पुरुषों में प्रजनन क्षमता (Male infertility) में कमी के कारण

male infertility ke karan, lakshan aur ilaj in Hindi

आधुनिक युग की बिगड़ी हुई जीवनशैली और गलत खान-पान के तरीके जैसे कई कारणों से पहले की तुलना में पुरुषों के प्रजनन क्षमता  में कमी (Male Infertility) पायी जाती हैं। ऐसे कई पुरुष है जो प्रजनन क्षमता की कमी के कारण पुत्र (Child) सुख के सुख को प्राप्त नहीं कर पाते हैं। दुनिया में लगभग 15% युगल प्रजनन क्षमता में कमी की समस्या से पीड़ित हैं।

Male infertility के कारण लोगों को मानिसक तनाव और डिप्रेशन होने का खतरा होता हैं। शादी के कई साल बाद भी अगर बच्चा ना हो तो लोग कई तरह के सवाल उठाने लगते है जिससे पीड़ित व्यक्ति अन्य लोगों से मिलने से कतराते है और उनका आत्मविश्वास भी टूट जाता हैं।

खुशखबर – अब बालों का झड़ना रोकना है आसान !

पुरुषों में प्रजनन क्षमता में कमी के कारण की जानकारी निचे दी गयी हैं :

पुरुषों में प्रजनन क्षमता में कमी के कारण Male infertility causes in Hindi

  • चिकित्सीय कारण (Medical Causes) : पुरुषों में कुछ Medical कारणों के कारण प्रजनन क्षमता में कमी आ सकती हैं। इनमे से कुछ मुख्य कारणों की जानकारी निचे दी गयी हैं।
  1. सूजन (Varicocele) : अंडकोष में नस में सूजन के कारण पुरुषों में प्रजनन क्षमता कम हो जाती हैं। समय पर उपचार करने से यह ठीक हो सकता हैं।
  2. संक्रमण (Infection) : अंडकोष में संक्रमण, HIV और यौन रोग के कारण शुक्राणु की संख्या और गुणवत्ता में कमी के कारण प्रजनन क्षमता कम हो सकती हैं।
  3. अनवर्तीण अंडकोष (Undescended Testicle) : जन्मतः Testicle कुछ पुरुषों में पेट के अंदर ही रह जाते है और अवतीर्ण नहीं होने के कारण शुक्राणुओं की निर्मिति नहीं हो पाती हैं। ऑपरेशन द्वारा इस समस्या का निराकरण हो सकता हैं। अंडकोष या शुक्राणु वाहिका नस में जन्मजात दोष होने पर भी प्रजनन क्षमता कम हो जाती हैं।
  4. हॉर्मोन्स का असंतुलन (Hormonal Imbalance) : पुरुषों में Testosterone हॉर्मोन्स की कमी के कारण शुक्राणुओं की संख्या में कमी आ जाती हैं।
  • दवा (Medicine) : ऐसी कुछ दवा है जिनका अधिक उपयोग करने पर शुक्राणुओं की संख्या में कमी आ जाती है जैसे की Steroids, Chemotherapy, Anti-Fungal दवा, Testosterone विरोधी दवा इत्यादि।
  • रसायन (Chemicals) : Chemicals के सम्पर्क में आने से प्रजनन क्षमता में कमी आ जाती हैं। केमिकल युक्त आहार पदार्थ, रंग, lead, benzene, xylene जैसे केमिकल के संपर्क से बचना चाहिए।
  • आहार (Diet) : समतोल पौष्टिक आहार का अभाव और अधिक केमिकल युक्त फ़ास्ट फ़ूड के सेवन के कारण शरीर में शुक्राणुओं की निर्मिति में कमी आ सकती है। Vitamins के अभाव  शुक्राणुओं के motility में भी कमी आ जाती हैं।
  • विकिरण (Radiation) : अनावश्यक और अति क्ष-किरण / X-Ray के radiation का विपरीत परिणाम प्रजनन प्रणाली पर पड़ने से प्रजनन क्षमता में कमी आ जाती हैं। आजकल हर किसी के पास अपना मोबाइल फोन होता हैं। मोबाइल फोन के Radio Frequency Electro Magnetic Waves के अति विकिरण से भी प्रजनन क्षमता कमजोर पड़ती हैं। मोबाइल को हमेशा अपने प्रजनन अंगो से दूर ही रखना चाहिए। X-Ray के radiation के सम्पूर्ण दुष्परिणाम संबंधी जानकारी के लिए यह पढ़े – X-Ray radiation के दुष्परिणाम ! 
  • गर्मी (Heat) : शुक्राणुओं / Sperms की निर्मिति के लिए कम तापमान की आवश्यकता होती हैं। शरीर का तापमान गर्म रहता हैं और इसलिए शरीर की रचना इसप्रकार है की जन्म के बाद अंडकोष शरीर के बाहर testicular sac में आते हैं। अधिक गर्म और tight कपडे पहनना, लम्बे समय तक बैठे रहना, लैपटॉप लेकर बैठे रहना जैसे कारणों से अंडकोष का तापमान बढ़ जाता है और इसका विपरीत परिणाम प्रजनन क्षमता पर पड़ता हैं।
  • व्यसन (Habits) : धूम्रपान, शराब और तम्बाखू सेवन जैसे व्यसन करने से लिंग की नसे कमजोर हो जाती है और शुक्राणों की संख्या और गुणवत्ता में कमी आ जाती हैं।
  • उम्र (Age) : आजकल उची शिक्षा और अच्छे करिअर को पाने तक पुरुषों की उम्र बढ़ जाती हैं। इसके पश्च्यात भी कुछ युगल / Couples बच्चे की planning में देरी करते नजर आते हैं। डॉक्टरों का कहना है की पुरुषों में शुक्राणुओं की संख्या और उनके गुणवत्ता में उम्र के साथ-साथ कमी आ जाती हैं।
  • मोटापा (Obesity) : शारीरिक फिटनेस पर ध्यान न देने के कारण मोटापा और पौष्टिक भोजन न करने पर बाप बनने में बड़ी अड़चन पैदा होती हैं। सामान्य वजन वाली पुरुषों की तुलना में मोटापा से पीड़ित पुरुषों की प्रजनन क्षमता लगभग 20% कम रहती हैं। सामान्य से ज्यादा वजन या कम वजन होने से हॉर्मोन्स में असंतुलन हो जाता हैं और शुक्राणु निर्मिति में दिक्कत आती हैं। प्रजनन क्षमता को सामान्य रखने के लिए वजन को नियंत्रित रखना बेहद जरुरी हैं।
    1. अगर आप मोटापे से पीड़ित है तो मोटापा कम करने के उपाय जानने के लिए यह पढ़े – मोटापा कम करने के आसान उपाय !
    2. अगर आपका वजन कम हैं और आप दुर्बल है तो वजन सामान्य करने के लिए यह पढ़े – वजन बढ़ाने के उपाय !
  • तनाव (Stress) : अत्याधिक तनाव और चिंता में रहने के कारण भी प्रजनन क्षमता में कमी आ सकती हैं। मानसिक तनाव से बचने के लिए आपको योग और Meditation का सहारा लेना चाहिए।
यहाँ पर केवल पुरुषों में प्रजनन क्षमता की कमी के कुछ मुख्य कारणों की जानकारी दी गयी है। अधिक जानकारी और उपचार के लिए डॉक्टर की सलाह अवश्य लेना चाहिए। महिलाओं में प्रजनन क्षमता में कमी के कारण जानने के लिए यह पढ़े – महिलाओं में प्रजनन क्षमता में कमी के कारण

अगर आपको यह Male infertility causes in Hindi लेख उपयोगी लगता है और आप समझते है की यह लेख पढ़कर किसी के स्वास्थ्य को फायदा मिल सकता हैं तो कृपया इस लेख को निचे दिए गए बटन दबाकर अपने  Facebook, Whatsapp या Tweeter account पर share जरुर करे !

Rate this post

5 thoughts on “पुरुषों में प्रजनन क्षमता (Male infertility) में कमी के कारण”

Leave a comment