबलते पानी में 4 लौंग डालकर पानी ठंडा होने के बाद इसे पिए।
  • घरेलु माउथवॉश : आधा चमच्च दालचीनी पाउडर, एक निम्बू का रस और आधा चमच्च शहद को एक कप गुनगुने पानी में मिलाये। इस घोल को किसी बोतल में भरकर अच्छी तरह से हिला लें। ब्रश करने के बाद इस घोल से कुल्ला करे। इस माउथवॉश से मुंह की बदबू और सांस की दुर्गन्ध दूर होती हैं।

मुंह से बदबू आना या सांस की दुर्गन्ध आना यह दोनों तकलीफे किसी भी व्यक्ति को बेहद परेशान कर सकती हैं। आप ऊपर दिए हुए मुंह की बदबू और सांस की दुर्गन्ध को भगाने के उपचार और आयुर्वेदिक घरेलु नुस्खों को अपनाकर फिर से अपना खोया हुआ आत्मविश्वास को पा सकते है और सभी के साथ अच्छे से संवाद कर सकते हैं।

यह मुंह की बदबू और सांस की दुर्गन्ध को भगाने के उपचार और आयुर्वेदिक घरेलु नुस्खों की जानकारी हमें हमारे पाठक श्री विष्णुगुप्त सिंग ने अमरावती महाराष्ट्र से भेजी हैं। निरोगिकाया टीम और सभी पाठकों की ओर से उनका बहोत-बहोत धन्यवाद !
अगर आपको यह लेख उपयोगी लगता है तो कृपया इस लेख को निचे दिए गए बटन दबाकर अपने  Facebook, Whatsapp या Tweeter account पर share करे !
Keywords : munh ki badbu kaise dur kare, munh ki badbu ka ilaj, munh ki badbu ko kaise roke
Rate this post

Leave a comment

लिव 52 दवा के 5 गजब के फायदे हाई ब्लड प्रेशर के लिए 7 बेस्ट योग रोजाना 1 मिनिट भुजंगासन करने से क्या होता हैं ? वृक्षासन योग: आसन एक, फायदे अनेक ! योग निद्रा के फायदे